स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

जितना पानी जलस्रोतों में आया उससे दो गुना पेयजल सप्लाई में चला जाएगा

Avinash Kewaliya

Publish: Aug 18, 2019 20:04 PM | Updated: Aug 18, 2019 20:04 PM

Jodhpur

- राजीव गांधी लिफ्ट केनाल से जीरो इनटेक

- शहर के जलाशयों से आगामी 5 दिनों तक पेयजल सप्लाई

 

जोधपुर.
शहर को पानी पिलाने वाली राजीव गांधी लिफ्ट केनाल फिलहाल बंद है। कारण इसका बालरवा के समीप क्षतिग्रस्त होना है। जलदाय विभाग की ओर से इसकी मरम्मत के प्रयास किए जा रहे हैं। लेकिन करीब तीन-चार दिन का समय इसको ठीक होने में लगेगा, तब तक केनाल से पानी बंद है। ऐसे में अब शहर को पानी पिलाने की जिम्मेदारी कायलाना-तख्तसागर जैसे जलस्रोतों पर आ गई है। खास बात यह है कि इतनी बारिश में भी इन जलाशयों में करीब उतना पानी नहीं आया जितनी उम्मीद थी। जितना आया उसका दोगुना पेयजल सप्लाई में चला जाएगा।

पिछले दो दिन की बारिश से दोनों जलाशयों में करीब 22 एमसीएफटी पानी आया है। लेकिन अब आगामी 4-5 दिन तक इन्हीं जलाशयों से प्रतिदिन 10-12 एमसीएफटी पानी लिया जाएगा। यानि करीब 50-60 एमसीएफटी पानी लिया जाएगा। ऐसे में इन जलाशयों में जितना पानी आया उसका दोगुना से अधिक पानी सप्लाई में चला जाएगा।

25-30 प्रतिशत तक होगी कटौती
लिफ्ट केनाल ठीक होने तक शहर में पेयजल आपूर्ति में करीब 25-30 प्रतिशत तक कटौती हो सकती है। सप्लाई के समय में कटौती की जाएगी। विभाग का कहना है कि गर्मी कम होने से अब घरों में डिमांड कम हो गई है। ऐसे में थोड़ी कटौती कर काम चलाया जा सकता है।

यह है जलाशयों की स्थिति
- कायलाना में 54.4 फीट पानी है।

- तख्तसागर में 48.2 फीट पानी।
दोनों जलाशयों की स्थिति - 247.77 एमसीएफटी पानी है।

- 50 एमसीएफटी पानी यदि पेयजल सप्लाई में उपयोग हुआ तो जमा पानी पुन: 200 एमसीएफटी से नीचे आ जाएगा।

इनका कहना...
अभी केनाल से इनटेक जीरो है। ऐसे में शहरी जलाशयों का पानी ही उपयोग में लेंगे। शहरी जलापूर्ति प्रभावित नहीं होने देंगे।

- दिनेश कुमार पेडीवाल, अधीक्षण अभियंता, जलदाय विभाग जोधपुर।

.............................

फोटो....सुरपुरा बांध की नहर टूटी
सुरपुरा बांध की नहर बीते दिन अज्ञात लोगों ने तोड़ दी। इससे बारिश का अधिकांश पानी खेतों में बह गया। बांध में पानी की आवक ज्यादा नहीं हुई। स्थानीय निवासी राकेश गहलोत, कुशाल गहलोत, अशोक गहलोत और मदन गहलोत सहित अन्य लोगों ने इसकी मरम्मत शुरू की। सुरपुरा बांध के बीच जलदाय विभाग की सप्लाई के लिए डिग्गी बनाई गई है। इसमें पानी की आवक राजीव गांधी लिफ्ट केनाल से होती है।