स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

अमित शाह का ऐलान, खट्टर ही होंगे अगले मुख्यमंत्री

Chandra Prakash sain

Publish: Aug 16, 2019 19:27 PM | Updated: Aug 16, 2019 19:27 PM

Karnal

अमित शाह ने शुक्रवार को जींद से विधानसभा चुनाव का शंखनाद करते हुए साफ कर दिया कि भाजपा की अगली सरकार में मनोहर लाल ही मुख्यमंत्री होंगे

चंडीगढ़. हरियाणा में 75 प्लस के साथ दूसरी बार सत्ता हासिल करने का लक्ष्य लेकर चल रही भारतीय जनता पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह ने शुक्रवार को जींद से विधानसभा चुनाव का शंखनाद करते हुए साफ कर दिया कि भाजपा की अगली सरकार में मनोहर लाल ही मुख्यमंत्री होंगे। किसी समय में जींद पूर्व मुख्यमंत्री ओमप्रकाश चौटाला के गढ़ के नाम से मशहूर होता था जहां पहली बार कमल खिलाने वाली भाजपा ने अपनी अगली लड़ाई की शुरुआत करके साफ संकेत दे दिया है कि भाजपा ने पांच वर्षों के दौरान न केवल एक समान विकास किया है बल्कि अब भाजपा के एजेंडे में जाटलैंड टॉप पर है।
अमित शाह ने अपने भाषण के दौरान रैली के आयोजक पूर्व केंद्रीय मंत्री एवं राज्यसभा सांसद बीरेंद्र सिंह डूमरखां का नाम जहां चार बार लिया वहीं मुख्यमंत्री मनोहर लाल का नाम कुल 21 बार लिया। शाह ने अपने भाषण के दौरान एक के बाद एक मुख्यमंत्री मनोहर लाल की उपलिब्धयों का बखान करते हुए विभागवार रिपोर्ट कार्ड पेश किया। रैली के दौरान अमित यह कहने से भी नहीं चूके कि उनका गृह जिला गुजरात है और गुजरात आज भी केरोसीन मुक्त नहीं बना है लेकिन खट्टर ने अपनी मेहनत के बल पर हरियाणा को कैरोसीन मुक्त राज्य बनाया है।

पिछले पांच साल के दौरान हुए जातिवाद के दंगों की तरफ इशारा करते हुए शाह ने इसके लिए हुड्डा व चौटाला की सरकारों को कटघरे में खड़ा किया और मनोहर लाल की पीठ थपथपाई। भाजपा अध्यक्ष ने जमीनों के सीएलयू, बदलियों के बाजार के नाम पर जहां हुड्डा को घेरा वहीं भ्रष्टाचार के मुद्दे पर चौटाला पर भी वार किया। शाह ने मनोहर लाल की पीठ थपथपाते हुए कहा कि पांच साल पहले जब भाजपा सत्ता में आई थी तो हरियाणा अलग-अलग तरह के भ्रष्टाचार के लिए मशहूर था लेकिन भ्रष्टाचार कैसे खत्म किया जाता है यह हरियाणा की मनोहर लाल सरकार से सीखना चाहिए। अमित शाह ने हुड्डा व चौटाला की तरफ इशारा करते हुए भाजपा के तमाम मंत्रियों व नेताओं को कहा कि जनता में विकास के आंकड़ों को और विपक्ष के घोटालों को लेकर जाएं। हरियाणा की जनता खुद निर्णय करेगी।
खट्टर का विरोध करने वालों को भी दिया संदेश

अमित शाह ने विधानसभा चुनाव के संबंध में पहली रैली के दौरान भाजपा के उन नेताओं को भी आड़े हाथों लिया जिन्होंने कुछ समय पहले खट्टर की कार्यशैली पर सवाल उठाते हुए हाईकमान तक पहुंच की थी। अमित शाह ने जींद के मंच से विधायकों तथा कार्यकर्ताओं का नाम लेते हुए कहा कि खट्टर ने जब आनलाइन बदलियां शुरू की तो विधायकों व कार्यकर्ताओं ने उन्हें शिकायत की लेकिन खट्टर ने क्षेत्रवाद और भाईभतीजावाद को बंद करते आनलाइन तबादलों को लागू करके पूरे देश में एक मिसाल कायम की है।

