स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

मुंह से निवाला छीन रहे समाजकंटक, तालाब के नाले की दीवार तोड़ी, व्यर्थ बह रहा पानी

Arun Tripathi

Publish: Sep 07, 2019 15:34 PM | Updated: Sep 07, 2019 15:34 PM

Jhalawar

सिंघाड़े की खेती पर संकट

रीछवा. कस्बे में स्टेट हाइवे 89 कोटा-भोपाल मार्ग स्थित रियासतकालीन प्राचीन तालाब के नाले की दीवार समाजकंटकों द्वारा तोड़कर क्षतिग्रस्त करने की शिकायत कहार समाज के लोगों ने शुक्रवार को कलक्टर को ज्ञापन सौंपकर की।
इसमें बताया कि तालाब में सिंघाड़े की खेती करने के लिए ग्राम पंचायत से बोली लगाकर लेते हैं। सिंघाड़े की खेती से कहार समाज के कई परिवारों का पालन पौषण होता है। साथ ही तालाब के आसपास के काश्तकार रबी की फसलों में सिंचाई भी करते हंै। लेकिन कुछ लोगों ने तालाब के नाले की दीवार को तोड़कर क्षतिग्रस्त कर दिया है। इससे बारिश का पानी व्यर्थ बह रहा है। इसलिए क्षतिग्रस्त दीवार की फिर से मरम्मत की जाए। मांग पूरी नही होने पर आंदोलन की चेतावनी दी। कलक्टर को ज्ञापन देने झालावाड़ मिनी सचिवालय पहुंचने वालों में जोधराज कश्यप, राजकुमार, भैरूलाल, महावीर, धर्मराज, सागर कश्यप, सोनू कश्यप, राजेन्द्र सिंह, भगवान सिंह, अमरलाल, घनश्याम, दीपक कश्यप व कई अन्य ग्रामीण शामिल रहे। ग्राम विकास अधिकारी बाबूलाल मेहर, सरपंच रामनारायण गुर्जर, भू-अभिलेख निरीक्षक जयराज मंडौत ने बताया कि शुक्रवार को उन्होंने टीम के साथ तालाब के नाले का मौका-मुआयना किया। इसमें नाले की दीवार के पत्थर पहले से क्षतिग्रस्त मिले। ग्राम विकास अधिकारी बाबूलाल मेहर ने बताया कि तालाब की भराव क्षमता के अनुसार ही जलस्तर को रोका जा सकता है। अधिक जलस्तर होने पर दूसरे खातेदार काश्तकारों की खरीफ की फसलें जलमग्न हो जाती हैं।

