स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

मानसून की मेहरबानी से जोधपुर में हुई 153 प्रतिशत बारिश, बावजूद इसके बांधों तक नहीं पहुंचा पर्याप्त पानी

Harshwardhan Singh Bhati

Publish: Aug 19, 2019 15:51 PM | Updated: Aug 19, 2019 16:12 PM

Jodhpur

जोधपुर शहर और गांवों में अच्छी बरसात के बावजूद जिले के प्रमुख चार बांधों में कम पानी आया है। बीसलपुर बांध तो सूखा ही पड़ा है। सिंचाई विभाग के अनुसार कैचमेंट एरिया में बरसात नहीं होने से बांधों में पानी नहीं पहुंचा।

अविनाश केवलिया/जोधपुर शहर और गांवों में अच्छी बरसात के बावजूद जिले के प्रमुख चार बांधों में कम पानी आया है। बीसलपुर बांध तो सूखा ही पड़ा है। सिंचाई विभाग के अनुसार कैचमेंट एरिया में बरसात नहीं होने से बांधों में पानी नहीं पहुंचा। सूर्यनगरी में अब तक मानसून से 53 प्रतिशत अधिक बरसात हो चुकी है। जोधपुर में 1 जून से लेकर 18 अगस्त तक मानसून की औसत बारिश का आंकड़ा 201.6 मिली मीटर है जबकि अब तक 307.9 मिलीमीटर पानी बरस चुका है।

खाली पड़े चारों बांध

1 जसवंत सागर बांध- पानी की क्षमता 52.82 एमक्यूएम है जबकि अब तक केवल 2.37 एमक्यूएम पानी आया है।
2 सुरपुरा बांध- पानी की भराव क्षमता 21.65 की जगह केवल 2.30 एमक्यूएम पानी आया है।
3 बीसलपुर बांध- भराव क्षमता 6.60 है, लेकिन यह बांध पूरा खाली पड़ा है।
4 जालीवाड़ा बांध- इसकी भराव क्षमता 4.96 के विपरीत अब तक केवल 0.83 एमक्यूएम पानी आया है।
( पानी की क्षमता मीटर प्रति क्यूबिक मीटर (एमक्यूएम) में है।)

धूप निकली, तापमान 30 डिग्री के पार
मारवाड़ में मानसून धीमा पडऩे के बाद रविवार दोपहर बाद धूप निकल आई। सुबह घने बादलों के कारण बरसात की उम्मीद थी लेकिन वे बिन बरसे ही आगे बढ़ गए। न्यूनतम तापमान 26.2 व अधिकतम 32.9 डिग्री मापा पाया। हवा में आद्र्रता 76 से लेकर 90 फीसदी होने की वजह से उमस से लोग परेशान रहे। मौसम विभाग के अनुसार अगले सप्ताह सूरज और बादलों की आंख मिचौनी चलती रहेगी। बरसात की संभावना कम है।