स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

40 हजार लोग कर रहे हैं रेल से सफर, फिर भी नहीं चल रही नई रेल

Gunjan Shekhawat

Publish: Aug 12, 2019 12:09 PM | Updated: Aug 12, 2019 12:09 PM

Jhunjhunu

jhunjhunu Train News: झुंझुनूं. झुंझुनूं. जिले के लिए नई रेल सपना बनी हुई है। जिला मुख्यालय स्थित झुंझुनूं रेलवे स्टेशन से प्रति माह करीब 40 हजार लोग सफर कर रहे हैं, फिर भी ना तो इस और रेलवे मंडल कोई ध्यान दे रहा है और ना ही जनप्रतिनिधि इस मुद्दे को उठा रहे हैं, जिसके चलते झुंझुनूं वासियों को बसों में महंगा सफर करना पड़ रहा है। वर्तमान में जो रेल चल रही है उसकी समय सारणी भी सही नहीं होने से झुंझुनूं जिले के लोगों को पूरा लाभ नहीं मिल पा रहा है।

झुंझुनूं. झुंझुनंूं जिले के लिए नई रेल सपना बनी हुई है। जिला मुख्यालय स्थित झुंझुनूं रेलवे स्टेशन से प्रति माह करीब 40 हजार लोग सफर कर रहे हैं, फिर भी ना तो इस और रेलवे मंडल कोई ध्यान दे रहा है और ना ही जनप्रतिनिधि इस मुद्दे को उठा रहे हैं, जिसके चलते झुंझुनूं वासियों को बसों में महंगा सफर करना पड़ रहा है। वर्तमान में जो रेल चल रही है उसकी समय सारणी भी सही नहीं होने से झुंझुनूं जिले के लोगों को पूरा लाभ नहीं मिल पा रहा है।

ये रहा यात्री भार
माह यात्री
जनवरी 36189
फरवरी 33557
मार्च 37814
अप्रेल 38372
मई 40805
जून 40505
जुलाई 32160

जयपुर के लिए नहीं रेल, दिल्ली के लिए भी नियमित रेल नहीं
झुंझुनूं से जयपुर के लिए कोई रेल नहीं है। यहां से सप्ताह में तीन दिन रींगस के लिए रेल है। बाद में जयपुर जाने वाले यात्री को रींगस से बस के द्वारा आगे का सफर करना करना पड़त है। वहीं दिल्ली के लिए भी कोई नियमित रेल नहीं है।
वर्तमान में जो रेल चल रही है उसका समय यात्रियों के अनुकूल नहीं होने से रेल का पूरा लाभ झुंझुनूं वासी नहीं उठा पा रहे हैं। जिलेवासी कई बार समय सारणी में सुधार करने की मांग को लेकर रेलवे मंडल के उच्च अधिकारियों को ज्ञापन भी दे चुके हैं। वहीं अगर नई रेल शुरू होती है तो यात्री भार में बढ़ोत्तरी होगी।
ढहर का बालाजी तक रेल चलाने की घोषणा, लेकिन नहीं चली रेल
रेलवे मंडल की ओर सप्ताह में तीन दिन चलने वाली रेल को रींगस से बढ़कार ढहर का बालाजी जयपुर तक करने की घोषणा करते हुए समय सारणी जारी की। लेकिन तिथि तय नहीं की। करीब ढाई माह गुजरने के बादभी अभी तक रेलवे ढहर का बालाजी तक ट्रेन चलाने की तिथि तय नहीं कर पाया है। इससे जिले के लोगों को बसो में सफर करना पड़ रहा है।