स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

सीएमओ ने जून का रोका भुगतान, 3 माह तक निकल सकता है वेतन पर मांगा मार्गदर्शन

Dharmendra Pandey

Publish: Jul 20, 2019 11:14 AM | Updated: Jul 20, 2019 11:14 AM

Katni

-ज्वाइन डायरेक्टर के आदेश पर निकल रहा था वेतन, शहपुरा में नौकरी के दौरान
-नगर परिषद कैमोर 1 लाख 25 हजार रुपये के लगभग कर चुका है समुद्रें को भुगतान

 

कटनी. जबलपुर के शहपुरा नगर परिषद में पिछले पांच माह से अधिक समय से बतौर सीएमओ कार्य कर रहे संजय समुदे्र का नगर परिषद कैमोर से वेतन निकालने का निर्देश नगरीय प्रशासन विभाग के ज्वाइन डायरेक्टर सत्येंद्र सिंह ने दिया था। सूत्रों की मानें तो शहपुरा नगर परिषद में कार्यरत होने पर समुद्रें को नगर परिषद कैमोर द्वारा करीब 1 लाख 25 हजार रुपये का वेतन भुगतान किया जा चुका है। इधर, खबर प्रकाशित होने के बाद नगर परिषद में हड़कंप मच गया। आनन फानन में नगर परिषद कैमोर की सीएमओ स्नेहा मिश्रा जून माह के वेतन भुगतान की फाइल रोक दी है। साथ ही तीन माह तक वेतन दूसरे परिषद से दिया जा सकता है शहरी अभिकरण अधिकारी से मार्गदर्शन मांगा है। उल्लेखनीय है कि नगर परिषद कैमोर में फरवरी माह में दो-दो सीएमओ पदस्थ हो गए थे। इसके बाद एक सीएमओ ने कोर्ट से ला लिया था। तबादले पर आए उप निरीक्षक समुद्रें को नगरीय प्रशासन विभाग ने मार्च माह से शहपुरा नगर परिषद में बतौर सीएमओ अटैचमेंट कर दिया। अटैचमेंट को लेकर बड़ा सवाल यह खड़ा हो रहा है कि जिले में बरही, विजयराघवगढ़ व नगर निगम कटनी में क्यों नहीं किया गया। जबकि समुदे्र की मूल पदस्थापना नगर निगम में उपनिरीक्षक की है।

अजब सरकार के अफसरों का गजब कारनामा, जानने के लिए पढि़ए खबर https://www.patrika.com/katni-news/kaimor-se-nikal-raha-vetan-4857862/

54 कर्मचारियों को पैसे की कमीं बताकर निकाला था
साल 2016 में नगर परिषद कैमोर में काम रहे 54 कर्मचारियों को बाहर का रास्ता दिया गया था और उन्हें नगर परिषद की वित्तीय स्थिति खराब होने को कारण बताया गया था। इसके बाद अब वहीं नगर परिषद कैमोर शहपुरा में पदस्थ सीएमओ को हर माह वेतन को भुगतान कर रहीं है।

-शहपुरा नगर परिषद में कार्यरत संजय समुदे्र का वेतन ज्वाइन डायरेक्टर के निर्देश पर निकल रहा है। मेरे द्वारा जानकारी दी गई थी। कलेक्टर व नगरीय प्रशासन विभाग के अधिकारियों को ही निर्णय लेना है।
गणेश राव, अध्यक्ष नगर परिषद कैमोर।


-जो अधिकारी जहां पर पदस्थ होता हैं उसका वेतन वहीं से निकलता है। कैमोर में दो सीएमओ हो गए थे। प्रशासनिक व्यवस्था के तहत उन्हें शहपुरा अटैचमेंट किया गया है। वेतन को लेकर दिखवाता हूं।
सत्येंद्र सिंह, ज्वाइन डायरेक्टर नगरीय प्रशासन विभाग जबलपुर।