स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

'शहर सरकार आपके द्वार' की हकीकत: ढाई सौ के पार हुईं शिकायतें, 10 फीसदी का भी नहीं समाधान

Balmeek Pandey

Publish: Oct 19, 2019 11:47 AM | Updated: Oct 19, 2019 11:47 AM

Katni

लोगों की समस्या का तत्काल समाधान, शुल्क जमा कराने सहित इ-नगर पालिका को लेेेकर जागरुक करने राष्ट्रपिता महात्मा गांधी की 150 जन्मजयंती 2 अक्टूबर से 'शहर सरकार आपके द्वार' शिविरों का आयोजन किया जा रहा है। अबतक 43 वार्डों में शिविर का आयोजन किया जा चुका है। प्रारंभिक दौर से ही नगर निगम द्वारा आयोजित शिविर अव्यवस्था की भेंट चढ़े रहे हैं।

कटनी. लोगों की समस्या का तत्काल समाधान, शुल्क जमा कराने सहित इ-नगर पालिका को लेेेकर जागरुक करने राष्ट्रपिता महात्मा गांधी की 150 जन्मजयंती 2 अक्टूबर से 'शहर सरकार आपके द्वार' शिविरों का आयोजन किया जा रहा है। (shahar sarkar aapke dwar) अबतक 43 वार्डों में शिविर का आयोजन किया जा चुका है। प्रारंभिक दौर से ही नगर निगम द्वारा आयोजित शिविर अव्यवस्था की भेंट चढ़े रहे हैं। कभी अधिकारियों का न पहुंचना तो कभी देरी से पहुंचना। (nagar nigam katni) कभी सिस्टम काम न करना तो कभी सर्वर। हैरानी की बात तो यह है कि अबतक के शिविर में लोगों की जो समस्याएं आई हैं उनका 10 फीसदी भी समाधान नहीं हुआ। नगर निगम के पोर्टल में 255 शिकायतें पहुंच गई हैं। शहर सरकार आपके द्वार शिविर में लोगों ने छोटी-छोटी समस्याएं बताईं, लेकिन उनका भी समाधान नहीं कराया जा सका। शिविरों में सिर्फ रस्म अदायगी हो रही है। अधिकारी सिर्फ कर वसूली तक ही सीमित हैं, लोगों की समस्या से कोई सरोकार नहीं है। समस्या को लेकर पार्षद लक्ष्मीबाई कोल ने भी आयुक्त आरपी सिंह के पास आपत्ति दर्ज कराई है कि लगातार मांग के बाद भी समस्या का समाधान नहीं कराया जा रहा।

 

MP के इस जिले में कलेक्टर-सीइओ की खास पहल, पंचायत में चार दिन बैठेगी 'गांव सरकार', हर समस्या का होगा समाधान

 

छुटपुट शिकायतें का नहीं समाधान
हैरानी की बात तो यह है शिविर में छुटपुट शिकायतों का भी समाधान नहीं हो पा रहा। अबतक के शिविर में अधिकांश शिकायतें वार्ड में प्रकाश व्यवस्था, सफाई व्यवस्था, नाले की सफाई, नाली निर्माण, सड़क के गड्ढे भरवाना आदि शामिल है, इसके बाद भी नगर निगम के अधिकारी ध्यान नहीं दे रहे। जबकि आयुक्त से लेकर उपायुक्त और निगम के अधिकारी शिविर में पहुंच रहे हैं और समस्या समाधान का दावा कर रहे हैं।

 

महिला बाल विकास विभाग व जिला पंचायत की पहल: वॉशबेसिन के साथ जिले में बनेंगे 266 बाल टॉयलेट

 

इनका कहना है
शहर सरकार आपके द्वार में शिकायतों का तत्काल निराकरण करना है। कोई गंभीर समस्या तभी उसे आगे बढ़ाना है। जितनी भी शिकायतें हैं, उनका तत्काल समाधान हो इस पर पहल की जाएगी।
आरपी सिंह, आयुक्त नगर निगम।

मेरे द्वारा नगर निगम आयुक्त को सख्त निर्देश दिए गए हैं कि लोगों की समस्या का निराकरण करें, ताकि लोगों को शिविर का लाभ मिल सके। इसके बाद भी यदि लापरवाही की जा रही है तो मामले को दिखवाएंगे।
शशिभूषण सिंह, कलेक्टर।