स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

बुहाना में इस बात पर को लेकर मेलनर्स एवं जीएनएम के बीच चले जमकर लात-घूंसे

manish mishra

Publish: Jul 17, 2019 23:14 PM | Updated: Jul 17, 2019 23:14 PM

Jhunjhunu

बुहाना. जीएनएम एवं मेलनर्स ने परस्पर एक दूसरे के खिलाफ पुलिस में शिकायत दी है।

बुहाना. कस्बे के सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र, बुहाना में कार्यरत जीएनएम एवं मेल नर्स के बीच बुधवार को सुबह की पानी में जमकर विवाद हुआ। विवाद में महिला जीएनएम एवं मेल नर्स के बीच लात-घूंसे भी चले। महिला जीएनएम के साथ मेलनर्स ने लज्जाभंग करने का आरोप लगाया है। विवाद का कारण जीएनएम की डयूटी लगाने को लेकर हुआ। केन्द्र के अन्य कर्मचारियों ने मौके पर पहुंच कर दोनों को शांत किया।

 

 

जीएनएम एवं मेलनर्स ने परस्पर एक दूसरे के खिलाफ पुलिस में शिकायत दी है। प्राप्त जानकारी के अनुसार पूनम शर्मा सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र बुहाना में गत चार साल से जीएनएम के पद पर कार्यरत है। बुधवार को सुबह मेल नर्स प्रथम ओमप्रकाश के अवकाश पर होने के कारण वह अपने इंचार्ज मेलनर्स द्वितीय पवन कुमार से डयूटी पूछने गई थी। मेलनर्स पवन कुमार ने जीएनएम पूनम शर्मा की डयूटी रात को लगानी की बात कही। इस पर पूनम शर्मा ने कहा कि आप मेरी ही रात को डयूटी क्यों लगाते हो।

 


रोस्टर के हिसाब से उसकी डयूटी लगनी चाहिए। रात की डयूटी के बारे में मेलनर्स पवन कुमार ने जीएनएम से अशोभनीय शब्दों का इस्तेमाल किया। इस बात को लेकर मेलनर्स पवन कुमार एवं जीएनएम पूनम शर्मा के बीच विवाद हो गया। विवाद इतना बढ़ा की दोनों में लात-घूंसे चल गए। जीएनएम का आरोप है कि झगड़े के दौरान मेलनर्स पवन कुमार ने उसकी लज्जाभंग की। पुलिस ने जीएनएम की लिखित शिकायत लेकर मामले की जांच शुरू कर दी है। उधर, मेलनर्स पवन कुमार की तरफ से भी पुलिस में मारपीट करने की शिकायत जीएनएम के खिलाफ दी गई है। विवाद के कारण सरकारी अस्पताल में उपचार के लिए आए रोगियों को परेशानी हुई।

 


कार्य बहिष्कार से मरीज परेशान
सरकारी अस्पताल में कार्यरत जीएनएम एवं मेलनर्स के बीच हुए झगड़े के बाद बुधवार को ओपीडी के लिए बनाए जाने वाली पर्ची काऊंटर को बंद कर दिया गया। काऊंटर बंद होने के कारण उपचार के लिए आए मरीजों को परेशानी हुई। काऊंटर पर कार्य करने वाले कार्मिकों ने कार्य का बहिष्कार कर दिया। कार्य बहिष्कार के कारण दूर-दराज से उपचार के लिए आए मरीजों को बैरंग लौटना पड़ा। नर्सिगकर्मियों की आपसी विवाद का खामियाजा मरीजों का भुगतना पड़ा।

 


बीसीएमओ के आदेश की अनदेखी
जीएनएम पूनम शर्मा केन्द्र में दवा वितरण का काम देखती है। उसकी नियमित रात को डयूटी लगने पर उसने सीएमएचओ को शिकायत की थी। सीएमएचओ ने पन्द्रह दिन पूर्व आदेश निकाल कर रोस्टर के हिसाब से जीएनएम की डयूटी लगाने के आदेश दिए थे। उस आदेश की भी अवहेलना करके जीएनएम पूनम शर्मा को परेशान किया जा रहा था। बाद में उस आदेश को राजनैतिक प्रभाव के कारण विभाग के स्थानीय अधिकारियों ने उसे लागू नहीं किया।