स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

शुरू हुई नई आवक, नरम पडऩे लगा प्याज

Amit Dave

Publish: Dec 11, 2019 21:44 PM | Updated: Dec 11, 2019 21:44 PM

Jodhpur

- भावों में 20 रुपए तक कमी आई

- गृहणियों ने कहा थोड़ी राहत, और जरूरत

जोधपुर।

प्याज की नई आवक शुरू होने से प्याज के भावों में उतार आया है। पिछले करीब तीन माह से आसमान छू रहा प्याज नरम पडऩे लगा है। पिछले दो दिनों में प्याज के करीब 20 रुपए टूट गए है। जहां होलसेल में 80-95 रुपए व रिटेल में 90-120 रुपए प्रति किलो बिक रहा था, वहीं प्याज मंगलवार को होलसेल में 50-60 रुपए बिका। रिटेल में उपभोक्ताओं को 80-85 रुपए प्रतिकिलो प्याज मिला। सब्जी विक्रेताओं को उम्मीद है कि आने वाले दिनों में प्याज के भावों में कमी आएगी। प्याज के भावों में तेजी से जहां भदवासिया सब्जी मंडी में 1-2 गाड़ी ही प्याज आ रहा था।

-

नासिक की नई व एमपी की फसल की आवक

नासिक की पहली फसल बारिश से खराब हो गई थी। मांग ज्यादा, आपूर्ति कम व पुराना स्टॉक होने की वजह प्याज के भावों में यकायक तेजी आ गई थी। अब नासिक की नई फसल आना शुरू हो गई है। वहीं मध्यप्रदेश के रतलाम, मंदसौर, जावरा, इंदौर की नई फसलों की आवक भी प्याज के उच्चे भावों से राहत दिलाई है। गुजरात के महुआ, भावनगर की फसल से भी भाव कम होने का फायदा मिला है। राजकोट व गोंडल की फसल पहले से आ ही रही है।

---

प्राकृतिक आपदाओं से खराब हुई फसलें

प्याज के प्रमुख उत्पादक क्षेत्रों में बारिश व प्राकृतिक आपदा से प्याज की नई फसल खराब हो गई। इसका सीधा असर विभिन्न क्षेत्रों में प्याज आवक व भावों पर पड़ी है। प्याज की आवक कम हो गई व भावों में तेजी आ गई। एेसे में प्याज लोगों की थाली से गायब हो गया और गृहणियों के आंसु निकाल दिए।

-

जिले में नए प्याज की आवक से मिलेरी राहत

किसानों के अनुसार जिले के 500-1000 हैक्टेयर क्षेत्र में रबी सीजन के प्याज की बुवाई होती है। इसमें भी पौध खराब हो जाने के कारण बुवाई रकबे में कमी अथवा देरी होने की संभावना है। आगामी एक-डेढ माह बाद नए प्याज की आवक शुरू हो जाएगी, इससे काफी राहत मिलेगी।

--

गृहणियां बोली, और कम होने चाहिए भाव

प्याज का सब सब्जियों के साथ कॉम्बिनेशन है। भाव बढऩे से घर के बजट पर असर पड़ रहा था, इसलिए प्याज खरीदना बंद ही कर दिया था। अब प्याज के भाव कम हुए है, लेकिन भावों मे और कमी आनी चाहिए।

रेशमबाला, नौकरी पेशा

---

पिछले करीब 15 दिनों से प्याज नहीं खरीदे। भाव बढऩे से प्याज बंद कर इसके विकल्प के रूप में टमाटर, खीरा आदि लेने शुरू किए। अब भाव कम हुए, पर इससे और कम होने चाहिए।

निरमा गेवा, गृहिणी

-

[MORE_ADVERTISE1]