स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

किसानों के माथे पर चिंता की लकीरें, दोहरी मार से मुरझा रहे चेहरे

Pawan Kumar Pareek

Publish: Sep 22, 2019 17:27 PM | Updated: Sep 22, 2019 17:27 PM

Jodhpur

इन दिनों खेतों में कीड़ों का प्रकोप बढ़ता ही जा रहा है जो खड़ी फसल को छलनी कर रहे है।

पूनासर (जोधपुर). मौसम की मार झेल रही फसलों को अब कीड़े निगल रहे हैं। इन दिनों गर्म हवा ने किसानों की लहलहा रही अधपकी फसल को मुरझा दिया है, वहीं किसानों के खेतों में कीड़ों का प्रकोप बढ़ता ही जा रहा है जो खड़ी फसल को छलनी कर रहे है। इससे किसानों की चिंता और बढ़ गई है।

मूंगफली, मूंग एवं अरण्डी की फसल में कीटों द्वारा पत्ते खाने से छेद हो रहे है, इससे फसलों के पत्ते पूरी तरह से छलनी हो गए हैं। इस इलाके में अधिकतर मूंगफली, मूंग, मोठ एवं अरण्डी की फसल की बुवाई ही की हुई है।

पटवारियों द्वारा गिरदावरी की जा रही है लेकिन कीटों से नष्ट फसलों का नुकसान नहीं लिखा जा रहा है। क्षेत्र के जैवासर, पूनासर खुर्द, विश्वकर्मा नगर, पीथासर, मुकनासर व पूनासर के किसानों की मांग है कि कीटों से नष्ट फसलों का आकलन कर उचित क्लेम बनाया जाए एवं बीमा कम्पनियों को नुकसान की रिपोर्ट भी भेजी जाए, जिससे बीमित किसानों को बीमा कम्पनी द्वारा लाभ मिल सके।