स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

भाजपा विधायक की बेटी साक्षी की शादी पर अखिलेश का बयान, कहा सुरक्षित नहीं बेटियां

Karishma Lalwani

Publish: Jul 13, 2019 19:46 PM | Updated: Jul 13, 2019 19:46 PM

Kannauj

- बरेली से BJP MLA राजेश मिश्रा की बेटी साक्षी की शादी पर अखिलेश का बयान

- कहा भाजपा सरकार में बेटियां सुरक्षित नहीं

- एक्सप्रेस वे हादसों का जिम्मेदार भाजपा सरकार

कन्नौज. जनपद में शनिवार को मुस्लिम धर्मगुरु मौलाना हजरत आफाक अहमद की मैयत में सपा मुखिया अखिलेश यादव (Akhilesh Yadav) शामिल हुए। जहां उन्होंने मुस्लिम धर्मगुरु मौलाना आफाक अहमद के इंतकाल पर शोक संवेदना व्यक्त की। इस दौरान उन्होंने मदरसा, बरेली विधायक की बेटी साक्षी की शादी और यमुना एक्सप्रेस वे हादसों पर भाजपा सरकार का घेराव किया।

कन्नौज की घटना पर बयान

अखिलेश ने छिबरामऊ में एक मां की अपने बच्चे की हत्या करने की घटना को दुखद बताया। अखिलेश ने कहा कि यह सोचने वाली बात है कि समाज में आज भूख के कारण जान जा रही है।

विधायक की बेटी के मामले में बयान

बरेली से बीजेपी विधायक राजेश मिश्रा की बेटी साक्षी मिश्रा की शादी के मामले पर भी सपा अध्यक्ष ने अपनी प्रतिक्रिया दी। अखिलेश ने कहा कि साक्षी के पति अजितेश के लिए धमकियां दी जा रही हैं। पुलिस डराने की कोशिश कर रही है। लड़की को धमकी मिल रही कि अगर बात नहीं मानी तो उसके पति की हत्या कर दी जाएगी। ये है भाजपा सरकार का असली चेहरा जहां बेटियों की इज्जत नही है। बहनों की इज्जत नहीं है। यही भारतीय जनता पार्टी का असली चेहरा है। वहीं उन्नाव में मदरसों में छात्रों से जबरन जय श्री राम बुलवाए जाने के मामले पर कहा कि ये सरकार का असली चेहरा है। बचपन से सीतराम पढ़ा है लेकिन यह इनकी नई परिभाषा है। नौकरी के लिए अगर आपने वोट दिया होगा तो नौकरी मिलेगी आपको, नौकरी का इंतजार करिए शायद नौकरी मिल जाए।

ये भी पढ़ें: जय श्री राम न बोलने पर मदरसा के छात्रों के साथ की मारपीट, मस्जिद के ईमाम ने लगाया ये आरोप

हाइवे पर जा रही जान की जिम्मेदार है सरकार

यमुना एक्सप्रेस वे (Yamuna Expressway) पर हो रहे हादसों का जिम्मेदार भी अखिलेश ने बीजेपी को ठहराया। साथ ही ये भी कहा कि टोल पर सबसे ज्यादा पैसा सरकार की जेब में आ रहा है। लेकिन अगर पैसा आ ही रहा है तो सुरक्षा का इन्तजाम करना, लोगों का सफर आसान हो, लोगों का सुरक्षित सफर हो उसकी जिम्मेदारी भी सरकार की है। सरकार को अपनी जिम्मेदारी निभानी चाहिए। एक समय ऐसा था जहां पर पुलिस लगती थी, एम्बुलेंस उपलब्ध होती थी। लेकिन वह चीजें कहां हैं।