स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

इन जिलों के अस्पताल बनेंगे बेबी फ्रेंडली, यहां चिह्नित हो रहे सबसे कम वजन के बच्चे

Brij Kishore Gupta

Publish: Aug 15, 2019 22:10 PM | Updated: Aug 15, 2019 22:10 PM

Jhansi

झांसी और जालौन जिले के अस्पतालों को बेबी फ्रेंडली बनाने की कवायद चल रही है।

झांसी। अपर निदेशक डा सुमन बाबू मिश्रा और संयुक्त अपर निदेशक डा रेखारानी की अध्यक्षता में आयोजित मण्डल स्तरीय पार्टनर्स के कार्यक्रम में बताया गया कि मंडल के झांसी और जालौन जिले के अस्पतालों को बेबी फ्रेंडली बनाने की कवायद चल रही है। इसके अलावा झांसी जिले के बामौर ब्लाक में सबसे ज्यादा कम वजन के बच्चे चिह्नित होने की बात भी सामने आई। इस संबंध में अधिकारियों की ओर से दिशा-निर्देश जारी किए गए।

बामौर ब्लाक में है ऐसी स्थिति

इस अवसर पर उपस्थित सभी पार्टनर्स एनजीओ ने अपने अपने कार्य का प्रस्तुतिकरण किया। इसमें यूनिसेफ़ से आए प्रतिनिधि सुनील चौधरी ने बताया कि गृह आधारित नवजात शिशु देखभाल कार्यक्रम के अंतर्गत बामौर ऐसा ब्लॉक है जहां सबसे ज्यादा कम वजन के बच्चों का चिन्हिकरण हो रहा है। इसी के साथ कुछ ब्लॉक ऐसे भी है जहां कार्यक्रम सुचारु रूप से नहीं चल पा रहा है। इस पर अपर निदेशक ने निर्देश दिया कि वह इनकी एक सूची बनाकर उपलब्ध करायें जिससे कि संबन्धित व्यक्ति को पत्र के माध्यम से निर्देश दिया जाएं।

दोगुनी हुई पुरुष नसबंदी की संख्या

इस अवसर पर पीएसआई के प्रतिनिधि अशोक भारती ने बताया कि जनपद में पुरुष नसबंदी का ग्राफ पिछले वर्ष की अपेक्षा बढ़ा है, जहां पिछले वर्ष परिवार नियोजन पखवाड़ा में 20 पुरुषों ने नसबंदी करवाई थी वही इस बार पखवाड़ा में 40 पुरुषों ने नसबंदी करवाई है।इस अवसर पर यूनिसेफ़ के पोषण कार्यक्रम के प्रतिनिधि संजय ने बताया कि ललितपुर महिला अस्पताल को पहले से ही बेबी फ्रेंडली हॉस्पिटल इनिसिएटिव के अंतर्गत पुरुस्कृत किया जा चुका है। इस बार जालौन और झांसी के जिला महिला अस्पताल को बेबी फ्रेंडली बनाने के लिए प्रयास किया जा रहे हैं। इस वर्ष के अंत तक उसमें भी बेहतर बदलाव की उम्मीद है।

अपर निदेशक ने निर्देश दिये कि सभी पार्टनर एनजीओ जमीनी स्तर पर बेहतर सेवाएं देने में भी सहयोग दें, जहां भी सुधार की जरूरत है उसके लिए अपर निदेशक कार्यालय में संपर्क कर संबन्धित अधिकारी के लिए पत्र जारी करायें। इस अवसर पर डबल्यूएचओ, यूनिसेफ़, एविडेन्स एक्शन, पीएसआई, यूएनडीपी, एचएलएफ़पीपीटी, सीएफ़एआर के प्रतिनिधि उपस्थित रहे। इसका संचालन सिफ़प्सा के मण्डल कार्यक्रम प्रबन्धक आनंद चौबे के द्वारा किया गया।