स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

उंडल को गोद लेकर भूल गया थर्मल प्रशासन

Arun Tripathi

Publish: Apr 27, 2019 16:05 PM | Updated: Apr 27, 2019 16:05 PM

Jhalawar

मूलभूत सुविधाएं भी नहींं: पीने के पानी के लिए भी दौड़ भाग

झालरापाटन. कालीसिंध सुपर थर्मल पावर परियोजना की स्थापना के एक दशक बाद अभी भी गोद लिए उंडल गंाव में थर्मल के मूलभूत सुविधाएं उपलब्ध नहीं कराने से ग्रामीणों को परेशानी का सामना करना पड़ रहा है।
जानकारी के अनुसार कालीसिंध सुपर थर्मल पावर परियोजना की स्थापना के लिए सरकार ने इसके आसपास स्थित गंाव के किसानों की जमीन रियायती दर पर अधिग्रहित कर इन गंावों के लोगों को उनके गंाव का विकास कराने व यहां के लोगों को इसमें रोजगार दिलाने का वायदा किया था, लेकिन स्थापना के बाद से इनकी सुध लेने वाला कोई नहीं है।
कोरे आश्वासन
उंडलवासियों ने बताया कि गंाव के विकास व मूलभूत सुविधाओं के लिए वे जनप्रतिनिधियों व जिला प्रशासन के अधिकारियों से गुहार कर चुके हैं, लेकिन उन्हें आजतक आश्वासन के अलावा कुछ भी हासिल नही हुआ है। ग्रामीणों ने बताया कि गर्मी में यहां पेयजल की विकट समस्या आ रही है। गांव में स्थित टंकी को रलायता से जोड़ी पाइप लाइन से भरा जाता है और इस टंकी में लगे नल से पूरा गंाव पानी भरता है। कई बार टंकी में कम समय तक पानी आने पर कुछ ही देर बाद नल जवाब दे जाते हंै। गर्मी में आवश्यकता के अनुरूप पानी उपलब्ध नहीं होने से महिलाओं को दूर-दराज जंगल व खेत के कुओं से पानी लाकर काम चलाना पड़ रहा है। नालियों का निर्माण नहीं कराने से घरों का पानी रास्ते में फैलाता है, इससे हमेशा कीचड़ रहता है। इसके कारण बदबू व मच्छरों की भरमार रहने से आए दिन लोग बीमार रहते हैं। झालरापाटन मार्ग पर भैरव बस्ती में रास्ते के नजदीक ही ट्रंासफार्मर लगा है, वाहनों की रेलम पेल रहने से कई बार यह वाहन इससे टकराते हुए निकलते हैं, इससे कभी भी बड़ा हादसा हो सकता है। ग्रामीणों ने कहा कि चुनाव आते ही नेता विकास कराने की लंबी चौड़ी बातें कर जाते हंै, लेकिन काम के नाम पर कुछ भी नहीं होता है।
--अवैध बजरी से भरे वाहन निकल रहे
सीसी रोड नहीं होने से जगह-जगह गड्ढ़े हो रहे हैं। पिछले दिनों से थर्मल की राख व आहू नदी से चोरी छुपके बजरी भरकर लाने वाले वाहन भी गंाव के बीच होकर निकल रहे हैं, इससे कच्ची सड़क और खुद गई है और दिनरात इनके दौडऩे से दुर्घटना का अंदेशा रहता है।
---मैने 7-8 माह पहले ही कार्यभार संभाला है, इसके बारे में जानकारी करूंगा।
एमएल शर्मा, मुख्य अभियंता कालीसिंध थर्मल परियोजना

नहीं तो सड़कों पर ठोकरें ही लगेंगी
रायपुर. कस्बे में जलदाय विभाग द्वारा पाइप लाइन के लिए सड़क खोदने के बाद सही नहीं करने से लोग परेशान हैं। यहां धीमी गति से पाइप लाइन डालने का कार्य चल रहा है। फरवरी के बाद गत दिनों सिविल लाइन में पाइप लाइन के लिए सीसी सड़क खोदी, इससे लोहे के तार निकल गए, जिन्हें भी सही नहीं किया। बरड़ी के बालाजी के रास्ते सहित अन्य स्थानों पर सड़क को खोदा, लेकिन वहां भी सड़क को सही नहीं किया। दूसरी ओर कस्बे के तेजाजी मोहल्ला, माताजी मोहल्ला, सुभाष कॉलोनी, गौड़ गली, टंकी मोहल्ला, पालीवाल मोहल्ला, नायक मोहल्ला, माली मोहल्ला, कुम्हार मोहल्ला, रावला आदि स्थानों पर पाइप लाइन नहीं डाली है। सरपंच हेमकंवर ने कलक्टर को पत्र भेजकर हालात से अवगत कराया। वहीं माथनिया में गागरिन पेयजल परियोजना द्वारा आपूर्ति में गंदा पानी आ रहा है। राजेन्द्र गुप्ता ने बताया कि अन्य जगहों से पानी लाए।

