स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

सरपट दौड़ रहे हजारों वाहन, पार्किंग एक भी नहीं

Arun Tripathi

Publish: Dec 14, 2019 15:41 PM | Updated: Dec 14, 2019 15:41 PM

Jhalawar

सड़क किनारे खड़ी गाडिय़ों से दिन में कई बार लग रहा जाम

झालरापाटन. 40 हजार की आबादी और हजारों वाहनों की रोजाना आवाजाही होने के बावजूद नगर में वाहनों को खड़ा करने के लिए एक भी पार्किंग की व्यवस्था नहीं है। गलियों और सड़कों से गुजरते लोगों का हाल जो भी हो, जाम लगता है तो लगे, वाहन टकराएं तो टकराएं, कोई गिरे तो गिरे, लेकिन इसकी फिक्र प्रशासन को नहीं है।
हालात यह है कि नगर में एक दर्जन से अधिक बैंक की शाखाएं, कई विद्यालय व निजी कोचिंग संस्थान होने के बाद भी इनके पास पार्किंग के बंदोबस्त नहीं हैं। इससे वाहन खड़े होने के बाद 30 से 40 फीट की सड़क महज 20 फीट की ही बचती है। स्कूल की छुट्टी होने के बाद मुख्य बाजार सहित अन्य सड़कों पर वाहनों का जमघट लग जाता है, इससे बार-बार जाम की नौबत आती है। नगर परकोटे के अंदर तंग गलियों में बेतरतीब वाहनों की पार्किंग से न सिर्फ राह से गुजरने वाले लोग व वाहन चालक परेशान हो रहे हैं, बल्कि आसपास रहने वाले लोगों के लिए भी यह मुसीबत बने हुए हैं। सीएलजी की बैठक के साथ ही सोश्यल मीडिया पर रोजाना यह मुद्दा उठाने के बावजूद प्रशासन पर असर नहीं होता। शिकायत के बाद कुछ दिन हालात ठीक हो जाते हैं, फिर वहीं ढपली वहीं राग शुरू हो जाता है।
-सारी सुविधाएं बस पार्किंग ही नहीं
पार्किंग की सुविधा न सिर्फ नगरपालिका बल्कि किसी भी बैंक शाखा, निजी स्कूल के पास नहीं हैं। बैंक शाखाओं में गार्ड तैनात हैं, इसके बावजूद यह गार्ड शाखा के बाहर खड़े होने वाले वाहनों को व्यवस्थित तरीके से खड़े कराने की जहमत नहीं उठाते। इसके चलते कई बार आपातकालीन रोगियों को ले जाने वाले वाहन भी यहां जाम में अटक जाते हैं।
-यहां दिनभर जाम
बस स्टैण्ड से लेकर गिन्दौर दरवाजा, नगर परकोटे के अंदर, सूरजपोल दरवाजा अंदर बाहर, लंका दरवाजा के अंदर बाहर जगह-जगह सड़क पर दुकानदारों के अतिक्रमण के कारण दिनभर जाम के हालात बनते हैं।
-समय समय पर यातायात व्यवस्था में सुधार के लिए प्रयास किए जाते हंै। इसके बावजूद दुकानदारों के फिर से सड़क पर आने से परेशानी आती है, अब सख्ती की जाएगी।
जगदीश प्रसाद मीणा, सीआई, झालरापाटन

झूमकी में सफाई की उचित व्यवस्था नहीं
-स्वच्छता अभियान बेअसर
झालरापाटन. स्वच्छता अभियान के बावजूद ग्राम पंचायत मुख्यालय झूमकी में सफाई की उचित व्यवस्था नहीं होने से नालियां गंदगी से अटी हैं और सड़कों पर कचरा फैल रहा है।
इससे लोगों को निकलने में परेशानी हो रही है। सड़कों पर नियमित झाडू नहीं लगने से कचरा फैल रहा है। ग्रामीणों का कहना है कि पंचायत स्तर पर वार त्योहार पर ही सफाई कराई जाती है। नियमित रूप से सफाईकर्मी की व्यवस्था नहीं है। उन्होंने बताया कि जगह जगह गंदगी रहने से बदबू व मच्छरों की भरमार है। इससे कई लोग बीमार हैं। पंचायत को कई बार शिकायत करने के बावजूद ध्यान नहीं दिया जा रहा है।
-पंचायत में सफाई के लिए पर्याप्त बजट नहीं होने, नियमित सफाई कर्मियों की नियुक्ति नहीं होने से समय-समय पर अपने स्तर पर सफाई कराई जाती है। शीघ्र ही अभियान के रूप में फिर से सफाई करा देंगे।
संगीता शर्मा, ग्राम विकास अधिकारी, ग्राम पंचायत झूमकी

54 अपात्र पेंशनधारियों से होगी वसूली
-जांच में खुलासा
खानपुर. पंचायत समिति क्षेत्र के 54 अपात्र पेंशनधारियों की पेंशन निरस्त कर वसूली होगी। विकास अधिकारी सुधीर पाठक ने बताया कि पंचायत समिति क्षेत्र में सामाजिक सुरक्षा पेंशन अन्तर्गत जारी पेंशनों की जांच तहसीलदार खानपुर द्वारा की गई। जांच के दौरान 54 व्यक्ति पेंशन के लिए पात्र नहीं मिले। इनके परिवार के सदस्य राजकीय सेवा में कार्यरत हैै। ऐसे में तुरंत प्रभाव से इनकी पेंशन स्वीकृति निरस्त कर पूर्व में दी पेंशन की वसूली के लिए नोटिस जारी किए हैं। यहां उपकोष कार्यालय द्वारा भी पूर्व में सैकड़ों अपात्र व्यक्तियों द्वारा ली पेंशन की वसूली की कार्रवाई की जा रही है।

[MORE_ADVERTISE1]