स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

मंडावा में सड़क पर पड़े रहे नवाजुद्दीन सिद्दकी

Gunjan Shekhawat

Publish: Sep 13, 2019 12:25 PM | Updated: Sep 13, 2019 12:25 PM

Jhunjhunu

jhunjhunu news: मंडावा. कस्बे में चल रही फि ल्म बोले चूडिय़ां की शूटिंग वार्ड 15 के आम रास्ते में हुई। शूटिंग में अभिनेता नवाजुद्दीन सिद्दकी की बदमाशों द्वारा मारपीट के दृश्य फि ल्माए गए। जिसमें बदमाश सिद्दकी को लात घूंसे मारकर आम रास्ते में पटकर भाग गए। बदमाशों के जाने के बाद सड़क पर पड़े सिद्दकी को देखकर फि ल्म में अपनी भूमिका निभा रहे राजपाल यादव ने संभाला।

मंडावा. कस्बे में चल रही फि ल्म बोले चूडिय़ां की शूटिंग वार्ड 15 के आम रास्ते में हुई। शूटिंग में अभिनेता नवाजुद्दीन सिद्दकी की बदमाशों द्वारा मारपीट के दृश्य फि ल्माए गए। जिसमें बदमाश सिद्दकी को लात घूंसे मारकर आम रास्ते में पटकर भाग गए। बदमाशों के जाने के बाद सड़क पर पड़े सिद्दकी को देखकर फि ल्म में अपनी भूमिका निभा रहे राजपाल यादव ने संभाला। मारपीट के दौरान वहां मौजूद भीड़ को उलाहना देते हुए राजपाल यादव ने कहा कि आप खड़े खड़े क्या तमाशा देख रहे हो बचा नहीं सकते भाऊ को। इसके अलावा कुछ अन्य दृश्य भी फिल्माए गए। दिन भर लाइट, कैमरा, एक्शन, कट, ओके के शब्द गूंजते रहे।

गोठड़ा में किसान संघर्ष समिति की बैठक


नवलगढ़. भूमि अधिग्रहण विरोधी किसान संघर्ष समिति की बैठक गुरुवार को गांव गोठड़ा में झाझड़ रोड पर स्थित जय गुरुदेव आश्रम में हुई।समिति संयोजक कैप्टन दीपसिंह शेखावत ने कहा किसानों की आम सहमति के बिना उनकी जमीनें लेने का प्रयास किया जा रहा है। इसको कतई सहन नहीं किया जाएगा। सीमेंट कम्पनियों को किसी भी हाल में जमीनें नहीं देंगे। श्रीराम डूडी ने कहा कि सीमेंट प्लांट लग गए तो यहां के लोगों का रहना दुष्वार हो जाएगा। बैठक को नोरंग दूत, महेश यादव, कार्यवाहक संयोजक कैलाश यादव, पूर्वसरपंच सांवर मल, बोदूराम, हरिराम सोगण, श्रीराम डूडी, श्रीचन्द गाड़ोदिया, फूलचन्द ढेवा, गोरधन सिंह निठारवाल आदि ने भी सम्बोधित किया। इस दौरान मामले को लेकर शीघ्र ही उच्च न्यायालय में अपील लगाने का निर्णय किया गया। इसके लिए बैठक में मौजूद किसानों ने सहयोग स्वरूप राशि प्रदान की। बैठक में सूबेदार मदन सिंह, कुन्दन सिंह, सुबेदार नन्दलाल, सूबेदार शिवदान सिंह, बीरबल राम खेरवा, सांवर मल कुमावत, सुमेर सिंह सुरजनपुरा, मामराज ओला, चिमनाराम ओला, कुंभाराम डाबड़, सुबेदार गोकुल सिंह, बनवारी लाल, ओमप्रकाश राबड़, निवास, श्यामलाल भाखरिया, रतिराम, महावीर डोटासरा, खमाणाराम सूण्डा, रामरतन कालीरावणा, अरुण सेन, घासीराम योगी, मंगेजनाथ योगी तथा समिति की महिला अध्यक्ष परमेश्वरी ओला के अलावा महिलाओं ने भी भाग लिया।