स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

पहले पौधे लगाए, जब एक साल का हुआ तो केक काटकर मनाया बर्थ-डे, पूजा-पाठ कर बांटी गई मिठाइयां, ये भी रहा खास...

Vasudev Yadav

Publish: Jul 20, 2019 13:26 PM | Updated: Jul 20, 2019 13:26 PM

Janjgir Champa

Plant's Birthday : लोगों को अपना बर्थ-डे मनाते आपने जरूर सुना या देखा होगा। इतना ही नहीं आप भी इस कार्यक्रम में शामिल जरूर हुए होंगे। पर किसी पौधे के एक साल हो जाने पर खुशियों का इजहार बर्थ-डे (Plant's Birthday) मनाकर करना एक अनोखी परंपरा की शुरूआत है।

जांजगीर-चांपा. जिला अस्पताल के सामने अस्पताल के कर्मचारियों ने आज से ठीक साल भर पहले पौधरोपण (Plantation) किया था। पौधे जब बड़े होकर पांच से छह फिट के हुए तो कर्मचारियों ने केक काटकर बर्थडे पार्टी (Plant's Birthday) मनाया। पौधों की न केवल पूजा पाठ की गई बल्कि उसे केक व मिठाई भी खिलाया। कर्मचारी समाज में प्रेरणा स्त्रोत बने हुए हैं।

दरअसल, जिला अस्पताल के कर्मचारी कमल कुमार यादव सहित उनके मित्रों ने जिला अस्पताल में 18 जुलाई 2018 को वृहद पौधरोपण (Plantation) किया था। पर्यावरण को सुरक्षित करने के लिए आज उनकी पहल रंग लाई और आज इनके लगाए हुए पौधे पांच से छह फिट के हो गए हैं। कमल कुमार यादव ने साल भर तक पौधों को पानी सींचकर न केवल उसकी देखरेख किया, बल्कि उसमें ट्री गार्ड लगाकर बड़ा किया।

Read More : एनटीपीसी सीपत सहित अन्य उद्योगों को कोयला आपूर्ति में कमी, प्रबंधन की चिंता बढ़ी, ये है वजह...

आज उसके लगाए गए पौधे लहलहा रहे हैं। 18 जुलाई को पौधों को एक साल हुआ तब उसने अपने साथियों के साथ पौधों का बर्थडे (Plant's Birthday) मनाया। पौधे में गुब्बारे लगाए, उसकी पूजा पाठ किया और पौधों को भी केक खिलाया गया। इसके अलावा पूरा जिला अस्पताल के लोगों के बीच मिठाई बांटी गई। कमल यादव के साथ कमल तिवारी, संजय राठौर, नित्यानंद मिश्रा, भरत महंत, दीपक कुमार, मोली लाल के साथ उनके साथी मौजूद रहे।

Read More : ऊर्जा नगरी कहलाता है जिला, पर ये नजारा देखकर आप हो जाएंगे हैरान, इन बस्तियों में लोगों के घर ऐसे होते हैं रौशन...

समाज के लिए बने प्रेरणा श्रोत
पर्यावरण की सुरक्षा के लिए पौधे लगातार अमूमन सभी कोई भूल जाता है। बहुत कम लोग ही पौधों की देखरेख कर पाते हैं और बढ़ते तक पौधों की सुरक्षा कर पाते हैं, लेकिन कमल कुमार यादव ने दिज कर ली थी कि उसे पौधे लगाने के बाद उसे बड़ाकर पेड़ का रूप देना है। उसकी यही जिद काम आई और उसके लगाए गए पौधे आज बड़ा होकर न केवल छांव देने के काम आ रहा है बल्कि पर्यावरण सुरक्षा के लिए भी अच्छा संदेश दे रहा है।

Plantation से जुड़ी खबरें यहां पढि़ए ...

Chhattisgarh से जुड़ी Hindi News के अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें Facebook पर Like करें, Follow करें Twitter और Instagram पर या ताजातरीन खबरों, Live अपडेट के लिए Download करें Patrika Hindi News App.Patrika Hindi News App.