स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

फिल्मी स्टाइल में गुंडों ने लोहे की राड से किया जानलेवा हमला, वीडियो हुआ वायरल

Akanksha Agrawal

Publish: Aug 18, 2019 10:00 AM | Updated: Aug 18, 2019 10:00 AM

Kanker

फिल्मों को देखकर लोग तरह-तरह से प्रेरित होते हैं। छत्तीसगढ़ के गांवों में फिल्मी स्टाइल में गुंडागर्दी और लूटपाट जैसी घटनाएं होने लगी है।

चारामा. फिल्मों को देखकर लोग तरह-तरह से प्रेरित होते हैं। पर आजकल लोग अच्छी फिल्में देखकर अच्छी तरह से प्रेरित होने के बजाय गलत चीजों से प्रेरित हो रहे हैं। छत्तीसगढ़ के गांवों में फिल्मी स्टाइल में गुंडागर्दी (Hooliganism) और लूटपाट जैसी घटनाएं होने लगी है।

ऐसा ही एक मामला चारामा (crime in kanker) में हुआ है, जिसमें दो लोगों द्वारा लोहे की राड से सरेराह जानलेवा हमला करने का मामला प्रकाश में आया। मामला मंगलवार शाम का है। चारामा से गुजरने वाले राष्ट्रीय राजमार्ग के पुल के पास का मामला है। जहां नगर के दो सिरफिरों ने बाइक सवार दो लोगों का रास्ता रोककर जानलेवा हमला कर दिया।

जानकारी मुताबिक मंगलवार की शाम ग्राम उरंदाबेड़ा जिला कोण्डागांव निवासी मुकेश जैन अपनी पत्नी के मायके ग्राम कण्डेल में राखी में छोडऩे आया हुआ था। बहनोई रुपेश सिन्हा के साथ दो लोग खरीददारी करने चारामा आये थे। चारामा से वापस अपने गांव कंडेल जाते समय आंवरी चौक से पहले राष्ट्रीय राजमार्ग 30 पर पुल के पास बाइक सवार रुपेश सिन्हा व मुकेष जैन को आरोपी महेश सोनकर व संजू साहू ने रास्ता रोककर गाली गलौज करते हुए, लोहे की राड से जान से मारने की नीयत से हमला कर दिया।

इस घटना में मुकेश जैन को गंभीर चोटें आई आई हंै व रुपेश सिन्हा भी घायल हो गया। पीडि़त परिजनों ने बताया कि दोनों घायलों को चारामा अस्पताल में प्राथमिक उपचार के बाद धमतरी रेफर किया गया। जहां पर इलाज जारी है। मुकेश जैन का एक पैर टूट गया है व सिर पर चोटें आई है, वहीं रुपेश सिन्हा के पेट, हाथ व सीने में चोट है। इस मामले में दिलचष्प बात यह कि यह मामला मंगलवार शाम का है। मामले को इसी शाम को प्रार्थी द्वारा थाना चारामा में दर्ज करा दिया गया था। इस दर्दनाक घटना के तीन दिन बाद भी दोनों आरोपियों की गिरफ्तारी नहीं हो पाई थी।

यूं कहा जाए कि पुलिस इस गंभीर मामले पर तत्परता नहीं दिखा रही थी। अचानक 15 अगस्त की शाम के बाद से इस घटना की वीडियो सोसल मीडिया पर वायरल होने लगी, जो नगर में जनचर्चा का विषय बना हुआ है। तब जाकर पुलिस ने 16 अगस्त को दोनों आरोपियों को गिरफ्तार का न्यायिक रिमाण्ड पर जेल भेज दिया। वहीं घटना वाली जगह राजमार्ग व नगर से जुड़े होने के कारण व्यस्तम जगह है। लोग इस घटना की वीडियो तो बनाने में लग गए पर किसी ने भी इस मामले पर बीच-बचाव करना जरूरी नहीं समझा। बहरहाल अब देखना यह होगा कि पीडि़त परिवार को न्याय दिलाने में पुलिस क्या-क्या साक्ष्य जुटा पाती है।