स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

मुंबई के गुनहगार कसाब का लीडर बनेगा राजस्थान का सोनू़ रणदीप चौधरी?

Jitendra Kumar Yogi

Publish: Nov 04, 2019 12:21 PM | Updated: Nov 05, 2019 12:28 PM

Jhunjhunu

-26 नवबंर 2008 की रात पाकिस्तान के आतंकी संगठन लश्कर-ए-तएबा के 10 आतंकी कोलाबा के समुद्री तट से एक नाव के जरिए भारत में घुसे। पूरी तरह हथियारों से लैस और वेशभूषा ऐसी कि कोई पहचान नहीं पाए।

झुंझुनूं. देश विदेश में चर्चित रहे मुम्बई के आतंकी हमलों के गुनहगार कसाब का लीडर राजस्थान के झुंझुनूं जिले का सोनू रणदीप चौधरी बनेगा। लेकिन यह दोस्त रीयल लाइफ में नहीं बल्कि रील लाइफ का होगा। दरअसल, कोलिंडा का बास का सोनू रणदीप चौधरी मुंबई में हुए आतंकी हमले 26/11 पर बन रही वेब सीरीज ब्लैक टोर्नाडो ; द थ्री सीज ऑफ मुंबई 26/11 में नजर आएगा। कोंटिलो पिक्चर्स प्रोडक्शन कंपनी के बनैर तले प्रोडूयसर अभिमन्यूसिंह और रूपाली सिंह, डायरेक्टर मैथ्यूज की ओर से बनाई जा रही इस वेब सीरीज में मुंबई पर हुए आतंकी हमले के तमाम पहलुओं को दिखाया जाएगा कि किस तरह से मुंबई में आतंक फैलाया गया और इसके प्रति भारतीयों की प्रतिक्रिया क्या रही।इन सारी चीजों को इस वेब सीरीज में दर्शक देख सकेंगे। जिसमें हमारे झुंझुनूं जिले के कोलिंडा का बास का लाडला सोनू रणदीप बतौर इस्माइल की भूमिका में उन आतंकियों में से एक लीडर होता जो हमलों के लिए मुंबई आया था। वह अजमल कसाब के साथ दोस्त की जोड़ी में था। इस्माइल अत्यधिक प्रशिक्षित और आक्रामक आतंकी है और वह आमतौर पर वह कम बोलता है बिल्कुल कसाब के विपरीत। सोनू रणदीप यानि इस्माइल सीएसआर, कामा अस्पताल, दक्षिण मुंबई की सड़कों पर हमलों के लिए जिम्मेदार था और कसाब के साथ उसने तीन एटीएस अधिकारियों को मार डाला था। बाद में इस्माइल यानि सोनू रणदीप गिरगांव चौपाटी पर मारा जाता है, जबकि कसाब को जिंदा पकड़ लिया गया था। यह वेब सीरीज 2019 के आखिर तक लांच करने की तैयारी चल रही है।

11 दिसम्बर 2017 को गया मुंबई
कोलिंडा का बास में जन्म सोनू रणदीप चौधरी पढऩे लिखने के बाद 11 दिसम्बर 2017 को मुंबई गए। जहां पर कई दिनों के संघर्ष के बाद एक कास्टिंग कंपनी ज्वाइन की और इन्हें फराहन अख्तर, प्रियंका चौपड़ा, जारिया वसीम के अलावा आठ-दस फिल्मों में कास्ट डायॅरेक्टर के तौर पर कार्य किया गया। सोनू कई एड फिल्मों व शॉर्ट फिल्मों में काम किया। अब वे कई फिल्मों मे अभिनय कर रहे हैं।

जानिए कब और कैसे हुई थी आतंकी घटना
-26 नवबंर 2008 की रात पाकिस्तान के आतंकी संगठन लश्कर-ए-तएबा के 10 आतंकी कोलाबा के समुद्री तट से एक नाव के जरिए भारत में घुसे। पूरी तरह हथियारों से लैस और वेशभूषा ऐसी कि कोई पहचान नहीं पाए।
रिपोट्र्स के मुताबिक, लोकल मराठी बोलने वाले मछुआरे ने जब उन आतंकवादियों से पूछा कि वो कौन हैं तो उन्होंने उससे अपने काम से काम रखने को कहा और फिर वो 10 आतंकी अलग-अलग दिशाओं में बढ़ गए।
-ये सभी आतंकी दो-दो के ग्रुप में बंट गए और अपनी-अपनी दिशा पकड़ ली। इनमें से दो आतंकियों ने दक्षिणी मुंबई के कोलाबा में स्थित लियोपोल्ड कैफे को निशाना बनाया, दो आतंकियों ने नरीमन हाउस, तो वहीं बाकी आतंकी दो-दो की टोली में छत्रपति शिवाजी टरमिनस, होटल ट्राइडेंट ओबरॉय और ताज होटल की तरफ बढ़ गए।
इसके बाद सभी आतंकियों ने अपनी अपनी गतिविधियों को अंजाम देना शुरू किया।

इन आतंकियों ने अपनी-अपनी लोकेशन पर घुसते ही फायरिंग और धमाके करने शुरू कर दिए। इनसे निपटने के लिए केंद्र की ओर से 200 एनएसजी कमांडो भेजे गए, सेना के भी 50 कमांडो इस ऑपरेशन में शामिल थे। इसके अलावा सेना की पांच टुकडिय़ों को भी वहां भेजा गया।
इस्माइल खान और अजमल कसाब नाम के दो आतंकियों ने सीएसटी यानि छत्रपति शिवाजी टरमिनस को निशाना बनाया। ये दोनों आतंकी पैसेंजर हॉल से अंदर घुसे और अंधाधुंध फायरिंग शुरू कर दी। इस हमले में 58 लोग मारे गए जबकि 104 घायल हो गए। एक रेलवे अनाउंसर ने घोषणा कर वहां से लोगों को निकलने के लिए कहा जिसके चलते कई लोगों की जान बचाई जा सकी।
इस फायरिंग में आतंकियों ने 8 पुलिस अफसरों को मार गिराया। जिसके बाद दोनों आतंकी कामा अस्पताल की तरफ बढ़े। मकसद था मरीजों और अस्पताल के स्टाफ को मारना, लेकिन मरीजों के वार्डों को पहले ही लॉक कर दिया गया।
छत्रपति शिवाजी टरमिनस पर मुंबई एंटी टेरेरिस्ट स्केव्ड के हेमंत करकरे, विजय सालस्कर और अशोक काम्टे ने कमान संभाल ली और दोनों आतंकी अजमल कसाब और इस्माइल खान की तलाश में निकल पड़े। दोनो आतंकियों ने एंटी टेरेरिस्ट स्केव्ड की टीम को देख फायरिंग शुरू कर दी। दोनों तरफ से जोरदार फायरिंग हुई जिसमें हेमंत करकरे, विजय सालस्कर और अशोक काम्टे शहीद हो गए।
ताज होटल में करीब 6 बम धमाके किए गए - इनमें से एक लॉबी में, दो एलिवेटर्स पर, तीन रेस्टोरेंट में और एक ओबरॉय ट्राइडेंट में।

[MORE_ADVERTISE1]