स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

राजस्थान में यहां भारी बारिश, कई गांवों-कस्बों का संपर्क टूटा, ये गांव बना टापू, खेत हुए जलमग्न

Dinesh Saini

Publish: Sep 10, 2019 12:18 PM | Updated: Sep 10, 2019 13:03 PM

Jhalawar

Heavy Rain in Jhalawar: झालावाड़ जिले के बकानी क्षेत्र में आज सुबह से लगातार बारिश का दौर जारी है। सुबह आसमान में काली घटा छा गई और 1 घंटे तक मूसलाधार बारिश ( Heavy Rain in Jhalawar ) हुई...

झालावाड़। प्रदेश से विदाई ले रहा मानसून ( Monsoon ) अभी भी कई जिलों में सक्रिय है। राजस्थान के कई हिस्सों में भारी बारिश ( Heavy Rain in Rajasthan ) लगातार जारी है। सोमवार को जारी रहा बारिश का दौर मंगलवार को भी चल रहा है। झालावाड़ जिले के बकानी क्षेत्र में आज सुबह से लगातार बारिश का दौर जारी है। सुबह आसमान में काली घटा छा गई और 1 घंटे तक मूसलाधार बारिश ( Heavy Rain in Jhalawar ) हुई। जिसके बाद लगातार रिमझिम बारिश का दौर जारी है। क्षेत्र में लगातार हो रही बारिश से नदी नालों में उफान आ गया आ रहा है। कई गांव का बकानी कस्बे से पूरी पूर्ण रूप से संपर्क टूट गया है। खास करके खेड़ा गांव टापू में तब्दील हो चुका है। पुलिया पर 4 फीट पानी होने के कारण पिछले 4 घंटों से खेड़ा गांव का बकानी कस्बे से पूर्ण रुप से संपर्क टूट चुका है। वहीं बढ़ाई सहित अन्य कई गांवों का संपर्क टूट गया है। क्षेत्र में लगातार हो रही बारिश से खेत पूरी तरह से जलमग्न हो गए हैं। जिसके चलते फसलों को भारी नुकसान हो रहा है।

मौसम विभाग ( Rajasthan Weather Update ) ने फिर से पूर्वी राजस्थान में भारी बारिश की संभावना जताई है। वहीं प्रदेश के बूंदी जिले में आज मंगलवार को जोरदार बारिश का दौर चला। हाड़ौती में एक बार फिर से झमाझम बारिश हुई जिससे नदियां उफन पड़ी और कई मार्ग बंद हो गए।

वहीं बांसवाड़ा जिले में भी बारिश का दौर जारी है। रात से हल्की मध्यम बारिश का दौर बना हुआ है। माही बांध में पानी की आवक एक बार फिर बढऩे से बांध के सभी 16 गेट रात 3 बजे फिर से खोले गए हैं। माही परियोजना के एसई निरंजन मीना ने बताया कि बांध में पानी की अच्छी आवक के कारण गेट खोले गए हैं।


दूसरी ओर बीसलपुर बांध में पानी की आवक लगातार जारी है। ऐसे में बांध के गेट नम्बर 9 व 10 से पानी की निकासी की जा रही है। दोनों गेट 2-2 मीटर खोल कर प्रति सेकण्ड 24 हजार 40 क्यूसेक पानी छोड़ा जा रहा है।