स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

फिर से सवालों के घेरे में हरियाणा कर्मचारी चयन आयोग

Chandra Prakash sain

Publish: Dec 06, 2019 19:59 PM | Updated: Dec 06, 2019 19:59 PM

Karnal

आईटीआई इंस्ट्रक्टर मामले में पुलिस व आयोग की अलग-अलग थ्यौरी

चंडीगढ़. हरियाणा के सरकारी विभागों में कर्मचारियों की भर्ती के लिए परीक्षाओं का आयोजन करने वाला कर्मचारी चयन आयोग एक बार फिर से सवालों के घेरे में है। मनोहर सरकार के दूसरे कार्यकाल को शुरू हुए अभी दो माह भी नहीं हुए हैं कि आईटीआई इंस्ट्रक्टर पेपर लीक प्रकरण को लेकर कर्मचारी चयन आयोग पर सवाल खड़े हो गए हैं। मनोहर सरकार के पहले कार्यकाल के दौरान भी इस तरह की घटनाएं होती रही हैं।
मनोहर सरकार के पहले कार्यकाल के दौरान एक दर्जन से अधिक ऐसी घटनाएं हुई हैं जिनमें पेपर लीक की घटनाओं ने न केवल कर्मचारी चयन आयोग की कार्यशैली को कटघरे में खड़ा किया बल्कि मनोहर सरकार पर भी सवाल उठे। अब गत दिवस हरियाणा में आईटीआई इंस्ट्रक्टर पेपर लीक मामले प्रकरण के बाद फिर से यह मुद्दा गर्मा गया है। मनोहर सरकार के दूसरे कार्यकाल के दौरान हुई इस पहली घटना को लेकर चंडीगढ़ पुलिस तथा कर्मचारी चयन आयोग की अलग-अलग थ्यौरी है।
चंडीगढ़ पुलिस जहां इस मामले में बड़े गिरोह के लिप्त होने की आशंका जता रही है वहीं कर्मचारी चयन आयोग का दावा है कि पुलिस की कार्रवाई पेपर लीक होने से पहले हो गई थी। पेपर लीक नहीं हुआ है। इस प्रकरण के बाद विपक्ष ने एक बार फिर से सरकार को घेर लिया है। अखिल भारतीय कांग्रेस कमेटी के प्रवक्ता रणदीप सुरजेवाला के अनुसार खट्टर सरकार की पहचान पेपर लीक सरकार के रूप में बन गई है। सरकार ने हरियाणा में विकास कार्य तो शुरू नहीं किए अलबत्ता पेपर लीक होने फिर से शुरू हो गए हैं। मनोहर सरकार के पहले कार्यकाल के दौरान भी पेपर लीक की एक दर्जन से अधिक घटनाएं हुई हैं।

पूर्व निर्धारित कार्यक्रम के अनुसार होंगी परीक्षाएं:भारती
हरियाणा कर्मचारी चयन आयोग के चेयरमैन भारत भूषण भारती ने इस बात से इंकार किया है कि आईटीआई में इंस्ट्रक्टर की भर्ती के लिए ली गई परीक्षा का पेपर रद हो गया है। भारती ने कहा कि जब पेपर लीक ही नहीं हुआ तो रद करने का सवाल ही पैदा नहीं होता। पुलिस ने जो भी कार्रवाई की है, वह न तो परीक्षा केंद्र के भीतर हुई और न ही हरियाणा कर्मचारी चयन आयोग को किसी तरह की कोई शिकायत मिली है। भारत भूषण भारती ने बताया कि पुलिस की कार्रवाई से परीक्षा का कोई लेना देना नहीं है और आगे की परीक्षा भी अपने निर्धारित शेड्यूल के मुताबिक होगी।

मनोहर सरकार के पहले कार्यकाल में हुई पेपर लीक की मुख्य घटनाएं
ऑल इंडिया पीएमटी पेपर लीक
एचबीएसई जमा दो का अंग्रेजी का पेपर लीक
केंद्रीय विद्यालय संगठन प्राईमरी टीचर पेपर लीक
क्लर्क भर्ती पेपर लीक
नौवीं कक्षा का पेपर लीक
एनईईटी पेपर लीक
बी.फार्मेसी पेपर लीक
एचसीएस न्याययिक भर्ती पेपर लीक
कंडक्टर भर्ती पेपर लीक
सहायक प्रोफैसर कालेज कॉडर पेपर लीक

हरियाणा की ताजा खबरों के लिए क्लिक करें

[MORE_ADVERTISE1]