स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

जिले की सड़कों पर फर्जी नंबर से दौड़ रही चोरी की मोटर साइकिल, जानिए कैसे हुआ खुलासा

Dharmendra Pandey

Publish: Aug 21, 2019 11:29 AM | Updated: Aug 21, 2019 11:29 AM

Katni

यातायात पुलिस के उड़े होश

कटनी. जिले की सड़कों पर फर्जी नंंबर से चोरी की मोटर साइकिलें दौड़ रही है। शहर में वाहन चलाने के दौरान यातायात नियम तोडऩे वाले वाहन चालकों के घर पर जब यातायात पुलिस इ-चालान लेकर पहुंची तो पता चला कि संबंधित व्यक्ति के पास उक्त मॉडल का वाहन नहीं है, और तब खुलासा हुआ कि शहर में चोरी के वाहन फर्जी नंबर से दौड़ रहे हंै। ट्रैफिक पुलिस के पास करीब चार ऐसे दो पहिया वाहन मिले है, जिसका नंबर कुछ और था और घर पहुंचने पर वाहन का मॉडल कुछ और निकला। अब पुलिस वाहनों की विधिवत जांच करने के साथ ही कैमरे से जानकारी जुटा रही है।
घर पहुंची पुलिस तो पता चला वाहन किसी और का था
3 अगस्त को चाका कटनी निवासी दामोदर प्रसाद चौधरी का वाहन क्रमांक एमपी 21 एमएन 1197 पर दो युवक बिना हेलमेट वाहन में सवार होकर जा रहे थे। चौराहे पर लगे कैमरे में फोटो कैद होने के बाद ट्रैफिक पुलिस ने 250 रुपये का इ-चालान भेजा। सात दिन के भीतर वाहन मालिक ने चालान की राशि जमा नहीं किया तो ट्रैफिक पुलिसकर्मी इ-चालान लेकर वाहन मालिक के घर पहुंची। वहां पता चला कि उक्त नंबर की बाइक दामोदर के पास नहीं है। तब पता चला कि शहर में चोरी के वाहनों पर कोई भी नंबर का उपयोग कर लिया जा रहा है। इसी तरह से तीन सवारी बिठाकर व सिग्नल तोड़कर चलने वाले तीन और वाहन चालकों के घर इ-चालान पहुंचने पर फर्जी नंबर से वाहन चलाने का मामला सामने आया।

-जिले में वाहन चलाते समय कम लोग ही ट्रैफिक नियमों का पालन कर रहे हैं। यातायात नियमों का लोग कड़ाई के साथ पालन करें इसके लिए जिले के पुलिस अमले द्वारा अभियान चलाकर कार्रवाई की जा रही है। चौराहों पर लगे कैमरे के माध्यम से सिंग्नल तोडऩे वाले, तीन सवारी व हेलमेट नहीं लगाने वालों पर मोटर साइकिल में लिखे नंबर के आधार पर 250 रुपये का इ-चालान भेजने पर पता चला कि शहर में वाहनों पर फर्जी नंबर का उपयोग किया जा रहा है।
ललित शाक्यवार एसपी