571 वरिष्ठ जनों को मिलेगा तीर्थ यात्रा का लाभ
-चयन के मैसेज आना शुरू, जल्द होगी तारिख की घोषणा
भवानीमंडी. देवस्थान विभाग द्वारा राजस्थान के वरिष्ठ नागरिक तीर्थ यात्रा योजना के तहत जिले के 571 वरिष्ठ नागरिक टे्रन से देश व हवाई यात्रा से विदेश की तीर्थ यात्रा योजना का लाभ उठाएंगे। योजना के तहत इस बार जिले से 3 हजार 814 व्यक्तियों ने ऑनलाइन आवेदन किया था, जिनमें से निर्धारित हवाई जहाज से यात्रा के 282 और रेल से यात्रा के लिए 289 समेत कुल 571 यात्रियों का लॉटरी के माध्यम से चयन किया।
जिनके पास चयन होने पर बधाई के संदेश आने लगे हैं। अभी यात्रा पर जाने की तारीख नही बताई है।
-राज्य से बाहर की तीर्थ यात्रा
तीर्थ यात्रा का उद्देश्य प्रत्येक वरिष्ठ नागरिक को राज्य के बाहर के धार्मिक स्थानों की कम से कम एक यात्रा प्रदान कराना है। इस योजना में राज्य के कई धामिक स्थानों की यात्रा भी शामिल है। यह योजना राज्य सरकार के द्वारा 2013 में शुरू की थी और 2019 इस योजना में हवाई यात्रा को भी शामिल कर लिया है।
-इन धार्मिक स्थानों की यात्रा कराई जाएगी
वरिष्ठ नागरिक तीर्थ यात्रा योजना के तहत जिले के 571 वरिष्ठ नागरिकों को यात्रा के लिए अमृतसर-आन्नदपुर साहिब, श्रवणबेलगोला-बैगलोर, गोवा, शिरड़ी-शनि-शिंगणापुर- त्रयम्बकेश्वर (नासिक), मुंबई दर्शन, कामाख्या-गुवाहाटी (राज्य संग्रहालय, कला क्षेत्र), उज्जैन (महाकालेश्वर, काल भैरव मंदिर, हरसिद्धी, नवग्रह मंदिर)-ओंकारेश्वर, देहरादून-हरिद्वार-ऋषिकेश, गंगासागर-दक्षिणेश्वर काली-वैलूरमठ-कोलकाता, ख्वाजा गरीब नवाज (अजमेर) पशुपतिनाथ-काठमाण्डू (नेपाल) आदि तीर्थ चयनित किए हैं। रेल या हवाई यात्रा के लिए निर्धारित उक्त स्थानों में कुछ स्थानों को जोड़ा या घटाया जा सकता है।
-वरिष्ठजनों के पास तीर्थ यात्रा को लेकर मैसेज आना शुरू हो गए हैं। सितम्बर में तारीख की सम्भावना है।
सुरेश कुमार शर्मा, प्रबंधक देव स्थान विभाग, झालावाड़

यातायात सुधारने में नहीं मिल रहा दुकानदारों का सहयोग
झालरापाटन. कस्बे की यातायात व्यवस्था को सुधारने के प्रयासों के बावजूद दुकानदार सहयोग नहीं कर रहे हैं। शहर थाना प्रभारी जगदीश प्रसाद के पूर्व में जारी अभियान में थोड़ी ढील देने के बाद वापस हालात ज्यों के त्यों हो गए है। शहर थाना प्रभारी ने मुख्य बाजार में अव्यवस्थित यातायात को सुधारने के लिए सड़क पर खड़े होने वाले फल फ्रू ट व खाद्य सामग्री के ठेलों व सामान रखने वाले दुकानदारों को पाबंद किया। इसी दौरान एक ठेले वाला पुलिस को ही चेलेंज करने पर उतारू हो गया। जिसे पुलिस कर्मियों ने समझाते हुए भविष्य में ठेला निर्धारित स्थान पर ही लगाने की चेतावनी दी।

किसानों को पॉली हाऊस के फायदे बताए
झालावाड़. पॉली हाऊस किसानों और झालावाड़ फ्रेश की ओर से पहले सेमिनार का आयोजन गावड़ी तालाब किनारे हुआ।
इसके मुख्य अतिथि उद्यानिकी वानिकी महाविद्यालय के डॉ. आईबी. मौर्य, अध्यक्षता मुख्य संयोजक अतुलजीत सिंह झाला और विशिष्ठ अतिथि उद्यान विशेषज्ञ केवीके कोटा डॉ. राज मीणा, कैलाश शर्मा, डॉ. अर्जुन कुमार और रविन्द्र स्वामी थे। सेमीनार में झालावाड़ के पॉलीहाऊस के खीरा, शिमला मिर्च, चेरी, टोमेटो, स्ट्रॉबेरी आदि के उत्पादों ने भाग लिया। इस दौरान पॉली हाऊस में होने वाले फायदों से अवगत कराया। इस दौरान उद्यान विभाग, हॉर्टिकल्चर कॉलेज, कृषि विज्ञान केंद्र झालावाड़ से आए विशेषज्ञों ने मार्गदर्शन किया।