स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

धमकाकर पोषाहार में खिलाई सड़े आटे की रोटियां, एक दर्जन बच्चे बीमार

Jagdish Paraliya

Publish: Aug 14, 2019 11:10 AM | Updated: Aug 14, 2019 11:10 AM

Jhalawar

भवानीमंडी क्षेत्र के मेघवालों का खेड़ा स्थित राजकीय उच्च प्राथमिक संस्कृत विद्यालय का मामला

रोटी बनाई उसमें इतनी दुर्गंध आ रही थी
भवानीमंड़ी. नारायण खेड़ा पंचायत के मेघवालों का खेड़ा स्थित राउप्रा संस्कृत विद्यालय के बच्चे पोषाहार खाकर आए दिन बीमारी हो रहे हैं।
मंगलवार को ग्रामीणों ने विद्यालय में आकर नाराजी जताकर उपखण्ड अधिकारी राजेश डागा से शिकायत की। जिला परिषद सुदीप सालेचा ने बताया कि ग्रामीणों ने विद्यालय आकर पोषाहार चेक किया तो जिस आटे की रोटी बनाई उसमें इतनी दुर्गंध आ रही थी, उसकी रोटी तो खाना दूर कि बात है सूंघने में ही घबराहट हो गई।
हालात की ग्रामीणों ने उपखण्ड अधिकारी राजेश डागा को जानकारी दी। शिकायत पर मौके पर पहुंचे उपखण्ड अधिकारी को ग्रामीणों ने बताया कि प्रधानाचार्य रमेश चंद गुप्ता द्वारा बच्चों को जबरन धमकाकर पोषाहार खिलाया जा रहा है। इससे करीब एक दर्जन बच्चे पोषाहार खाकर बीमार हो गए।

जांच में मिली इल्लियां
जांच में पोषाहार में इल्लियां मिली। पोषाहार के स्टॉक रूम को चेक किया तो दुर्गंध के मारे खड़ा होना भी दुर्भर हो रहा था। इस पर अध्यापक राधेश्याम कुमार को फटकार लगाई। सीबीईओ उमेश कांता को मौके पर बुलाकर जांच के आदेश दिए। जांच में पोषाहार खाने लायक नहीं मिला। मौके पर प्रधानाचार्य रमेश गुप्ता भी मौजूद नहीं मिले। पूछने पर पता चला की वह बीना बताए गायब हैं। पोषाहार प्रभारी उर्मिला मीणा से जानकारी ली तो पोषाहार चेक किए १ माह से अधिक होने की बात सामने आई। इस पर सीबीओ ने नाराजगी जताते हुए मीणा को फटकार लगाई।

8वीं के बच्चों को सीएम का नाम नहीं मालूम
जब सीबीईओ ने पोषाहार जांच के दौरान बच्चों का पढ़ाई स्तर जांचा तो पाया कि कक्षा ८ वीं के बच्चों को मुख्यमंत्री का नाम तक पता नहीं है। साथ ही अन्य सवालों के जवाब भी बच्चे ठिक से नहीं दे सके।

नोटिस भेजकर एक दिन का वेतन काटा
सीबीईओ उमेश कांता ने पोषाहार मामले को गंभीरता से लेते हुए पीओ उर्मिला मीणा, डीडीओ संजय कुमार, प्रधानाचार्य रमेश चंद गुप्ता समेत अध्यापक राधेश्याम को नोटिस दिया। जवाब ३ दिन में नही देने पर १७ सीसी के नोटिस की कार्रवाई किए जाएगी। वहीं प्रधानाचार्य रमेश गुप्ता को बिन बताए जाने पर एक दिन का वेतन काटने के आदेश दिए।