स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

नरम पड़े , कहा सीएम सबसे करीबी मित्र

Chandra Prakash sain

Publish: Jan 23, 2020 17:48 PM | Updated: Jan 23, 2020 17:48 PM

Karnal

सीएम सर्वेसर्वा, ले सकते हैं विभाग

चंडीगढ़. हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहर लाल द्वारा गृहमंत्री अनिल विज से सीआईडी विभाग वापस लिए जाने के बाद गब्बर के तेवर कुछ ढीले हो गए हैं। विभागों में फेरबदल के बाद गुरुवार को गृहमंत्री अनिल विज ने कहा कि मुख्यमंत्री सबसे ऊपर हैं और वह किसी भी विभाग को ले सकते हैं या विभाजित कर सकते हैं। हरियाणा सरकार के बुधवार देर रात एक बयान में बताया था कि विज का अब आपराधिक जांच विभाग (सीआईडी) पर नियंत्रण नहीं रहेगा।
अनिल विज से जब सीआईडी का प्रभार वापस लिए जाने के बारे में पूछा गया, तो उन्होंने कहा कि उन्होंने हमेशा कहा है कि मुख्यमंत्री ही सुप्रीम हैं और वह कोई भी विभाग ले सकते हैं या विभाजित कर सकते हैं। मैं बस यही मांग रहा था कि जब तक मैं गृह मंत्री हूं, मेरे पास रहे। उन्होंने इस मामले पर आगे कोई टिप्पणी करने से इनकार कर दिया।
विज ने कहा कि उनके और मुख्यमंत्री के बीच कोई मतभेद नहीं है क्योंकि मुख्यमंत्री उनके सबसे करीबी मित्र हैं। विज ने पहले इस बात पर नाखुशी जाहिर की थी कि सीआईडी उन्हें विभिन्न विषयों पर जानकारी नहीं देती है। संतुष्ट प्रतीत हो रहे विज ने कहा कि गत दिवस पहली बार एसपी रैंक के एक अधिकारी ने मुझे जानकारी दी। अब वह रोजाना मुझे जानकारी देंगे।

हरियाणा की अन्य खबरों के लिए क्लिक करें...

[MORE_ADVERTISE1]