स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

स्वतंत्रता दिवस पर शहर में हर जगह तिरंगे की सामग्री की छटा

MI Zahir

Publish: Aug 14, 2019 20:38 PM | Updated: Aug 14, 2019 20:38 PM

Jodhpur

जोधपुर. स्वतंत्रता दिवस ( Independence Day ) के मद़्देनजर शहर में हर जगह तिरंगे की छटा नजर आ रही है। शहर के बाशिंदों ( citizens of jodhpur ) की भावना एेसी है कि राष्ट्रवाद की भावना ( spirit of nationalism ) हिलोरें ले रही है। एेसा पिछले कुछ बरसों से हुआ है कि केवल सरकारी विभागों या शिक्षण संस्थानों में ही नहीं, घर-घर तिरंगा लहरा रहा है। यहां तक कि दुकानों पर कई चीजें तिरंगी ( National flag color goods ) बिक रही हैं। दुकानदार भी चाहे कोई दूसरा आइटम रखें या न रखें, वे तिरंगी सामग्री जरूर रख रहे हैं और यह सामग्री खूब बिक भी रही है।

 



 

 

लाइव रिपोर्ट

जोधपुर. स्वतंत्रता दिवस ( Independence Day ) के मद़्देनजर शहर में हर जगह तिरंगे की छटा नजर आ रही है। शहर के बाशिंदों ( citizens of jodhpur ) की भावना एेसी है कि राष्ट्रवाद की भावना हिलोरें ले रही है। एेसा पिछले कुछ बरसों से हुआ है कि केवल सरकारी विभागों या शिक्षण संस्थानों में ही नहीं, घर-घर तिरंगा लहरा रहा है। यहां तक कि दुकानों पर कई चीजें तिरंगी ( spirit of nationalism ) बिक रही हैं। दुकानदार भी चाहे कोई दूसरा आइटम रखें या न रखें, वे तिरंगी सामग्री ( National flag color goods ) जरूर रख रहे हैं और यह सामग्री खूब बिक भी रही है। इसे यूं कहें तो कोई अतिश्योक्ति नहीं होगी कि जब से आम आदमी को तिरंगा फहराने की अनुमति मिली है, तब से लोगों को देश के प्रति अपना प्रेम अभिव्यक्त करने का तरीका मिल गया है और वे हर चीज तिरंगी बनाने लगे हैं। स्वतंत्रता दिवस से पूर्व पत्रिका टीम ने शहर का जायजा लिया तो यह तस्वीर सामने आई। शहर में छोटे बड़े कई दुकानदारों ने तिरंगा झंडे से लेकर कई चीजें तिरंगी चीजें सजाई हैं। पत्रिका ने तिरंगा सामग्री बेच रहे दुकानदारों और खरीदारों से बात की कि उनका उद्देश्य केवल पैसा कमाना है या राष्ट्रवाद की भावना का प्रचार प्रसार करना है? पेश हैं बातचीत के अंश :

बाजार में यह है तिरंगी छटा
जोधपुर शहर के बाजार में तिरंगा झंडा और तिरंगी झंडी ही नहीं, हर चीज तिरंगी नजर आई। कई लोगों ने तो पंद्रह अगस्त के मद्देनजर केवल यही सामग्री सजाई है। इनमें तिरंगे गुब्बारे,तिरंगी तिरंगी पंखी, तिरंगी लड़ी,तिरंगी बॉल, तिरंगी कैप, तिरंगी मलिंगा कैप, तिरंगा हैट,तिरंगी टी शर्ट, तिरंगे गुब्बारे, तिरंगे फूल, तिरंगे रिस्टबैंड, मैटल का तिरंगा बैच,कपड़े का तिरंगा बैच, तिरंगा रिबन, तिरंगा मफलर, तिरंगी फर्रियां, तिरंगा टेबल फ्लैग, तिरंगा कार फ्लैग, तिरंगा बाइक फ्लैग, तिरंगा स्टिकर, तिरंगी गजरों की लड़ी ही नहीं, तिरंगी माला के अलावा तिरंगे मोदी के मुखौटे भी बाजार में सजे हुए हैं।

देशभक्ति की भावना बढ़ी

हम पंद्रह अगस्त पर देश हित में पिछले साल से यह सामग्री सस्ती बेच रहे हैं। यह केवल व्यापारिक माल नहीं है। यह भावनाओं की बात है। तिरंगी सामग्री आम आदमी को उपलब्ध होने का अधिकार मिलने से देशभक्ति की भावना बढ़ी है। एेसा करने से हमें आत्मसंतोष मिलता है कि चलो किसी बहाने हम भी राष्ट्रवाद की भावना का प्रसार कर सके।
-लवली रामसिंघानीतिरंगा सामग्री विक्रेता, जोधपुर

देश की खातिर कुछ कम कमाया तो क्या?
जब से तिरंगा बाजारों में बेचने और घरों पर लगाने की छूट मिली है, तब से राष्ट्रवाद की भावना बढ़ गई है। पिछले दस बरसों के दौरान आम आदमी की राष्ट्रीय ध्वज तक पहुंच बनी है। शहर के लोग ध्वज फहरा कर खुद को धन्य समझते हैं। हम तिरंगा सामग्री बेचने के दौरान क्वांटिटी पर कन्सेशन दे रहे हैं,यह सोच कर कि एक दिन देश की खातिर कुछ कम कमाया तो क्या, राष्ट्र के लिए हमारा थोड़ा सा ही योगदान तो होगा।-श्यामसुंदर केसवानी

तिरंगा सामग्री विक्रेता, जोधपुर

 

तिरंगे गुब्बारे खरीद रहे हैं
मुझे तिरंगी सामग्री खरीदना अच्छा लगता है। सबका ध्यान देश की ओर लग जाता है। हम पंद्रह अगस्त पर एक बड़ा आयोजन कर सजावट कर रहे हैं। इसके लिए तिरंगे गुब्बारे खरीद रहे हैं।

-रामकृष्ण चौधरी

तिरंगा सामग्री खरीदार

महामंदिर, जोधपुर