स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

VIDEO: तिलक कॉलेज पहुंचे जिला पंचायत मुख्य कार्यपालन अधिकारी, बच्चों को पढ़ाया, सोशल मीडिया को लेकर कही बड़ी बात

Balmeek Pandey

Publish: Sep 22, 2019 21:30 PM | Updated: Sep 22, 2019 21:30 PM

Katni

जिला पंचायत मुख्य कार्यपालन अधिकारी जगदीशचंद्र गोमे शनिवार को शासकीय तिलक स्नातक एवं स्नातकोत्तर महाविद्यालय पहुंचे। यहां पर उन्होंने प्राचार्य डॉ. एसके खरे से कॉलेज की व्यवस्था संबंधी जानकारी ली। इसके बाद कालेज परिसर का निरीक्षण किया। निरीक्षण के बाद वह सीधे बच्चों की क्लास में पहुंचे और लगभग 1 घंटे तक बच्चों को पढ़ाया।

कटनी. जिला पंचायत मुख्य कार्यपालन अधिकारी जगदीशचंद्र गोमे शनिवार को शासकीय तिलक स्नातक एवं स्नातकोत्तर महाविद्यालय पहुंचे। यहां पर उन्होंने प्राचार्य डॉ. एसके खरे से कॉलेज की व्यवस्था संबंधी जानकारी ली। इसके बाद कालेज परिसर का निरीक्षण किया। निरीक्षण के बाद वह सीधे बच्चों की क्लास में पहुंचे और लगभग 1 घंटे तक बच्चों को पढ़ाया। इस दौरान उन्होंने विद्यार्थियों को सोशल मीडिया के बढ़ते दुष्परिणाम के बारे में बताया और उस से सावधानी रखने की अपील की। इस दौरान जिला पंचायत सीईओ ने कहा कि सोशल मीडिया जितना सदुपयोग है उससे कहीं उसके दुष्परिणाम भी अधिक हैं। जब हम पढ़ाई के लिए अपने प्रोफेसर, पेरेंट्स से संपर्क के लिए उपयोग करते हैं तो वह हमारे लिए सदुपयोग हो जाता है। अपने फ्रेंड सर्किल में नोट सहित अन्य जानकारी के लिए उसका उपयोग करते हैं तो वह हमारे लिए सही होता है।

 

उत्कृष्ट विद्यालय बड़वारा व केंद्रीय विद्यालय ओएफके लिए जारी हुए 24 लाख रुपये, बनेंगी 'अटल टिंकरिंग लैब', होगी वैज्ञानिकों की खोज

 

बताए दुष्परिणाम
वहीं यदि किसी व्यक्ति द्वारा उसमें गंदे कमेंट कर दिए जाएं, किसी को अपमानित कर दिया जाए या फिर गलत चीजें सोशल मीडिया में पोस्ट कर दिया जाए तो वह किसी की जिंदगी से खिलवाड़ हो जाता है और वह जीवन के लिए बड़ा ही दुखदाई हो जाता है। इसलिए हमें कोशिश करनी चाहिए कि सोशल मीडिया के दुष्परिणाम से बचें। इस दौरान विद्यार्थियों को कड़ी मेहनत कर अच्छी शिक्षा प्राप्त करते हुए देश के विभिन्न क्षेत्रों में जाकर बेहतर काम करते हुए अपने घर, परिवार, गांव, समाज, जिला प्रदेश और देश का नाम रोशन करने की अपील की। इस मौके पर प्राचार्य डॉ. एसके खरे, डॉ. चित्रा प्रभात, प्रोफेसर एसबी भारद्वाज, रुकमणी प्रताप सिंह, माधुरी गर्ग, आनंद पांडे जिला समन्वयक सहित अन्य अधिकारी कर्मचारी मौजूद रहे।

 

बिल देखकर उड़े वृद्ध के होश, कर्मचारियों ने काटी बिजली, गिड़गिड़ाने पर जोड़ा, अब फिर मिल रही धमकी

 

पढ़ाया स्वच्छता का पाठ
इस दौरान जिला पंचायत सीईओ ने विद्यार्थियों को स्वच्छता के लिए जागरूक किया। उन्होंने कहा कि हम अपने घर को साफ सुथरा रखें। इसके बाद अपने पड़ोस को साफ रखें। कोशिश करें कि अपना मोहल्ला, वार्ड गांव भी साफ हो। इतना ही नहीं अपने दोस्तों रिश्तेदारों, सगे संबंधियों को भी स्वच्छता के लिए प्रेरित करें। जहां भी जाएं यदि कहीं पर गंदगी मिलती है तो कोशिश करें उसे साफ करें। साफ करके स्वच्छता का संदेश दें और यह भी कोशिश करें कि सामने वाले को भी स्वच्छता के प्रति जागरूक करें। गंदगी के दुष्परिणाम बताएं, ताकि हमारा देश स्वच्छ हो सके और राष्ट्रपिता महात्मा गांधी के सपने को हम साकार कर सकें।