स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

religious news : संतान की लंबी उम्र व खुशहाली के लिए माताएं रखेंगी ये व्रत

Sudhir Shrivas

Publish: Aug 19, 2019 18:45 PM | Updated: Aug 19, 2019 18:45 PM

Katni

हरे बांस से बनी चीजों का होगा पूजन
बाजार में सजी दुकानें, हो रही खरीदी
बुधवार को मनाया जाएगा ये पर्व

कटनी। संतान की लंबी उम्र और उसकी खुशहाली के लिए माताएं 21 अगस्त को हलषष्ठी का व्रत रखेंगी। हलषष्ठी पर दिनभर व्रत रखकर गौधूली बेला में कुश-पलाश, जरिया के मंडम के नीचे हलषष्ठी का पूजन कर आशीर्वाद प्राप्त करेंगी।

श्रीकृष्ण के बड़े भाई बलदाऊ की पूजा होगी

इस दिन भगवान श्रीकृष्ण के बड़े भाई बलदाऊ की पूजा होगी। हल से जुती हुई अनाज व सब्जियों का इस्तेमाल नहीं होगा। महिलाएं महुआ, पसई के चावल, महुआ के फल के तेल का उपयोग पकवान तैयार करेंगे। पं. गणेश द्विेवदी ने बताया कि संतान की लंबी आयु के लिए विशेष महत्व रखता है। हलषष्ठी के त्योहार को लेकर बाजार में चहल-पहल दिखने लगी है।

बांस के बने बर्तनों के पूजन का विशेष महत्व

शहर के मुख्य मार्ग, सुभाष चौक, गोलबाजार सहित अन्य स्थानों पर व्रत एवं पूजन सामग्री का विक्रय होने लगा है। बांस के बने बर्तनों के पूजन का विशेष महत्व है। इसको लेकर के जगह-जगह पर दुकानें सजी हुई हैं। वहीं, पसई के चावल, महुआ के फूल, भुजवाड़ा, दिया-डबुलिया, श्रंगार सहित अन्य सामग्री की बिकवाली हो रही है। महिलाएं व्रत पूजन को लेकर तैयारी में जुटी हुई हैं।

फूले कांस का बेर के पौधे के साथ करेंगी पूजन

इस व्रत के दौरान माताएं दोपहर बाद फूली हुई कांस में बेर के कांटे व पत्तियों को लपेट कर उसके सामने बैठकर पूजन करेंगी। इस दौरान बांस से बनी टोकरी या अन्य बर्तनों को पूज कर वंश वृद्धि की कामना करेंगी। साथ ही अपनी संतानों की दीर्घायु और खुशहाली मांगेंगी।