स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

अधूरे पड़े सडक़ कार्य से गुस्साए लोग सडक़ पर बैठे, समझाइश के लिए नहीं आया कोई जनप्रतिनिधि

Avinash Kewaliya

Publish: Aug 19, 2019 21:16 PM | Updated: Aug 19, 2019 21:16 PM

Jodhpur

- फुलेराव घाटी का काम अटका है

- चांदपोल गेट पर लगाया लोगों ने जाम

 

जोधपुर. शहर के सूरसागर क्षेत्र को भीतरी शहर से जोडऩे वाली सडक़ फुलेराव घाटी का रास्ता पिछले कई दिनों से बंद है। इसका कारण है यहां मरम्मत के लिए शुरू हुआ काम जो सडक़ खुदाई के बाद बीच में ही रोक दिया गया। पिछले कई दिनों से यह रास्ता बंद है। ऐसे में स्थानीय लोगों का गुस्सा सोमार को फूट पड़ा। चांदपोल गेट के समीप लोगों ने जाम लगा दिया। करीब तीन घंटे तक लोग प्रदर्शन करते रहे, लेकिन न तो कोई जनप्रतिनिधि आए और न ही किसी अधिकारी ने सुध ली। पुलिस अधिकारी मौके पर पहुंचे व समझाइश की।
स्थानीय पार्षद जनक सोनी ने बताया कि इस सडक़ की मरम्मत के लिए एमपी लैड से पांच लाख की राशि स्वीकृत करवाई थी। इस कार्य को सार्वजनिक निर्माण विभाग की ओर से शुरू किया गया था। एक दिन काम चला और बाद में पता चला कि इस सडक़ का मामला पहले से ही एसीबी में लंबित है। इसका कार्य शुरू करने से पहले पीडब्ल्यूडी ने नगर निगम से किसी प्रकार की एनओसी नहीं ली। अब इस एनओसी के फेर में काम रोक दिया गया है। विभागों की खींचतान के फेर में अब काम रुका है। लेकिन खामियाजा जनता भुगत रही है। लोगों को अब लम्बा सफर कर जाना पड़ता है। इस रास्ते से पैदल लोग भी नहीं चल पा रहे हैं। ऐसे में गुस्साए लोग चांदपोल गेट के पास सडक़ पर जाम लगाकर बैठ गए। पुलिस कर्मियों ने समझाइश कर तीन घंटे बाद रास्ता खुलवाया।

नहीं आए जनप्रतिनिधि-अधिकारी
स्थानीय लोगों ने बताया कि इस विरोध प्रदर्शन की जानकारी नगर निगम महापौर से लेकर अधिकारियों को दी गई। लेकिन कोई मौके पर नहीं पहुंचा। कई दिनों से रास्ता बंद है लेकिन स्थानीय सूरसागर विधायक सूर्यकांता व्यास भी हालात जानने नहीं आए। लोगों ने आक्रोश जताते हुए कहा कि यदि जल्द ही यहां काम शुरू नहीं किया गया तो वे अनशन पर बैठने के साथ ही आंदोलन को तेज करेंगे।