स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

योगी सरकार की किसानों को बड़ी सौगात, अब किसान ही मिलेगा ये पद, निर्वाचन प्रक्रिया शुरू

Brij Kishore Gupta

Publish: Aug 09, 2019 13:12 PM | Updated: Aug 09, 2019 13:12 PM

Jhansi

व्यापारी और पल्लेदार भी होंगे सदस्य

झांसी। योगी सरकार ने किसानों के लिए बड़ी सौगात दी है। इसके तहत अब केवल किसानों को ही मंडी समिति के अध्यक्ष का पद मिल सकता है। वही, यहां मंडी में फसल लाने वाले किसानों की समस्याओं का निराकरण करेगा। शासन के निर्देश पर मंडी समितियों में निर्वाचन प्रक्रिया कराई जा रही है। इसके लिए उपजिलाधिकारी राजकुमार को अधिकृत किया गया है। निर्वाचन प्रक्रिया में ऐसे किसानों को शामिल किया जाएगा, जिन्होंने वर्ष २०१६ से २०१९ तक अधिक आवक (फसल उत्पाद) उपलब्ध कराए होंगे। इसमें सबसे महत्वपूर्ण बात यह है कि अभी तक मंडी समिति के अध्यक्ष के रूप में जिलाधिकारी रहे हैं।

ऐसी होगी प्रक्रिया

मंडी समितियों में निर्वाचन की प्रक्रिया को शुरू कराने के लिए उपजिलाधिकारी को नामित किया गया है। इसके बाद ३० अगस्त तक मंडी में उपज लाने वाले किसानों के सिक्स (६) आर वाउचर देखे जाएंगे। अधिक उपज लाने वाले किसान को निर्वाचन सूची में शामिल किया जाएगा। इसके साथ ही ऐसे व्यापारियों की सूची तैयार की जा रही है, जिन्होंने ३ वर्ष में अधिक मंडी शुल्क दिया है। ३१ अगस्त को अंतिम सूची जारी की जाएगी। सात सितंबर तक आपत्तियां दर्ज कराई जा सकेंगी। १६ सितंबर तक आपत्तियों का निराकरण किया जाएगा। इसके बाद तमाम प्रक्रिया से गुजरने के बाद ९ अक्टूबर को राज्य सरकार को सूची भेजी जाएगी। वहीं से मंडी समिति के अध्यक्ष की घोषणा की जाएगी।

ये भी होंगे सदस्य

कृषि उत्पादन मंडी समिति के सचिव पंकज कुमार शर्मा ने बताया कि निर्वाचन प्रक्रिया में शामिल होने वाले किसानों की तीन श्रेणी के आधार पर सूची तैयार होगी। इसमें बड़े, लघु और सीमांत किसान शामिल होंगे। इसके लिए तीस-तीस किसानों की सूची मुख्यालय भेजी जाएगी। समिति में सबसे अधिक मंडी शुल्क जमा करने वाले व्यापारियों को सदस्य बनाया जाएगा। इसके साथ ही पल्लेदार, तोलक, मंडी के सामान्य मजदूर यूनियन के एक प्रतिनिधि को सदस्य बनाया जाएगा।