स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

ट्रेनों के इंजन में संगीन अपराधों को देते थे अंजाम, आरपीएफ ने घेराबंदी कर आठ बदमाशों को दबोचा, कई मामले उजागर

Balmeek Pandey

Publish: Sep 20, 2019 11:20 AM | Updated: Sep 20, 2019 11:20 AM

Katni

न्यू कटनी जंक्शन आरपीएफ को बड़ी सफलता हाथ लगी है। टीम ने ट्रेनों के इंजन से तांबे की वायर सहित अन्य रेल संपत्ति चुराने वाले गिरोह को गिरफ्तार किया है। गिरफ्तार किराए बदमाशों से छह संगीन अपराधों का खुलासा हुआ है। आरोपियों को गिरफ्तार कर न्यायालय में पेश किया जहां से उन्हें जेल भेज दिया गया है। उक्त कार्यवाही पोस्ट प्रभारी सुनीता जाट के नेतृत्व में की गई।

कटनी। न्यू कटनी जंक्शन आरपीएफ को बड़ी सफलता हाथ लगी है। टीम ने ट्रेनों के इंजन से तांबे की वायर सहित अन्य रेल संपत्ति चुराने वाले गिरोह को गिरफ्तार किया है। (Theft in trains) गिरफ्तार किराए बदमाशों से छह संगीन अपराधों का खुलासा हुआ है। आरोपियों को गिरफ्तार कर न्यायालय में पेश किया जहां से उन्हें जेल भेज दिया गया है। (Indian Railways) उक्त कार्यवाही पोस्ट प्रभारी सुनीता जाट के नेतृत्व में की गई। बता दें कि इन अपराधियों की वारदात से ना सिफ रेल यातायात प्रभावित हो रहा था बल्कि पायलट लोको पायलट की जान खतरे में पड़ती थी। पोस्ट प्रभारी सुनीता जाट के बताए मुताबिक नई कटनी सिंगरौली रेल खंड भौंगोलिक दृष्टि से पहाड़ी एवं जंगली क्षेत्र होने तथा वन्य प्राणियों से अत्यधिक खतरे की संभावना का फायदा उठाते हुए अपराधियों के हौसले बुलंद थे, जहां पर ब्यौहारी, खन्ना बंजारी, छतेनी और जोबा रेलवे स्टेशन में स्टेबल किये इंजन से पाट्र्स चुराते थे। 16 अगस्त 18, 28 सितंबर 18, 27 दिसम्बर 18 व 5 जनवरी 19 को स्टेबल इंजन से रेक्टिफायर पैनल से अल्टरनेटर के सभी कीमती कॉपर केबल चोरी की वारदात हुई। इस संबंध में धारा 03 आरपी (यूपी) एक्ट अज्ञात आरोपियो के विरूद्व पंजीकृत किया गया। इसके अलावा 17 मई 19 को ब्यौहारी-दुबरीकलां के मध्य अज्ञात व्यक्तियो के द्वारा ओएचई केबल में आपराधिक हस्तक्षेप कर परिचालन के कर्मचारियों की सुरक्षा को खतरा व यातायात में बाधा उत्पन्न की गई। जिस पर सीआर 123/19 धारा 153, 174 रेल अधिनियम व दिनांक 16 सितंबर 19 को जोबा-दुबरीकलां के मध्य ओएचई केबल चोरी होने पर धारा 3 आरपी(यूपी) एक्ट के तहत मामला पंजीकृत किया गया था।

 

प्रदर्शनकारी बोले हर हाल में कल से चालू कराएं पानी, कार्यपालन यंत्री ने कहा रुपये जमा करो जिससे हमारी निकलती है तनख्वाह, देखें वीडियो

 

