स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

प्रमाण पत्र जारी हुए, अनशन समाप्त

Surendra Kumar Chaturvedi

Publish: Aug 12, 2019 12:38 PM | Updated: Aug 12, 2019 12:38 PM

Karauli

कस्बे का बाजार पूरी तरह बंद रहा। सूचना पर अतिरिक्त जिला कलक्टर सुरेश कुमार मण्डरायल पहुंचे। उन्होंने प्रदर्शन करने वाले युवाओं से वार्ताकी और एसडीएम रामचन्द्र मीना को बुलाकर प्रमाण पत्र जारी कराए। वार्ता के दौरान तहसीलदार हनुमान मीणा, थानाधिकाी रामदेवसिंह भी मौजूद रहे।

युवाओं की मांगों के समर्थन में व्यापारियों ने रखा बाजार बंद
मण्डरायल. यहां सवर्ण वर्ग के युवाओं के प्रमाण पत्र नहीं बनाने से आक्रोशित युवाओं ने रविवार को विरोध प्रदर्शन किया। उनकी मांगों के समर्थन में कस्बे के व्यापारियों ने स्वेच्छा से बाजार बंद रखा।
कस्बे का बाजार पूरी तरह बंद रहा। सूचना पर अतिरिक्त जिला कलक्टर सुरेश कुमार मण्डरायल पहुंचे। उन्होंने प्रदर्शन करने वाले युवाओं से वार्ताकी और एसडीएम रामचन्द्र मीना को बुलाकर प्रमाण पत्र जारी कराए। वार्ता के दौरान तहसीलदार हनुमान मीणा, थानाधिकाी रामदेवसिंह भी मौजूद रहे। इसके बाद शाम करीब पांच बजे बाजार खुला और अनशन समाप्त हुआ। उल्लेखनीय है, कि युवाओं का अनशन पांच दिन से चल रहा था, लेकिन प्रमाण पत्र नहीं बनाए जा रहे थे। जिसको लेकर युवाओं ने बाजार बंद कराकर प्रदर्शन की चेतावनी दी थी।
किया समर्थन
युवाओं की मांगों का अन्य लोगों ने भी समर्थन किया। उनके समर्थन में पांचवे दिन रविवार को राजपूत समाज अध्यक्ष रामअवतार सिंह, ब्राह्मण समाज के अध्यक्ष वासुदेव शुक्ला, अग्रवाल समाज के अध्यक्ष राजेन्द्र गुप्ता, सौरभ समाधिया, मनोज सिंह, गोपाल सिंह अनशन पर बैठे। इधर प्रमाण पत्र बनने तथा संघर्षकी जीत होने की खुशी में युवाओं ने मिठाई बांटी।
निराश लौटे खरीदार
कस्बे के व्यापारियों ने स्वेच्छा से बाजार बन्द रखा। जिससे खरीदारी करने आए लोगों को परेशानी हुई। बाजार शाम को खुला। ऐसे में आसपास के गांवों से आए लोग बिना खरीदारी किए निराश लौट गए। रक्षाबन्धन त्योहार के चलते लोग खरीदारी के लिए आए थे।