स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

कलक्टर के आदेश भी अतिक्रमियों के आगे बेअसर, नगर परिषद नही कर पाई सख्त कार्रवाई

Jitendra Jaikey

Publish: Oct 18, 2019 16:34 PM | Updated: Oct 18, 2019 16:34 PM

Jhalawar

-गढ़ भवन परिसर में जमे दुकानदार, संग्रहालय विभाग ने फिर लिखा पत्र

कलक्टर के आदेश भी अतिक्रमियों के आगे बेअसर, नगर परिषद नही कर पाई सख्त कार्रवाई
-गढ़ भवन परिसर में जमे दुकानदार, संग्रहालय विभाग ने फिर लिखा पत्र
-जितेंद्र जैकी-
झालावाड़. राजकीय संग्रहालय गढ़ भवन परिसर में नियम के अनुसार परिसर व्यवसायिक गतिविधियों पर रोक के तहत विभाग की ओर से कई बार कार्रवाई के लिए नगर परिषद को लिखा गया। गत 28 अगस्त को जिला कलक्टर की अध्यक्षता में आयोजित जिला पर्यटन विकास समिति की बैठक में भी इस विषय पर ठोस निर्णय लिए गए। जिला कलक्टर ने स्पष्ठ आदेश जारी किए। इस पर संग्रहालय ने नगर परिषद को अतिक्रमण हटाने के लिए 11 नवम्बर को पत्र लिखा। इस पर नगर परिषद की ओर से अतिक्रमण हटाने में मात्र औपचारिता पूरी की गई इससे लोगों ने परिसर में स्थाई कपड़ा बाजार लगा दिया। संग्रहालय विभाग ने मजबूर होकर फिर बुधवार को नगर परिषद को गढ़ भवन परिसर की वास्तविक स्थिति से अवगत कराया व अतिक्रमण हटाने की मांग की।
-यह लिखा संग्रहालय विभाग ने
राजकीय संग्रहालय गढ़ भवन की ओर से नगर परिषद के आयुक्त को बुधवार को जारी किए पत्र में बताया कि गढ़ पेलेस पुरातत्व विभाग राज्य सरकार के संरक्षित स्मारकों की सूची में दर्ज है। सुलिस चौकी सर्राफा बाजार, गढ़ पेलेस के आसपास व्यापारियों द्वारा स्थाई कपड़ों की दुकानें ठेलो पर लगाकर उनपर तिरपाल लगा कर अतिक्रमण किया जा रहा है। जो पुरातत्व विभाग के राजस्थान स्मारक पुरावशेष स्थान तथा प्राचीन वस्तु अधिनियम 1961 की धरा 17 की उपधारा 1 के प्रतिकूल है। उक्त अतिक्रमणों को जिला कलक्टर के आदेश पर हटाने का प्रयास किया गया था लेकिन बुधवार को पुन व्यापारियों द्वारा ठेले पर अतिक्रमण किया जाना प्रारम्भ कर दिया गया है। इसलिए दस्ते को भेज कर अतिक्रमण हटाया जाए।
-अतिक्रमण हटाने के लिए पुन पत्र लिखा है
इस सम्बंध में राजकीय संग्रहालय के प्रभारी संदीप सिंह जादौन ने बताया कि गढ़ भवन परिसर में लोगों ने स्थाई अतिक्रमण कर लिए है, जिला कलक्टर ने भी इसे हटाने के स्पष्ट आदेश दे रखे है। हमने कल ही नगर परिषद आयुक्त को पुन पत्र लिखकर अतिक्रमण हटाने की मंाग की है।
-अतिक्रमण हटाया जाएगा
इस सम्बंध में नगर परिषद आयुक्त दयावंती सैनी ने बताया कि जिला कलक्टर के आदेश पर पहले भी गढ़ भवन परिसर से अतिक्रमण हटाए गए थे। संग्रहालय की ओर से भेजी गई सूचना में अगर फिर से अतिक्रमण हो रहा है तो उसे भी शीघ्र ही हटा दिया जाएगा।
-वर्तमान स्थिति
गढ़ भवन परिसर में वर्तमान में फल, सजावटी सामान, सब्जी, रेडिमेड कपड़े, जूते चप्पल, फूल माला, पानी पताशे, शीतल पेय आदि की सैकड़ों छोटी बड़ी दुकानें लगती है। गढ़ भवन परिसर में शहर का मुख्य मार्ग होने से आवागमन निकलता है लेकिन इन दुकानो की वजह से अक्सर यहां ट्रेफिक की समस्या से शहरवासियों को परेशानी का सामना करना पड़ता है। यहां किसी यातायात पुलिसकर्मी की भी ड्यूटी नही होती इससे वाहन चालकों व राहगीरों को भारी परेशानी का सामना करना पड़ रहा है। कई बार ट्रेफिक जाम के दौरान लड़ाई झगड़े देखने को मिलते है।