स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

भोलेनाथ अब रहेंगें AC में

Chandra Prakash sain

Publish: Aug 18, 2019 18:34 PM | Updated: Aug 18, 2019 18:44 PM

Karnal

तिजारा रोड पर स्थित पांड़वकालीन शिवमंदिर पर समुंद्र मंथन के दौरान महादेव द्वारा पिए गए हलाहल की खुबसूरत एवं आकर्षक आकृति बनाई

फिरोजपुर झिरका. तिजारा रोड पर प्राकृतिक सौंदर्य से परिपूर्ण अरावली की वादियों में बने पांड़व कालीन शिवमंदिर में चांदी की बनी जलहरी में विराजमान महादेव अब एयर कंड़ीशनर में रहेंगें। फिरोजपुर झिरका से पांच किलोमीटर की दूरी पर तिजारा रोड पर स्थित पांड़व कालीन शिवमंदिर पर गुफा के अंदर देवो के देव महादेव विराजमान हैं। इस गुफा के अंदर जिस जलहरी में भोलेनाथ विराजमान हैं उसको चांदी से बनवाया गया है। गुफा में पूजा करने के लिए शिवभक्तों की निरंतर बढ़ती संख्या की वजह से शिवमंदिर विकास समिति ने यहां पर एयर कंड़ीशनर लगाने का निर्णय लिया है। ताकि भक्तों को कोई परेशानी न हो।
इतना ही नहीं बल्कि मंदिर में प्रवेश करने से पहले एक बड़ा और खूबसूरत प्रवेश द्वार बनाने की भी शिवमंदिर विकास समिति ने योजना बनाई है। ताकि बाहर से आने वाले शिवभक्तों को लगे के वे मेवात में एक मनोरम तीर्थ स्थल पर आए हैं।

 

haryana-bholenath

समुंंद्र मंथन के दौरान महादेव द्वारा पिए गए हलाहल की एक जीवंत आकृति पहाड़ों पर बनाने की भी शिवमंदिर विकास समिति ने निर्णय लिया है। यह काफी बड़ी होगी और इस पर काफी पैसा खर्च किया जाएगा। इनके बनने से शिवमंदिर पर अपने वाले शिवभक्तों को लगेगा कि वे वाकई मे प्रदेश के सबसे पिछड़े क्षेत्र मेवात के एक बड़े तीर्थ स्थल पर हैं।

बता दें तिजारा रोड पर बना पांड़व कालीन शिवमंदिर देश के लाखों शिवभक्तों की अटूट श्रद्वा, आस्था एवं भक्ति का केंद्र बना हुआ है। मंदिर विकास समिति के प्रधान अनिल गोयल ने बताया कि जिस गुफा में भोलेनाथ विराजमान हैं उसमें शिवभक्तों की संख्या बढऩे से गर्मी हो जाती है इसीलिए इसमें एसी लगवाया जाएगा। इसके अलावा बड़ा एवं आकर्षक मुख्य द्वार व समुंद्र मंथन के समय की विशाल आकृति पहाड़ों पर शिवमंदिर विकास समिति द्वारा बनवाई जाएगी।

हरियाणा की ताजा खबरों के लिए क्लिक करें