स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

सकारात्मक पहल नहीं, आंदोलन फिर शुरू, ताला लगाया

Arun Tripathi

Publish: Sep 18, 2019 21:18 PM | Updated: Sep 18, 2019 21:18 PM

Jhalawar

इंजीनियरिंग कॉलेज से राजकीय का दर्जा हटाने का विरोध

झालरापाटन. राज्य सरकार के इंजीनियरिंग कॉलेज से राजकीय का दर्जा हटाने के विरोध में एक सप्ताह बाद विद्यार्थियों ने बुधवार को आंदोलन फिर से शुरू करते हुए गेट पर ताला लगाकर दिनभर नारेबाजी व प्रदर्शन करते हुए धरना दिया, उधर पूर्व मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे ने आंदोलनकारियों के साथ 24 सितंबर को चर्चा करने की जानकारी दी।
अभियांत्रिकी महाविद्यालय के विद्यार्थियों ने सुबह 9 बजे गेट पर एकत्र होकर मुख्य द्वार पर ताला लगाकर प्राचार्य सहित स्टाफ को अंदर जाने से रोक दिया और राज्य सरकार और जिला प्रशासन के विरोध में नारेबाजी कर प्रदर्शन किया। विद्यार्थी कड़ी धूप में 8 घंटे तक नारेबाजी करते हुए धरने पर बैठे रहे।
-मांग पूरी नहीं
प्रदर्शनकारियों ने बताया कि मांग को लेकर 11 सितंबर को हड़ताल शुरू की थी, जिस पर तहसीलदार व प्राचार्य की मध्यस्था में प्रतिनिधि मंडल ने कलक्टर के साथ वार्ता की थी। इस पर कलक्टर ने एक सप्ताह में मांगों के बारे में राज्य सरकार से वार्ता कर कोई हल निकालने का आश्वासन दिया था, लेकिन इसके बावजूद मंगलवार तक मामले में कोई सकारात्मक पहल नहीं होने से उन्होंने प्रशासन को पत्र भेजकर बुधवार से आंदोलन जारी किया है, जिसे मांग पूरी नहीं होने तक जारी रखा जाएगा। प्रदर्शनकारियों ने बताया कि तत्कालीन मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे ने वर्ष 2007 में राजकीय अभियांत्रिकी महाविद्यालय की बुनियाद रखी थी। इसे राजनैतिक द्वेवष्ता वश राजकीय से हटाने की सरकार चेष्ठा कर रही है, जो कि बदले की भावना की कार्रवाई है।
-समझाने का प्रयास
उपखण्ड अधिकारी, पुलिस उपअधीक्षक गोपाललाल व शहर थाना प्रभारी जगदीश प्रसाद ने भी प्रदर्शनकारियों को गेट खोलने के लिए समझाइश का प्रयास किया, लेकिन वह नहीं माने। हालात को देखते हुए गेट पर बड़ी संख्या में पुलिस बल तैनात किया। इसी बीच आंदोलनकारियों के प्रतिनिधि मंडल ने विधायक गोविंद रानीपुरिया के नेतृत्व में पूर्व मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे से सुनेल जाकर मुलाकात कर हालात से अवगत कराया। राजे ने प्रतिनिधि मंडल को 24 सितंबर को महाविद्यालय में आकर उनके साथ बातचीत करने का भरोसा दिलाया। प्रदर्शनकारियों ने बताया कि 24 सितंबर तक सभी विद्यार्थी कक्षाओं का बहिष्कार कर महाविद्यालय के गेट पर धरने पर बैठेंगे और प्रशासनिक भवन का कार्य बाधित नहीं किया जाएगा।
-विद्यार्थी प्रवेश निरस्त करने की मांग करने लगे
अभियांत्रिकी महाविद्यालय के एमबीए प्रथम वर्ष के छात्र अजय पाटीदार सहित अन्य छात्रों ने प्राचार्य को महाविद्यालय के नाम से राजकीय शब्द हटाने को लेकर उनके प्रवेश को निरस्त करने के लिए आवेदन किया है। वैसे ही महाविद्यालय में इस वर्ष बीटेक व एमबीए की कई सीटें खाली हंै।
-फैक्ट फाइल
3 फरवरी 2007 को तकनीकी शिक्षा विभाग के विशेषाधिकारी ने झालावाड़ में राजकीय अभियंात्रिकी महाविद्यालय के लिए राज्य सरकार की स्वीकृति का पत्र जारी किया था।
-राज्य सरकार की अनुशंसा पर कलक्टर के निर्देशानुसार उपखण्ड अधिकारी ने गंाव चंदलोई में खसरा नंबर 218, 443 की 107 बीघा 10 बिस्वा चरागाह में से 75 बीघा भूमि राजकीय अभियंात्रिकी महाविद्यालय के नाम पर 13 मार्च 2007 को आवंटित की थी।
-4 फरवरी 2010 को मंत्री मंडल की बैठक में तकनीकी शिक्षा विभाग द्वारा प्रस्तुत ज्ञापन पर विचार कर महाविद्यालय का पंजीकरण एवं नियम एवं उपनियम बनाए जाने संबधित प्रस्ताव को स्वीकृत कर प्रारूप का अनुमोदन किया था।
-19 फरवरी 2010 को तकनीकी शिक्षा विभाग के विशेषाधिकारी ने राजकीय अभियांत्रिकी महाविद्यालय झालावाड़ की अलग सोसायटी का गठन कर पंजीयन कराने के लिए प्राचार्य को पत्र भेजा था।
-30 जून 2010 को कार्यालय रजिस्ट्रार संस्थाए ने राजकीय अभियंात्रिकी महाविद्यालय सोसायटी का पंजीयन किया था।

गेहूंखेड़ी संस्कृत विद्यालय के खिलाडिय़ों ने बाजी मारी
-कोटा संभाग स्तरीय प्रतियोगिता
अकलेरा. संस्कृत शिक्षा विभाग की ओर से आयोजित कोटा संभाग स्तरीय खेलकूद प्रतियोगिता में गेहूंखेड़ी संस्कृत विद्यालय के खिलाडिय़ों ने बाजी मारी। प्रतियोगिता 13 से 17 सितंबर तक मोतीपुरा, रटलाई में सम्पन्न हुई। इसमें राउप्रा संस्कृत विद्यालय गेहूंखेड़ी के छात्रों ने कब्बड्डी में विजेता वॉलीबॉल में उपविजेता साहित्यिक गतिविधियों सहित 11 प्रतियोगिताओं में बाजी मारकर कोटा संभाग में लगातार छठवीं बार चैंपियनशिप जीतने का रिकॉर्ड बनाया। प्रधानाध्यापक राजेश कुमार मीना व विद्यालय स्टाफ हंसराज गुर्जर और पायलेट महावर ने बताया कि प्रतियोगिता में 19 खिलाडिय़ों ने भाग लिया। इसमें से 15 खिलाडिय़ों का राज्य स्तर पर चयन हुआ। चैम्पियनशिप जीतने पर प्रधानाध्यापक को संस्कृत संभागीय अधिकारीआभा तैलंग ने सम्मानित किया।
-रायपुर. राउमावि सुवास की छात्राओं के राज्य स्तरीय हैण्डबॉल प्रतियोगिता में हिस्सा लेकर आने पर विद्यालय व ग्रामीणों ने स्वागत किया। प्रधानाचार्य श्रीराम ने बताया कि हैण्डबॉल गल्र्स टीम के जिला झालावाड़ में फ स्र्ट आने और राज्य स्तर पर बेंगू में भाग लेने पर स्कूल स्टॉफ व ग्रामीणों ने स्वागत किया।