स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

मलेरिया, चिकनगुनिया और डेंगू से बचाव के लिए करें ये काम

Brij Kishore Gupta

Publish: Aug 27, 2019 08:01 AM | Updated: Aug 26, 2019 23:42 PM

Jhansi

जनपद में डेंगू के 2 मरीज और मलेरिया के 51 मरीज मिले हैं।

झांसी। जिले में हो रही लगातार बारिश से हर तरफ पानी और उमस है। ऐसे मौसम में मच्छर जनित रोग जैसे मलेरिया, डेंगू, चिकनगुनिया फैलने के अधिक आसार रहते हैं। इन्ही सब बीमारियों को देखते हुए संचारी रोगों पर रोकथाम के लिए जनपद में दो सितंबर से विशेष संचारी रोग नियंत्रण अभियान का तीसरा चरण शुरू होगा। इससे पहले मई और जुलाई माह में भी पहला और दूसरा चरण हो चुका है। इस वर्ष (जनवरी 2019 से जुलाई 2019 तक) जनपद में डेंगू के 2 मरीज और मलेरिया के 51 मरीज मिले हैं।

ग्यारह विभाग मिलकर करेंगे काम

जिला मलेरिया अधिकारी डा आर के गुप्ता ने बताया इस अभियान के लिए 11 विभाग मिल कर काम करेंगे। इसमें शिक्षा विभाग से स्कूल के एक शिक्षक को संचारी रोगो के नियंत्रण के लिए उन्हें प्रशिक्षित किया जाएगा। उन्होंने बताया कि शिक्षा विभाग का केंद्रीय ध्यान और जागरूकता बच्चों की व्यक्तिगत स्वछता और खाने से पूर्व और शौच के बाद हाथ धोने में रहेगा। उन्होंने बताया कि मच्छरों से बचने के लिए अगस्त से नवम्बर तक पूरी बांह के कपड़े पहने और आस पास सफाई रखें।

इनसे फैलती हैं बीमारियां

इस अभियान के अंतर्गत पंचायती विभाग द्वारा शौचालयों का निर्माण कराना और नाली की सफाई सुनिश्चित करना ताकि मच्छरों का जमावड़ा कम से कम हो सके। बारिश के मौसम में गंदगी रुकने से अक्सर नालियां जाम हो जाती हैं और परिणाम स्वरूप इन जाम नालियों में मच्छर पैदा होते हैं और बीमारियां फैलाते हैं। साथ ही पशु पालन विभाग द्वारा पशु बाड़ों की स्वच्छता, कचरा निस्तारण कराना। साफ़ सफ़ाई, कीटनाशक छिड़काव एवं जाली से ढकने हेतु प्रशिक्षित किया जाना। महिला एवं बाल विकास विभाग की आंगनवाड़ी कार्यकर्ता को संचारी रोगों हेतु प्रशिक्षण दिया जाएगा। आंगनवाड़ी कार्यकर्ता द्वारा अपने क्षेत्र के समस्त कुपोषित तथा अति कुपोषित बच्चों की सूची बनाकर उनको उचित पोषाहार उपलब्ध कराना तथा आवश्यकता होने पर पोषण पुनर्वास केंद्र पर उपचार तथा पोषण पुनर्वास केंद हेतु भेजा जाएगा।