पोल लगाने के लिए गुरजेनी गांव में बिना स्वीकृति खोदी सड़क
खानपुर. गुरजेनी गांव में निजी कम्पनी के टावर के लिए पोल लगाने को लेकर गांव की सड़क बिना स्वीकृति के खोद दी, लेकिन ग्रामीणों की शिकायत पर उपखंड अधिकारी ने कार्रवाई करते हुए पुलिस भेजकर काम को बंद कराया। जिला परिषद सदस्य नवल नागर ने बताया कि शिवचरण नागर ने अपने खेत में निजी कम्पनी का टावर लगाया है। इसके लिए बिना ग्राम पंचायत व बिना विद्युत निगम की स्वीकृति के इन्टरलॉकिंग सड़क को पोल लगाने के लिए खोद दी। ग्रामीणों ने बताया कि सड़क पर दोनों और विद्युत पोल लगाने से सड़क संकरी होने के साथ ग्रामीणों को परेशानियों का सामना करना पड़ेगा। नियमानुसार निजी टावर के लिए विद्युत लाइन खेतों के पीछे होकर पहुंचनी है, लेकिन निजी कम्पनी को फायदा पहुंचाने के लिए गांव की सड़क पर दोनों और गड्ढे खोद दिए, जबकि सड़क पहले से ही संकड़ी है। उपखंड अधिकारी ने थानाधिकारी से परिवाद की जांच कर निरीक्षणात्मक रिपोर्ट प्रस्तुत करने के निर्देश पर पुलिस ने मौके पर जाकर काम बंद कराया।

मोर बचाने के प्रयास में बाइक फिसली, महिला घायल
सुनेल. सड़क पर घूम रहे मौत को बचाने के चक्कर में बाइक सवार गिर गए, इसमें महिला घायल हो
गई। बाइक सवार आजमपुर निवासी गिरिराज पाटीदार और पत्नी सनवती बाई (50) गंाव से हेमड़ा जा रहे थे, इसी दौरान उन्हैल में सड़क पर घूम रहे मोर को बचाने के चक्कर में बाइक फिसल गई। इससे महिला घायल हो गई, ग्रामीणों की मदद से उसे सीएससी में लाया गया, जहां प्राथमिक उपचार के बाद झालावाड़ रैफर किया।

120 में से 106 मजदूर नदारद मिले
पिड़ावा. ग्राम पंचायत ओसाव में पंचायत समिति तकनीकी सहायक रवि वैष्णव ने विकास अधिकारी देवेन्द्रसिंह के निर्देश पर मनरेगा के तहत चल रहे कार्यों का निरीक्षण किया। 120 में से 106 मजदूर नदारद मिले। इस पर अधिकारी ने मस्टरोल में मजदूरों की अनिपस्थिति दर्ज कर औजार लाने के निर्देश दिए। वहीं राजकार्य में लापरवाही बरतने पर मेट बालूसिंह को ब्लैक लिस्टेड किया। इसके बाद उन्होंने ग्राम खटकड़ में भी पुराना तालाब गहरीकरण कार्य का निरीक्षण किया। यहां भी मजदूर और मेट मिलने पर मस्टरोल जब्त कर पंचायत समिति में जमा कराई और मेट को ब्लैक लिस्टेड किया। ग्राम विकास अधिकारी घनश्याम सावन और कनिष्ठ लिपिक सोहन गांधी उपस्थित रहे।

फसल के अवशेष जलाने से लाभकारी जीवाणु होते नष्ट
खानपुर. कृषि विभाग के तत्वावधान में गेहूं कटाई उपरान्त फसल अवशेष प्रबंधन पर किसानों की गोष्ठी हुई। इसमें किसानों को हार्वेस्टर मशीन से प्रबंधन करने तथा अवशेष को नहीं जलाने की सलाह दी। सहायक कृषि अधिकारी सुनीता नागर ने किसानों को बताया कि गेहूं की फसल की हार्वेस्टर से कटाई के बाद उसका भूसा नहीं बनाने पर प्रति बीघा से 7 से 8 हजार का भूसा आग लगाने से नष्ट हो जाता है। साथ ही नौलाइयों को जलाने से भूमि के पोषक तत्व, मृदा उर्वरता कम होने से उत्पादन में कमी आती है। इसके अलावा भूमि के लाभदायक जीवाणु भी नष्ठ होने के साथ आगजनी से नुकसान की संभावना बनी रहती है। इसके अतिरिक्त किसानों को कम्पोस्ट व चारा बनाने, जैविक खाद व कार्बन की मात्रा बढ़ाने तथा गहरी जोत करने से होने वाले फायदों के बारे में बताया।

सुधर्म जैन स्थानक वासी महिला मंडल का गठन किया
झालरापाटन. सुधर्म जैन स्थानक वासी महिला मंडल का गठन किया। इसमें संरक्षक सुलेश भंडारी, निर्मला धूपिया, अंजना नाथावत, प्रतिभा मेहता, चंचल मेहता, अध्यक्ष अर्पिता डांगी, उपाध्यक्ष सुनीता भंडारी, अंजु मेहता, ईला तरवेचा, चंदनबाला मेहता, साधना सालेचा, सचिव दीपाली चौरडिय़ा, सह सचिव कुसुम चंद्र गोत्रीय, कोषाध्यक्ष संगीता पितलिया, सह कोषाध्यक्ष पिंकी मेहता, संगठन मंत्री प्रतिभा बोहरा, निकिता मेहता, प्रचार मंत्री मीना धूपिया, सोनम सुराणा, पाठशाला मंत्री काजू तरसिंग, प्रिती डड्डा, स्वाध्याय मंत्री रूचिका डांगी और सीमा सालेचा को मनोनीत किया।
काव्य गोष्ठी 30 को
झालावाड़. अखिल भारतीय साहित्य परिषद की ओर से 30 अप्रेल को सांय 5 बजे गढ़ पार्क में मासिक काव्य गोष्ठी एवं परिचर्चा होगी। परिषद के अध्यक्ष चैतन्य शर्मा ने यह जानकारी दी।

c