स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

बाढ़ को न्योता दे रही उफनती नदी को शांत करने का जतन, लोगों ने की विधि विधान से नदी की पूजा-अर्चना

abdul bari

Publish: Sep 15, 2019 19:40 PM | Updated: Sep 15, 2019 19:48 PM

Jhalawar

नदी का पानी उतारने के लिए ईश्वर की आराधना की व नदी की पूजा अर्चना की। शहर में कालीसिंध नदी ( kali sindh river ) के उफान से सबसे ज्यादा प्रभावित खंडिय़ा कॉलोनी भी हुई। शनिवार रात नदी का पानी कॉलोनी के कई घरों में व खेतों में घुस गया इससे जनजीवन बुरी तरह प्रभावित हो गया। लगातार जिले में रेस्क्यू ( heavy rain in jhalawar ) चल रहा है

झालावाड़.
शहर में कालीसिंध नदी के उफान से प्रभावित व अस्त व्यस्त हुए लोगों ने रविवार को नदी का पानी उतारने के लिए ईश्वर की आराधना की व नदी की पूजा अर्चना की। शहर में कालीसिंध नदी ( kali sindh river ) के उफान से सबसे ज्यादा प्रभावित खंडिय़ा कॉलोनी भी हुई। शनिवार रात नदी का पानी कॉलोनी के कई घरों में व खेतों में घुस गया इससे जनजीवन बुरी तरह प्रभावित हो गया।


चुनरी ओढाई व आरती कर प्रसाद बांटा ( jhalawar news )

रविवार सुबह कॉलोनी में रहने वाले भील समाज की ओर से पूजा अर्चना का कार्यक्रम रखा गया। इस दौरान ढोल की थाप पर विधि विधान से नदी की पूजा अर्चना, चुनरी ओढाई व आरती कर प्रसाद बांटा। कार्यक्रम में पूर्व पार्षद प्रभुलाल भील व उनकी पत्नी गुड्डी बाई मुख्य यजमान बने। इस दौरान पूर्व पार्षद नरेद्र भील, जानकीलाल, कमलेश, महेंद्र, रामनारायण, जतन बाई सहित भील समाज के व खंडिय़ा कॉलोनी के दर्जनों स्त्री पुरुषों ने पूजा अर्चना की

लगातार चल रहा है जिले में रेस्क्यू ( heavy rain in jhalawar )

गौरतलब है कि जिले में हो रही तेज बारिश से बाढ़ के हालात बने हुए है। हालांकि कई जगह नदियों व बांधों से पानी उतार पर है। जिले में दो दिन में 782 लोगों को रेस्क्यू किया गया है। शनिवार रात व रविवार को अलग-अलग स्थानों से करीब 237 लोगों को रेस्क्यू ( Kali Sindh River Rescue Team ) किया गया है।

बाढ़ के हालात को देखते हुए जिला कलक्टर सिद्धार्थ सिहाग ने जिले के सभी सरकारी व निजी स्कूलों में सोमवार को एक दिन का अवकाश घोषित किया। मुख्य जिला शिक्षा अधिकारी ओमप्रकाश शर्मा ने बताया कि विद्यार्थियों का ही अवकाश रहेगा, जबकि स्कूल का स्टाफ स्कूल में मौजूद रहेगा।