स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

इंजीनियरिंग की तैयारी करते-करते करने लगा गलत काम, पकड़े जाने पर बोला- प्रेमिका को बताया तो कर लूंगा आत्महत्या

Brij Kishore Gupta

Publish: Jul 17, 2019 14:47 PM | Updated: Jul 17, 2019 14:47 PM

Jhansi

गांजे की तस्करी करते पकड़ा गया स्टूडेंट

ट्रॉली बैग में रखा था दस किलो से ज्यादा गांजा
हैदराबाद से दिल्ली भेजने पर मिलते थे दस हजार रुपये

झांसी। इंजीनियरिंग की तैयारी करने वाला एक स्टूडेंट पैसों की खातिर गांजा तस्कर बन गया। वह रेलवे से हैदराबाद से दिल्ली गांजा सप्लाई करने लगा। इसके एवज में उसे एक बार में दस हजार रुपये मिलते थे। यहां रेलवे स्टेशऩ पर रेलवे पुलिस द्वारा पकड़े जाने पर उसके पास से दस किलो से ज्यादा गांजा बरामद हुआ। पकड़े जाने के बाद उसने रेलवे पुलिस से कहा कि अगर इसकी सूचना उनकी प्रेमिका तक पहुंचाई गई, तो वह आत्महत्या कर लेगा।

रेलवे पुलिस अफसरों के निर्देश पर जीआरपी इंस्पेक्टर अजीत कुमार सिंह अपने स्टाफ के साथ रेलवे स्टेशन पर संदिग्ध लोगों की तलाश में लगे हुए थे। तभी सूचना मिली कि प्लेटफॉर्म नंबर 4/5 पर एक युवक ट्रॉली बैग लेकर खड़ा है। वह दिल्ली जाने वाली ट्रेन का इंतजार कर रहा है। इसके पास में जो ट्रॉली बैग है, उस बैग में गांजा भरा हुआ है। इस सूचना पर गई टीम ने घेराबंदी कर उक्त युवक को मय ट्रॉली बैग समेत पकड़ लिया। युवक ने पकड़े जाने का विरोध किया। बाद में ट्रॉली बैग खोलकर देखा गया तो उसके अंदर गांजे के पैकेट रखे हुए थे। जीआरपी इंस्पेक्टर अजीत कुमार सिंह के मुताबिक आन्ध्र प्रदेश के जिला नैल्लूर के थाना कावली 2-11-26 ए पालड़ गुबारी निवासी टी शिवकुमार को गिरफ्तार किया गया है। उसके पास से ट्रॉली बैग से दस किलो 250 ग्राम गांजा बरामद किया गया।
सिविल इंजीनियरिंग की कर रहा था तैयारी
गांजा समेत गिरफ्तार किए गए आरोपी टी. शिवकुमार ने बताया कि वह 2017 से हैदराबाद में स्थित आईईएस कोचिंग में सिविल इंजीनियरिंग की तैयारी कर रहा था। उसका कहना है कि सिविल इंजीनियरिंग की तैयारी के लिए पैसों की जरुरत थी। इसी बीच हैदराबाद में रहने वाले युवकों से संपर्क हुआ। युवकों ने उसे बताया कि एक बार गांजा भेजने के लिए दस हजार रुपये मिलेंगे। तब से दो बार वह गांजा की खेप हैदराबाद से दिल्ली भेज चुका है। वह हैदराबाद से झांसी आया था। यहां से ट्रेन बदलकर दिल्ली जाना था। टी. शिवकुमार का कहना है कि जहां पर कोचिंग करता हैं, वहां पर उसकी प्रेमिका भी कोचिंग करती है। कभी कभार प्रेमिका भी पैसा खर्च कर देती थी मगर इसकी जानकारी नहीं थी। उसका कहना है कि गांजा तस्करी की जानकारी उसके परिजनों व प्रेमिका को पता चली तो वह सुसाइड कर लेगा।