स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

झालावाड़ में मूसलाधार बारिश से नदी नाले उफान पर, कालीसिंध बांध के 8 गेट खोले

kamlesh sharma

Publish: Sep 09, 2019 17:19 PM | Updated: Sep 09, 2019 17:19 PM

Jhalawar

Heavy Rain In Jhalawar: झालावाड़ जिले के गंगधार उपखण्ड में गत रात्रि से तेज बारिश से क्षेत्र के नदी नाले खाल उफान पर आ गए। साथ ही चौमहला कस्बा जलमग्न हो गया।

झालावाड़। झालावाड़ जिले के गंगधार उपखण्ड में गत रात्रि से तेज बारिश से क्षेत्र के नदी नाले खाल उफान पर आ गए। साथ ही चौमहला कस्बा जलमग्न हो गया।

चौमहला कस्बे के मध्य से गुजर रही मुख्य दिल्ली-मुम्बई रेलवे मार्ग पर पानी आ गया। जिसके कारण मार्ग प्रभावित हो गया। रेलवे प्रशासन ने मुस्तेदी दिखते हुए फिलहाल रेलवे ट्रेक को रोक दिया है और ट्रेनों को भी रोक लिया गया है। ट्रेक को देखने लोगो की भीड़ जमा हो गई है। ट्रेक पर पानी आने के कारण रेलवे फाटक बाहर भी बाढ़ जैसे हालात हो गए है।

फाटक बाहर घरो के बाहर पानी बह रहा है। कही कही घरों में घुस गया। रहवासियों का जनजीवन अस्त व्यस्त हो गया है। फाटक बाहर ज्यादा पानी का जमा होना लोगों ने प्रशासन की अनदेखी भी बताया है।

चौमहला कस्बे के कोल्वी रोड, रेलवे फाटक बाहर पर सड़क पर 3 फ़ीट पानी व कस्बे के मां दुर्गा व शिव मंदिर जलमग्न हो गया। लगातार बारिश से अधिकांश फसले भी नष्ट होने के कगार पर है। तहसील सूत्रों के अनुसार सुबह 8 बजे समाप्त हुए पिछले 24 घण्टे में 62 मिलीमीटर बरसात रिकार्ड की गई। इस वर्ष अभी तक 1281 मिलीमीटर बरसात रिकार्ड की गई।


कालीसिंध बांध के 8 गेट खोले
कस्बे समेत क्षेत्र में रविवार रात व सोमवार तड़के से झमाझम मूसलाधार बारिश हुई। मध्य प्रदेश में भी बारिश होने से सोमवार तड़के कालीसिंध बांध के 8 गेट 26 मीटर तक खोलकर पानी की निकासी की जा रही है।

जलसंसाधन विभाग के अधिशाषी अभियंता महेंद्र कुमार जैन ने बताया कि मध्यप्रदेश में भी बारिश हो रही है। जिससे बांध में पानी की आवक बढ़ गई है। सोमवार को बांध से 1 लाख 2 हजार 88 क्यूसेक पानी की निकासी की जा रही है।