स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

एक दशक बाद भी नगर परिषद में शामिल नही हो सकी नई हाउसिंग बोर्ड कॉलोनी

Jitendra Jaikey

Publish: Nov 01, 2019 16:47 PM | Updated: Nov 01, 2019 16:47 PM

Jhalawar

-मूलभूत सुविधाओं को तरस रहे वाशिंदे
-मताधिकार भी नही मिल सका

एक दशक बाद भी नगर परिषद में शामिल नही हो सकी नई हाउसिंग बोर्ड कॉलोनी
-मूलभूत सुविधाओं को तरस रहे वाशिंदे
-मताधिकार भी नही मिल सका
-जितेंद्र जैकी-
झालावाड़. शहर में जिला कारागृह रोड़ स्थित आवासन मंडल की ओर से बनाई कॉलोनी को एक दशक बीत जाने के बाद भी अभी तक नगर परिषद को हेण्डओवर नही किया गया इससे कॉलोनी वासियों को मूलभूत सुविधाओं से महरूम होना पड़ रहा है। यहां रोड़ लाईट, पेयजल, सड़क, सीवरेज सिस्टम, फोगिंग, कचरा व गंदगी की समस्या से लोग परेशान है। कॉलोनीवासियों ने समिति गठित कर छोटे से लेकर उच्चाधिकारी तक गुहार लगाई लेकिन कोई हल नही निकला।
-यह है परेशानी
कॉलोनी में करीब 250 मकान स्थित है व करीब 60 परिवार निवास कर रहे है। कॉलोनी में पेयजल के लिए मात्र 4 इंच की लाईन डली है जिसे भी सही तरीके से नही बिछाया गया जिससे पेयजल नही आता है। जबकि नियमानुसार 6 इंज की लाइन होना चाहिए। जलदाय विभाग की ओर से बिल तो वसूल किए जाते है लेकिन सुविधा नही दी जाती। कॉलोनी वासी टेंकर के भरोसे काम चला रहे है। पूरे मार्ग में सड़क काफी क्षतिग्रस्त हो चुकी है। कॉलोनी की एक साईड नया तालाब के किनारे है यहां सुरक्षा दीवार बनाई गई लेकिन यह दीवार कई जगह से क्षतिग्रस्त हो गई व मिट्टी का कटाव तेजी से बढ़ रहा है। कॉलोनी में नालियां भी क्षतिग्रस्त हो चुकी है। उनमें मलवा भरा है। कटिली झांडिय़ां चारो ओर फैली हुई है। इन झांडिय़ों में जहरीले जीव जंतु रहते है जिससे हमेशा खतरा बना रहता है। कॉलोनी के पार्क के नाम पर पड़ी जमीन पर तालाब का गंदा पानी व कीचड़ भरा है।
-कॉलोनीवासियों की पीड़ा
कॉलोनीवासी शंकर लाल रायका, नीरज तिवारी, श्रीनाथ नागर, मिलन शर्मा, भगवान सिंह, शमशाद भाई, शिवराज, शांतिबाई व पूनम शर्मा ने बताया कि जब से हम यहां आए है परेशानी का सामना करना पड़ रहा है। हमारी समस्या सुनने वाला कोई नही है। नगर परिषद के वार्ड में नाम नही होने से मतदाता पहचान पत्र व मतदाता सूची में भी नाम नही चढ़ पाए है इसलिए वोट भी नही दे सकते है। कॉलोनी वासियों ने समस्याओं को दूर करने लिए न्यू हाउसङ्क्षग बोर्ड विकास समिति का भी गठन किया इसके माध्यम से यह लोग अक्सर अधिकारियों से गुहार लगाते रहते है लेकिन कोई हन नही निकलने से दुखी है।
-हेण्डओवर के लिए मुख्यालय को सूचना भेज दी जाएगी
इस सम्बंध में आवासन मंडल के अधीक्षक अभियंता रियाज कुरैशी का कहना है कि नई हाउसिंग बोर्ड कॉलोनी को नगर परिषद को हेण्डओवर के लिए प्रक्रिया जारी है। नियम के अनुसार कॉलोनी में करीब पचास प्रतिशत लोगों के आवास होने चाहिए। इस कॉलोनी में अब लोग परिवार सहित रहने लगे है। टेक ओवर के लिए मुख्यालय व स्वायत्त शासन के बीच एमओयू होता है। इसके बाद सारी मूलभूत सुविधा नगर परिषद की ओर से हो जाती है। इसकी सूचना फिर से मुख्यालय को भेज दी जाएगी।

[MORE_ADVERTISE1]