स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

उत्कृष्ट विद्यालय बड़वारा व केंद्रीय विद्यालय ओएफके लिए जारी हुए 24 लाख रुपये, बनेंगी 'अटल टिंकरिंग लैब', होगी वैज्ञानिकों की खोज

Balmeek Pandey

Publish: Sep 21, 2019 11:49 AM | Updated: Sep 21, 2019 11:49 AM

Katni

जिले के दो स्कूलों में अध्ययनरत विद्यार्थियों के लिए राहतभरी खबर है। सरकार की महत्वाकांक्षी योजना को पंख लगने जा रहे हैं। उत्कृष्ट उच्चतर माध्यमिक विद्यालय बड़वारा और केंद्रीय विद्यालय ऑर्डिनेंस फैक्ट्री को 'अटल टिंकरिंग लैब' के लिए राशि जारी हो चुकी है। शीघ्र ही दोनों स्कूलों में काम शुरू होगा।

कटनी. जिले के दो स्कूलों में अध्ययनरत विद्यार्थियों के लिए राहतभरी खबर है। सरकार की महत्वाकांक्षी योजना को पंख लगने जा रहे हैं। उत्कृष्ट उच्चतर माध्यमिक विद्यालय बड़वारा और केंद्रीय विद्यालय ऑर्डिनेंस फैक्ट्री को 'अटल टिंकरिंग लैब' के लिए राशि जारी हो चुकी है। शीघ्र ही दोनों स्कूलों में काम शुरू होगा। बता दें कि इस योजना में जिले के मॉडल स्कूल झिंझरी, हॉयर सेकेंडरी स्कूल एनकेजे, बालक उमा विद्यालय सिलौंड़ी, शासकीय उमा विद्यालय कन्हवारा, कन्या उमा विद्यालय बरही व सेंटरपॉल निजी स्कूल शामिल है। इन स्कूलों के लिए भी शीघ्र राशि जारी होगी। ये लैब हाइ व हॉयर सेकेंडरी स्कूलों में बनेंगीं। अटल टिकरिंग लैब योजना के माध्यम से जिले के स्कूलों में अब विद्यार्थियों को विशेष शोध कराया जाएगा। स्कूल में छिपी नन्हीं प्रतिभाओं को निखारने पहल होगी। इस योजना के माध्यम से वैज्ञानिकों की खोज की जा सकेगी। पूर्व प्रधानमंत्री स्व. अटल बिहारी बाजपेई के नाम से अटल टिंकरिंग लैब की स्थापना हो रही है। इन प्रयोगशालाओं में विद्यार्थी विज्ञान उपकरणों की मदद से खोज कर सकेंगे। दोनों स्कूलों के लिए 12-12 लाख रुपये जारी कर दिए गए हैं।

 

खत्म होगी जंक्शन की डायमंड क्रॉसिंग, इस पहल से बढ़ेगी ट्रेनों की रफ्तार, ए केबिन के समीप चलेगा एनआइ वर्क

 

स्कूलों की मेहनत से मिली लैब
इस योजना के लिए स्कूलों ने कड़ी मेहनत की और योजना से लाभान्वित हुए। इसमें ऑनलाइन आवेदन, स्कूल की तस्वीर, इन्फ्रॉस्ट्रक्चर, शिक्षा के स्तर में सुधार के आधार पर विभाग से जिले को अटल लैबों की सौगात मिली है। लैब में विद्यार्थियों को विज्ञान, प्रौद्योगिकी, इंजीनियरिंग और गणित के विभिन्न पहलुओं को समझाने के साथ-साथ उपकरणों और औजारों का इस्तेमाल कर कुछ नया करने का अवसर दिया जाएगा। आइआर सेंसर से लेकर थ्रीडी प्रिंटर्स और अल्ट्रासॉनिक सेंसर जैसे अत्याधुनिक उपकरण उपलब्ध होंगे। साइन्स, टेक्नालॉजी, इन्जीनियरिंग और मैथ्स की समझ बच्चों में विकसित कराने के प्रयासों के तहत इसकी शुरुआत जो बच्चे यहां खोज करेंगे, उन्हें क्षेत्रीय और राष्ट्रीय स्तर की प्रतियोगिताओं में भाग लेने का मौका भी मिल सकेगा।

 

'प्वाइंट नं. 114' के लिए कटनी-सिंगरौली लाइन में रहा मेगा ब्लॉक, चार घंटे का ब्लॉक चला नौ घंटे, यात्रियों को मिलेगी ये सुविधा

 

इनका कहना है
अटल टिकरिंग लैब योजना के तहत विद्यालय को राशि जारी हो चुकी है। शीघ्र ही लैब बनाने का काम शुरू कराया जाएगा, ताकि विद्यार्थियों को इसका लाभ मिल सके। प्रतिभाएं समाने आ सकें।
जुगल चौरसिया, प्राचार्य, उत्कृष्ट विद्यालय बड़वारा।