स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

डॉक्टर से कहा परिजनों को भेज देना शव, टायलेट में लगा ली फांसी...

Mukesh Tiwari

Publish: Sep 18, 2019 12:22 PM | Updated: Sep 18, 2019 12:22 PM

Katni

हरियाणा पानीपत का युवक जिला अस्पताल में हुआ भर्ती, ट्रामा सेंटर के महिला सर्जिकल वार्ड के टॉयलेट में लगाई फांसी

कटनी. जिला अस्पताल के ट्रामा सेंटर महिला सर्जिकल वार्ड में मंगलवार की दोपहर टायलेट में एक युवक ने फांसी लगा ली। युवक को फांसी में लटका देख अफरा तफरी मच गई। अस्पताल स्टॉफ ने कोतवाली पुलिस को सूचना दी। जानकारी के अनुसार पानीपत हरियाणा निवासी बलवंत पिता रुपवान नेगी 50 वर्ष सोमवार की शाम खुद से जिला अस्पताल में भर्ती हुआ था। उसने सफर के दौरान दुर्घटना में घायल होने की बात बताई थी। और उसे सर्जिकल वार्ड में भर्ती कराया गया। मंगलवार की सुबह राउंड पर आए डॉक्टरों से युवक ने कहा कि उसकी मौत होती है तो शव परिजनों को भिजवा दिया जाए। इधर दोपहर 2 बजे के लगभग महिला सर्जिकल वार्ड में भर्ती मरीज टायलेट में गए तो शौचालय में बलवंत फांसी के फंदे पर लटका मिला। मरीज ने गमछे के सहारे वेंटीलेटर से फंदा लगाकर आत्महत्या की थी। घटना की जानकारी लगते ही अस्पताल में अफरा तफरी मच गई और वार्ड के बाहर भीड़ लग गई। स्टॉफ ने मामले की जानकारी कोतवाली पुलिस को दी। मौके पर थाना प्रभारी वीके विश्वकर्मा बल के साथ पहुंचे और स्थल का निरीक्षण कर पंचनामा कार्रवाई कराते हुए शव को पीएम के लिए भेजा गया। मरीज पुरुष सर्जिकल वार्ड से महिला वार्ड के टायलेट तक कैसे पहुंच गया, इसकी भी जानकारी स्टाफ से जुटाई जा रही है। मंगलवार की सुबह युवक द्वारा डॉक्टरों से कही गई बात के आधार पर कहा जा रहा है कि उसने पहले ही आत्महत्या मन बना लिया था। अंदाजा यह भी लगाया जा रहा है कि ट्रेन में भी उसने आत्महत्या की कोशिश की होगी, तभी घायल होने के बाद इलाज के लिए अस्पताल पहुंचा था।

बच्चों को बताया प्लास्टिक से पर्यावरण को कैसे होता है नुकसान...

सी केबिन के पास ट्रेन से गिरा था मृतक
मामले में मृतक के घायल होने के संबंध में देर शाम जानकारी जुटाई गई। जिसमें सामने आया कि बलवंत एनकेजे सी केबिन के पास किसी ट्रेन से गिरकर घायल हुआ था। आरपीएफ टीआइ एनकेजे सुनीता जाट ने बताया कि उसे एएसआइ डीपी यादव ने रेलवे अस्पताल में भर्ती कराया था, जहां पर प्राथमिक उपचार के बाद उसे जिला अस्पताल रेफर कर दिया गया था। वहीं जिला अस्पताल की पर्ची में स्वयं भर्ती होना दर्शाया गया है।

इनका कहना है...
मृतक रेल दुर्घटना में घायल होने की बात कहकर जिला अस्पताल में भर्ती हुआ था। दोपहर को उसके टायलेट में फांसी लगाने की सूचना मिली थी। वह कहां से कहां जा रहा था और किस दुर्घटना का शिकार हुआ यह स्पष्ट नही हैं। मामले में मर्ग कायम कर विवेचना की जा रही है।
वीके विश्वकर्मा, थाना प्रभारी कोतवाली