गठित की टीम
उक्त मामलो में आरोपियोन की धरपकड़ एवं चोरी की गई रेल सम्पत्ति की बरामदगी के लिए एएससी कटनी के निर्देशन में आरपीएफ एनकेजे पोस्ट प्रभारी उपनिरीक्षक सुनीता जाट, उपनिरीक्षक आरपी गर्ग, आरक्षक अजीत सरोज, आरक्षक राजेश चंद, आरक्षक विनोद कुमार यादव, आरक्षक केके बैठा, आरक्षक ललित कुमार विश्वकर्मा, आरक्षक जीपी साहू, व अपराध खुफिया शाखा जबलपुर के सउनि मोहन लाल द्विवेदी व स्टाफ की टीम गठित की गई। उक्त अपराध प्रभावित रेलखंड में आरक्षक केके बैठा व आरक्षक ललित कुमार विश्वकर्मा को गुप्त निगरानी के दौरान दिंनाक 18 सितम्बर को रात्रि में आरक्षक केके बैठा ने लाईन के आसपास कुछ सदिंग्ध व्यक्तियों की हलचल होने के संबंध मे सूचना दी। टीम के बाकी सदस्यों ने मौके पर पहुंचकर चारो तरफ से घेराबंदी करके गुप्त निगरानी रखी, तो देखा, कि 02 व्यक्ति खंबे पर चढऩे का प्रयास कर रहे है, व कुछ लोग लाईन पर खड़े है।

 

इस जिले में किश्त के फेर में उलझे गरीबों के आशियाने, कई दिनों से राशि का इंतजार, बताई जा रही ये वजह

 

घेराबंदी कर दबोचा
घेराबंदी कर मौके पर ही 7 व्यक्तियो को पकडा व 5 अंधेरे का फायदा उठाकर भाग गए। पक?े गए आरोपियों में क्रमश सुनील यादव, राजकरण सिंह गौण 26 निवासी उमरिया जिला सीधी, राज कुमार सिंह गौंण 26 उमरिया, कमलेश यादव 25 निवासी सिरौला थाना मझौली सीधी, प्रयाग यादव रुपई 19 जिला सीधी, पवन यादव 28 रुपई सीधी, राम खिलावन यादव 3व रुपई सीधी व रिसीवर 36 लालता स्टील सीधी कोटाहा को गिरफ्तार किया। आरोपियों के पास से ओएचई वायर काटने के लिए उपयोग में लिये गये 3 हैगजा ब्लेड, कुल्हाड़ी एवं अपराध में उपयोग की जा रही 3 मोटर साईकिल को मौके पर ही जप्त किया गया। मोटरसाइकिल क्रमांक एमई 4 जेसी 71 एएफकेजी 018261, एमपी 53 एमए 6838, एमपी 18 एमके 1671 व एमडी 634 केई 60 जी 2 ए 87595 जब्त की है। आरोपियो के मेमोरेंडम पर 16 सितंबर को चोरी किया गया 38 किलोग्राम केटनरी वायर जिसकी लम्बाई करीबन 65 मीटर जप्त किया गया।

 

सैड़कों लोगों को छूकर जाती है मौत!, सिहर उठते हैं बच्चे व ग्रामीण, वीडियो में देखिये कैसे दांव पर तीन गांवों की जिदंगी

 

सीधी में व्यापारी को बेचे थे तार
आरोपियों ने 5 माह पूर्व मे भी झापर नदी के पास से ब्यौहारी-छतैनी के मध्य चोरी की नियत से केबल कट करना स्वीकार किया। आरोपी कमलेश यादव, प्रयाग यादव, पवन यादव, राम खिलावन के साथ मिलकर रेलवे इंजन से तांबे की तार चोरी करना स्वीकार किया। चोरी किये गये केटनरी वायर व इंजन वायर को सीधी निवासी संतोष स्टील बर्तन की दुकान में बेचना बताये जाने व दिए गए मेमोरेंडम पर संतोश स्टील बर्तनो की दुकान से करीबन 120 किलोग्राम इंजन की कॉपर केबल व 10 किग्रा केटनरी वायर जप्त की। मामले में कुल 168 किग्रा कॉपर वायर बरामद की गई।

 

जागरुकता रैली से किया अवेयर, श्रमदान कर रेलवे परिसर को किया क्लीन, देखें वीडियो

 

अन्य मामलों के भी आरोपी
सातों आरोपियों ने उपरोक्त 6 मामलों के अलावा भी कॉपर वायर चोरी करना स्वीकार किया, जिसके संबंध में 3 मामलों में पुलिस थाना मझौली के अपराध क्रमांक 608/19 धारा 379 आईपीसी पंजीकृत है, जिसकी सूचना पुलिस थाना मझौली को भी दी गई है। मामले में फरार 5 आरोपीयो की तलाश जारी है। उपरोक्त सभी आरोपियो को रेलवे न्यायालय में पेश किया गया, जहां से सभी को जेल भेज दिया गया है।