स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

अब फीडर स्तर पर सोशल मीडिया ग्रुप से मिलेगी बिजली की जानकारी...

Mukesh Tiwari

Publish: Sep 19, 2019 12:09 PM | Updated: Sep 19, 2019 12:10 PM

Katni

बिजली विभाग ने शुरू की तैयारी, शहर व ग्रामीण संभाग के बाद फीडरों में सूचना का आदान प्रदान करने किया जा रहा प्रयोग

कटनी. बिजली विभाग अब फीडर स्तर पर सोशल मीडिया ग्रुप तैयार कर उससे स्थानीय जनप्रतिनिधियों, अधिकारियों को जोड़ेगा। ग्रुप के माध्यम से बिजली से जुड़ी समस्या और सप्लाई बंद होने की सूचना का आदान प्रदान किया जाएगा। उपभोक्ताओं तक आसानी से विभाग की सूचना पहुंच सके और समस्याएं विभाग को मिलें, इसको लेकर नया प्रयोग बिजली विभाग द्वारा किया जा रहा है। जिले के प्रभारी व ऊर्जा मंत्री प्रियव्रत सिंह के निर्देश पर विभाग ने शहरी संभाग और ग्रामीण संभाग के सोशल मीडिया ग्रुप बनाए थे। जिसमेंं स्थानीय जनप्रतिनिधि, अधिकारी, गणमान्य नागरिक व मीडिया से जुड़े लोगों को जोड़ा गया था। विद्युत सप्लाई में व्यवधान आने या विभाग द्वारा सुधार आदि के लिए काम करने के दौरान ग्रुप में सूचना भेजी जाती है तो मेंटीनेंस आदि की जानकारी भी पहले से ही लोगों तक पहुंचती है। सोशल मीडिया का प्रयोग शहर व ग्रामीण संभाग में सफल होने के बाद अब उसे जिले के 21 बिजली फीडरों में लागू करने की तैयारी शुरू की गई है।

डॉक्टर से कहा परिजनों को भेज देना शव, टायलेट में लगा ली फांसी...

इनको करेंगे ग्रुप में शामिल
विभाग द्वारा फीडर के अंतर्गत आने वाली ग्राम पंचायतों के सरपंच, सचिव के साथ क्षेत्र के जनपद व जिला पंचायत सदस्य को सोशल मीडिया ग्रुप में शामिल किया जाएगा। इसके अलावा क्षेत्र के पांच समाजसेवी या गणमान्य नागरिक भी शामिल रहेंगे। फीडर के एइ या जेइ को उसमें शामिल रहेंगे और वे बिजली के बंद होने का कारण या जनप्रतिनिधियों, कर्मचारियों द्वारा समस्या बताने पर उनका निराकरण तत्काल कराएंगे।
इनका कहना है...
शहर व ग्रामीण संभाग में सोशल मीडिया ग्रुप के कारण सप्लाई बाधित होने पर तत्काल सूचना मिल जाती है और अधिकारी भी सप्लाई बंद रहने की सूचना सभी तक भेज पाते हैं। इसके चलते अब इस जिले के सभी 21 फीडरों में लागू किया जा रहा है। फीडर स्तर के ग्रुप बनाने के निर्देश संबंधित अधिकारियों को दिए गए हैं।
एलपी खटीक, अधीक्षण अभियंता मप्र पूर्व क्षेत्र विद्युत वितरण कंपनी