स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

यहां हर साल तैयार होता है 18 लाख किलो मीट, इन देशों में होता है सप्लाई

Brij Kishore Gupta

Publish: Aug 21, 2019 22:41 PM | Updated: Aug 21, 2019 22:41 PM

Jhansi

बुंदेलखंड यूनिवर्सिटी के फूड टेक्नोलॉजी इंस्टीट्यूट के स्टूडेंट्स ने मीट व दुग्ध प्रसंस्करण इकाइयों को विजिट किया

झांसी। बुन्देलखण्ड विश्वविद्यालय परिसर में संचालित खाद्य प्रौद्योगिकी संस्थान के बी.एस-सी. प्रथम वर्ष के छात्र-छात्राओं ने झांसी क्षेत्र में स्थित विभिन्न खाद्य प्रसंस्करण इकाइयों का भ्रमण किया। इस दौरान छात्र-छात्राओं ने झांसी के भगवंतपुरा में निर्यात पर आधारित मीट प्रसंस्करण संयंत्र का भ्रमण किया। यहां पर प्रतिवर्ष लगभग अठारह लाख किलो मीट का उत्पादन किया जाता है। इस प्रसंस्करण उद्योग के महाप्रबंधक जावेद अहमद द्वारा मीट प्रसंस्करण उद्योग में प्रयोग होने वाली विभिन्न नवीनतम मशीनों के बारे मे जानकरी देते हुए मीट की गुणवत्ता बनाये रखने तथा पैकेजिंग के साथ मीट प्रसंस्करण उद्योग की अन्य विधाओं के बारे में छात्र-छात्राअें को अवगत कराया। उन्होंने बताया कि झांसी स्थित इस मीट प्रसंस्करण उद्योग से वियतनाम, सऊदी अरब सहित विश्व के कई देशों को प्रसंस्करण के पश्चात मीट का निर्यात किया जाता है।

दुग्ध उत्पादन इकाई का भ्रमण किया

इस दौरान स्टूडेंट्स ने कानपुर रोड में स्थित पराग डेयरी के प्लांट में दूध के संकलन, प्रसंस्करण, पैकेजिंग एवं क्वालिटी कंट्रोल से संबंधित विभिन्न तकनीकों के बारे में जानकारी प्राप्त की। पराग डेयरी प्लांट के मैनेजर ने भ्रमणकारी छात्र-छात्राओं को दुग्ध प्रसंस्करण, पैकेजिंग एवं क्वालिटी कंट्रोल के क्षेत्र में आये नवीनतम परिवर्तनों के बारे में विस्तृत जानकारी दी। इसके अलावा छात्र छात्राओं ने बिजौली औद्योगिक क्षेत्र में तीन अन्य उद्योगों का भ्रमण किया। इसमें खाद्य पदार्थों की पैकेजिंग में प्रयोग होने वाली सामग्रियों का निर्माण करने वाली औद्योगिक इकाई एवं नमकीन का निर्माण करने वाली इकाई का भ्रमण किया गया।

जारी रहेंगे औद्योगिक भ्रमण

इस अवसर पर खाद्य प्रौद्योगिकी संस्थान के विभागाध्यक्ष डा.डी.के.भट्ट ने जानकारी दी कि खाद्य टेक्नोलाॅजी संस्थान के छात्रों के लिए विभिन्न प्रकार की खाद्य प्रसंस्करण इकाईयों का औद्योगिक भ्रमण बी.एस-सी.प्रथम वर्ष के छात्र-छात्राओं के प्रशिक्षण का आवश्यक भाग है। उन्होंने कहा कि अभी छात्रों को अन्य विभिन्न प्रकार की खाद्य प्रसंस्करण इकाईयों के औद्योगिक भ्रमण हेतु ले जाया जायेगा। इस अवसर पर कि बुन्देलखण्ड विश्वविद्यालय के पूर्व कुलसचिव चंद्रपाल तिवारी, आशीष, प्रज्ञा सोनम, विभाग के पूर्व छात्र बिलाल अहमद आदि उपस्थित रहे।