पीएम ने वोट बैंक की परवाह किए बिना हटाया अनुच्छेद-370, 35-ए : अमित शाह

चंडीगढ़. केंद्रीय गृहमंत्री और बीजेपी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह ने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने वोट बैंक की परवाह किए बिना ही राष्ट्रहित में जम्मू-कश्मीर से अनुच्छेद-370 और 35-ए हटाने का फैसला लिया है। जबकि कांग्रेस ने वोट बैंक की राजनीति के चलते देश की एकता और अखंडता में बाधा बने इन अनुच्छेदों को नहीं हटाया था। यह बड़ा काम वहीं कर सकता है, जिसे वोट बैंक का लालच नहीं हो। बीजेपी और कांग्रेस में यही बड़ा फर्क है। पीएम मोदी के जम्मू-कश्मीर पर इस बड़े फैसले से जम्मू-कश्मीर और लेह-लद्दाख विकास के रास्ते पर आगे बढ़ेंगे और कश्मीर घाटी से आतंकवाद समाप्त होगा।
अमित शाह शुक्रवार को जींद के एकलव्य स्टेडियम में आयोजित आस्था रैली को संबोधित कर रहे थे। उन्होंने कहा कि शाह ने पीएम मोदी द्वारा 15 अगस्त को लाल किले से राष्ट्र के नाम अपने संबोधन में देश में तीनों सेनाओं के लिए चीफ आफ डिफेंस स्टाफ की नियुक्ति के ऐलान को लेकर कहा कि करगिल युद्ध के बाद इसकी जरूरत महसूस की गई थी लेकिन उसके बाद किसी भी सरकार ने इसकी परवाह नहीं की। पीएम मोदी ने चीफ आफ डिफेंस स्टाफ की जल्द नियुक्ति की घोषणा की है। इससे भारत की सेना की देश की सीमाओं की रक्षा की क्षमता कई गुणा बढ़ेगी। उसके बाद तीनों सेनाओं के बीच बेहतर तालमेल होगा और दुश्मन के लिए यह बहुत बड़ा वज्र प्रहार होगा। उन्होंने कहा कि 370 वोट से पीएम मोदी ने भारत का मुकुट कहे जाने वाले जम्मू-कश्मीर से अनुच्छेद 370 के दाग को सदा-सदा के लिए मिटाने का काम किया है। मां भारती का यह मुकुट अनुच्छेद 370 और 35-ए के कारण कुछ अधूरा सा था और पीएम मोदी ने इसे पूरा कर दिया है। हकीकत में अब अखंड भारत का वह सपना पूरा हुआ है, जो श्यामा प्रसाद मुखर्जी, पूर्व पीएम अटल बिहारी वाजपेयी आदि ने देखा था। शाह ने कहा कि कांग्रेस अनुच्छेद 370 और 35-ए को इसलिए नहीं हटा पाई कि उसे अपने वोट बैंक की चिंता थी। बीजेपी और पीएम मोदी के लिए वोट बैंक से कहीं बड़ा राष्ट्र है। शाह ने केंद्र सरकार की किसान स मान निधि योजना, छोटे व्यापारियों के लिए पैंशन योजना से लेकर जल शक्ति मंत्रालय बनाए जाने का विशेष रूप से उल्लेख करते हुए कहा कि देश में जो काम 70 साल में नहीं हो पाया, उसे मोदी सरकार-2 ने 70 दिनों में पूरा कर दिखाया है। अमित शाह के अलावा रैली को संबोधित करते हुए हरियाणा के सीएम मनोहर लाल ने कहा कि देश की एकता और अखंडता में बहुत बड़ी बाधा बने अनुच्छेद 370 और 35-ए को हटाकर पीएम नरेंद्र मोदी और गृह मंत्री अमित शाह ने भारत को अखंड बनाने का काम किया है।