स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

10 हजार हैक्टयर भूमि होगी सिंचित, नहरों के जीर्णोंद्धार ने पकड़ी रफ्तार

Arun Tripathi

Publish: Oct 20, 2019 15:42 PM | Updated: Oct 20, 2019 15:42 PM

Jhalawar

भीमसागर बांध लबालब भरा

भीमसागर. बांध की दोनों कैनालों का राज्य सरकार एवं जल संसाधन विभाग जापान के सहयोग से करीब 45 करोड़ की लागत से नहरों के जीर्णोद्धार तेजी के साथ चल रहा है।
बांध की दोनों कैनालों से खानपुर क्षेत्र के 10 हजार हैक्टयर भूमि बांध के पानी से सिंचित होगी। नहरों में जलप्रवाह शुरू होते ही किसान रिलाई के बाद बुवाई शुरू करने की तैयारी में जुट जाएंगे। इस वक्त बाईं नहर चेन 192 से 325 तक एवं दाईं केनाल 150 चेन से 220 चेन मरायता तक नहरों की सफाई का कार्य कराया जा रहा है।
-25 को होगा फैसला
नहरों में जल प्रवाह शुरू करने के लिए नहरी संगम समिति के सदस्यों की बैठक 25 अक्टूबर को खानपुर मिनी सचिवालय में होगी। 5 नवम्बर तक नहरों में जलप्रवाह शुरू करने के आसार नजर आ रहे हैं। बांध भराव क्षमता से पूर्ण भरा है। दोनों नहरों
-ध्यान नहीं दे रहे
नहरी संगम समिति प्रोजेक्ट अध्यक्ष गोवर्धन लाल नागर ने बताया कि किसानों के उम्मीदों के अनुसार विभाग ध्यान नहीं दे रहा है । नहरों के माइनरों में अभी तक घास उग रही है । हर बार बैठकों में मुद्दा उठाते हैं परन्तु विभाग ध्यान कम देता है।
वहीं भीमसागर बांध कनिष्ट अभियंता जितेन्द्र नागर ने बताया कि नहरों में जल प्रवाह को लेकर 25 अक्टूबर को खानपुर मिनी सचिवालय में किसानों की बैठक होगी। इस वक्त सफाई कार्य तेजी से चल रहा है।
-नहरों में जायका के सहयोग से निर्माण कार्य तेजी से चल रहा है। इस वक्त 50 प्रतिशत ज्यादा कार्य हो चुका है।
संजय कुमार सिंह, प्रोजेक्ट नहर एक्सईन भीमसागर बांध

ठेकेदारों के डर से कर्मचारी काम छोड़कर भागे
-गागरिन सिंचाई पेयजल योजना का मामला
आवर. कस्बे के निकट गागरिन सिंचाई पेयजल परियोजना के पंप पर काम करने वाले कर्मचारी ठेकेदारों का भुगतान नहीं होने और अपने साथ अनहोनी के डर से दोपहर 2 बजे कार्य छोड़ कर चले गए। पेयजल योजना का कार्य एसपीएमएल कंपनी के पास है। एक दर्जन ठेकेदारों के लगभग 84 लाख रुपए 2 वर्ष से बाकी चल रहे हैं। ठेकेदारों ने 5 अक्टूबर को भी अधिशासी अभियंता रवी मोहन झालावाड़ को ज्ञापन दिया था। इसके बाद 16 अक्टूबर को भुगतान दिलाने का आश्वासन ठेकेदारों को दिया, लेकिन अभी तक भुगतान नहीं हुआ। ठेकेदार दो बार कलक्टर को भी ज्ञापन दे चुके हैं। वहीं ठेकेदार शाम 6 बजे तक पेयजल योजना पर रहे, लेकिन कोई भी कर्मचारी और अधिकारी वहां नहीं पहुंचा। इससे रविवार को 346 गांव के ग्रामीणों को पानी नहीं मिल पाएगा। पंप बंद पड़ा है। गागरिन सिंचाई परियोजना के इंचार्ज सुनील शर्मा ंने बताया की रविवार को सप्लाई चालू कर दी जाएगी।

नस्ल सुधार से दूध उत्पादन में होगी बढ़ोतरी
-पशुपालन प्रशिक्षण शिविर संपन्न
झालरापाटन. पंजाब नेशनल बैंक कृषक प्रशिक्षण संस्थान व कृषि विभाग आत्मा परियोजना के संयुक्त तत्वावधान में दो दिवसीय पशुपालक प्रशिक्षण शिविर का समापन हुआ। मुख्य अतिथि प्रथम श्रेणी पशु चिकित्सालय झालरापाटन के डॉ. सीपी सेठी ने पशुपालकों को बेकयार्ड फार्मिंग की जानकारी देते हुए बताया कि कृत्रिम गर्भाधान के माध्यम से देशी पशुओं में नस्ल सुधार कर दूध उत्पादन में बढ़ोतरी की जा सकती है। डॉ. अंकिता शर्मा ने पशुओं में होने वाली संक्रामक बीमारियों खुरपका, मुंहपका, गलघोंटू, थनेला के बारे में बताते हुए कृमि नाशक दवाओं का उपयोग करने की जानकारी दी। कृषि विज्ञान केन्द्र के डॉ. सेवाराम रूण्डला ने नवीनतम पशुआहार एजोला के कल्टीवेशन के बारे में बताया। केन्द्र निदेशक संजय शर्मा ने पशुपालकों को डेयरी परियोजना चलाने के लिए बैंक की डेयरी ऋण योजना व आय व्यय गणना की जानकारी दी। पशुपालकों को गंाव बगदर स्थित उन्नत डेयरी फार्म पर भ्रमण कराया, शादमा खान व बाबूलाल ने जानकारियां दी।

आय बढ़ाकर कर्मचारियों को दें वेतन
भवानीमंडी. कलक्टर सिद्धाथ सिहांग ने सभी नगर पालिकाओं व नगर परिषद को निजी आय में वृद्धि कर कार्मिकों को वेतन देने का आदेश दिया। कार्यवाहक ईओ देवमित्र कानूनगो ने बताया कि नगरपालिका द्वारा अब प्रत्येक घर-घर, व्यवसायिक मकान, प्रतिष्ठान, दुकान व खानपान के स्थान, व्यवासिक कार्यलय, बैक, सरकारी क्षैक्षिणिक संस्थान, सरकारी कार्यालय, गेस्ट हाउस, कुटिर उधोग, कोचिंग क्लासेस, क्लिनिक, निजी मैरिज गार्डन व मेला प्रर्दशनी आदि से यूजर चार्ज वसूला जाएगा।