स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

संबल योजना का गलत लाभ लेने वाले 11 माह में 76 हजार नाम उजागर, और बढ़ेगी संख्या

Dharmendra Pandey

Publish: Sep 22, 2019 11:42 AM | Updated: Sep 22, 2019 11:42 AM

Katni

-प्रदेश सरकार द्वारा योजना का नाम बदलकर नया सवेरा कर सत्यापन करवाने के बाद सामने आ रहे अपात्र हितग्राहियों के नाम

-जनप्रतिनिधि, सरकारी, कर्मचारी, बड़े किसान व व्यापारियों का जुड़ा था सूची में नाम

 

कटनी. विधानसभा चुनाव से पहले शुरू हुई संबल योजना को नया सवेरा कर पूर्व के हितग्राहियों का सत्यापन किए जाने के बाद अब योजना का गलत तरीके से लाभ लेने वालों के नाम सामने आ रहे हैं। ऐसे 76 हजार से अधिक हितग्राहियों के नाम अपात्र पाए जाने के बाद काटे गए हैं। पिछले दो माह से चल रहे सर्वे कार्य को पूरा होने में अभी सात दिन का समय शेष बचा है। ऐसे में अपात्रों की संख्या और बढऩे के आसार हैं। उल्लेखनीय है कि प्रदेश की पूर्ववर्ती सरकार ने सभी वर्ग के गरीबों को लाभ देने के लिए संबल योजना लागू की थी। विधानसभा चुनाव 2018 से पहले लागू हुई इस योजना में कई ऐसे लोगों के नाम भी पात्रता सूची में जोड़ दिए गए थे। जो गरीब नही थे और पिछले 11 माह से अधिक समय से लाभ ले रहे थे। जिले में जुलाई माह से प्रारंभ हुए सत्यापन में अब तक 76 हजार 925 अपात्र हितग्राहियों के नाम सामने आए। 2 लाख 56 हजार 737 पात्र हितग्राही मिले।

27 सितंबर तक पूरा करना है सर्वे
संबल योजना के तहत लाभ लेने वाले पात्र व अपात्रों को ढूंढऩे का काम 27 सितंबर तक चलेगा। जिले में अब तक 3 लाख 37 हजार 662 हितग्राहियों का सत्यापन हो चुका है। सात दिन में अब 84 हजार 344 हितग्राहियों का सर्वे करना हैं। साल 2018 में शुरू हुई संबल योजना के तहत जिले में 4 लाख 22 हजार 6 हितग्राहियों का नाम सूची में शामिल किया गया था।


जिले में अब तक मिले पात्र व अपात्रों की संख्या
निकाय व जनपद पात्र काटे गए नाम
नगर निगम कटनी 11219 5899
नगर परिषद कैमोर 2024 1170
नगर परिषद विगढ़ 371 500
नगर परिषद बरही 789 314
जनपद पंचायत कटनी 35994 4284
जनपद पंचायत बड़वारा 39742 37736
जनपद पंचायत बहोरीबंद 48011 6198
जनपद पंचायत ढीमरखेड़ा 41309 3480
जनपद पंचायत रीठी 36875 7255
जनपद पंचायत विगढ़ 40403 10089

नोट: संबंधित आंकड़े श्रम विभाग विभाग से लिए गए हैं।

-संबल योजना में लाभ लेने वाले हितग्राहियों का सत्यापन किया जा रहा है। सात दिनों तक सत्यापन पूरा करना है। अब तक 76 हजार 925 नाम अपात्र पाए जाने के बाद काटे जा चुके हैं।
महेंद्र गौतम, सहायक श्रम पदाधिकारी।