स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

पुष्पेंद्र यादव के एनकाउंटर के बाद परिवार पर आई एक और आफत, एक और मौत से कोहराम

Hariom Dwivedi

Publish: Oct 13, 2019 13:25 PM | Updated: Oct 13, 2019 13:28 PM

Jhansi

झांसी एनकाउंटर केस : पुष्पेंद्र यादव की एनकाउंटर पर अखिलेश यादव ने उठाये थे सवाल

झांसी. छह अक्टूबर को पुलिस एनकाउंटर में मारे गये पुष्पेंद्र यादव के परिजन अभी बेटे की मौत से उबरे नहीं थी कि रविवार मृतक की 90 वर्षीय दादी भी परलोक सिधार गईं। परिजनों का कहना कि वह पुष्पेंद्र की मौत का सदमा नहीं बर्दाश्त कर पाईं, जिसके कारण उनकी मौत हो गई। पुष्पेंद्र की मौत के बाद से वह लगातार रोये जा रही थीं। रविवार सुबह उन्होंने अंतिम सांस ली। एक हफ्ते में पुष्पेंद्र के परिवार में हुई दो मौतों से पूरा गांव में शोक की लहर है। दादी की मौत की खबर फैलते ही सुबह से ही पुष्पेंद्र के घर में लोगों का तांता लगा रहा।

छह अक्टूबर की सुबह झांसी पुलिस ने पुष्पेंद्र यादव को मार गिराया। पुलिस के मुताबिक, पुष्पेंद्र ने मोठ इंस्पेक्टर पर गोली चलाई थी। इसके बाद पुलिस की जवाबी कार्रवाई में गोली से लगने से वह घायल हुआ था। अस्पताल ले जाते समय उसकी मौत हो गई थी। समाजवादी पार्टी सहित विपक्षी दलों ने पुलिस के बयान को खारिज करते हुए इसे फर्जी एनकाउंटर करार दिया। सपा प्रमुख अखिलेश यादव पीड़ित परिवार से मिलने मृतक के गांव गये थे और हर संभव मदद का भरोसा दिलाया।

यह भी पढ़ें : पुष्पेंद्र यादव के परिजनों से मिलने पहुंचे अखिलेश यादव, कहा- जनता की आवाज को बूटों तले रौंद रही यूपी सरकार