स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

पीएम ने डेमू पैसेंजर का किया उदघाटन,राज्यपाल ने की यात्रा

Prateek Saini

Publish: Jan 05, 2019 21:04 PM | Updated: Jan 05, 2019 21:04 PM

Jamshedpur

मुख्यमंत्री ने कहा कि रेल कनेक्टिविटी, उड़ान योजना सहित विकास की हर मांग को पूरा करने के लिए सरकार प्रतिबद्ध है...

(रांची,जमशेदपुर): ओडिशा के बारीपदा से प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने वीडियो लिंक के जरिए 78029/ 78030 टाटानगर बादामपहाड़ डेमू पैसेंजर का हरी झंडी दिखाकर शुभारंभ किया। जबकि झारखंड की राज्यपाल द्रौपदी मुर्मू ने टाटानगर रेलवे स्टेशन से हल्दीपोखर तक की यात्रा डेमू पैसेंजर ट्रेन से की।

 

 

राज्यपाल द्रौपदी मुर्मू ने कहा कि जमशेदपुर-बादाम पहाड़ डेमू ट्रेन 107 साल के बाद यह दूसरी ट्रेन है जिसका परिचालन शुरू किया जा रहा है। 107 साल के इंतजार के बाद और स्वाधीनता के 70 से अधिक वर्षों के बाद आज टाटा बादाम पहाड़ तक दूसरी रेलवे रेल का परिचालन शुरू हुआ है इसके लिए केंद्रीय रेलवे मंत्रालय के साथ ही यहां के अधिकारी भी बधाई के पात्र हैं।


राज्यपाल ने कहा कि टाटा बादाम पहाड़ जो सिंगल रेलवे लाइन है इसका इतिहास रहा है। जमशेदपुर में टाटा स्टील के कारखानों के लिए अयस्क बादाम पहाड़, गुरुमहिषानी और सुलईपत से आता है। वहां से लौह अयस्क लेकर यहां औद्योगिक क्षेत्र विकसित हुआ है और इसीलिए 1910 में यह रेलवे लाइन बनी था। जिससे लौह अयस्क यहां आ सके और उत्पादन हो सके।

 

 

द्रौपदी मुर्मू ने कहा कि बादाम पहाड़ से टाटानगर की दूरी 70-80 किलोमीटर है। वहां के लोगों की निर्भरता टाटानगर पर अधिक है। राज्य की राजधानी से बादाम पहाड़ की दूरी लगभग 400 किलोमीटर होने के कारण आर्थिक दृष्टिकोण से जमशेदपुर- टाटा नगर पर अधिक निर्भर करते हैं। उन्होंने कहा कि बादाम पहाड़ आदिवासी बहुल क्षेत्र है। रेलवे परिचालन होने से वहां के लोगों का सामाजिक आर्थिक विकास सुनिश्चित होगा। व्यापारी वर्ग भी जमशेदपुर के ऊपर निर्भर करते हैं। रोज सैकड़ों लोग यहां आना जाना करते हैं।


उन्होंने कहा कि यह ट्रेन चलने से लोगों का व्यवसाय और भी उन्नति करेगा। प्रत्यक्ष और अप्रत्यक्ष रूप से बहुत सारे लोग लाभान्वित होंगे। राज्यपाल ने कहा कि वहां के लोग एक और रेलवे परिचालन की खबर से काफी हर्षान्वित हैं। उन्होंने कहा कि गुरुमहिषानी आयरन ओर माइंस है। रेलखण्ड को क्योंझर के साथ जोड़ा जाए तो क्षेत्र के विकास को और गति मिलेगी। साथ ही आदिवासी बहुल क्षेत्र के विकास हेतु डबल लाइन के निर्माण की जरूरत राज्यपाल ने बताई।


इस मौके पर मुख्यमंत्री रघुवर दास ने कहा कि देश को एक श्रेष्ठ देश बनाने में प्रधानमंत्री लगे हुए हैं। रेल कनेक्टिविटी, उड़ान योजना सहित विकास की हर मांग को पूरा करने में देश के प्रधानमंत्री प्रतिबद्ध हैं। पलामू में अधूरे पड़े मंडल डैम सिंचाई योजना के शिलान्यास से अब गढ़वा पलामू को सिंचाई की पूरी व्यवस्था प्राप्त होगी। केंद्र की सरकार और राज्य सरकार साथ मिलकर राज्य के सर्वांगीण विकास के लिए काम कर रही है।


मुख्यमंत्री ने कहा कि झारखंड की जो जनता की मांग थी वह प्रधानमंत्री के हाथों राज्य की जनता को सौगात दी गई है। सरकार का उद्देश्य है लोगों की समस्याओं पर ध्यान देना। देश के प्रधानमंत्री को गरीबों, महिलाओं, नौजवानों की चिंता और क्षेत्र के विकास की चिंता है। प्रधानमंत्री प्रधान सेवक के रूप में पूरे देश की जनता की सेवा कर रहे हैं। मुख्यमंत्री ने कहा क्षेत्र के सांसद विद्युत वरण महतो चाहे वह माइन्स खुलवाने के संदर्भ में हो, विकास से संबंधित हो, रेलवे से संबंधित हो एक सजग सांसद की भूमिका में रहे हैं। बरसों से लंबित रेलवे फाटक की मांग पूरी हुई।मुख्यमंत्री ने क्योंझर तक डबल लाइन रेलवे ट्रैक के लिए प्रयास करने की बात कही।


टाटानगर रेलवे स्टेशन पर आयोजित कार्यक्रम में जमशेदपुर के सांसद विद्युत वरण महतो, पोटका की विधायिका मेनका सरदार, जिले के उपायुक्त अमित कुमार, वरीय आरक्षी अधीक्षक अनूप बिरथरे, उप विकास आयुक्त बी माहेश्वरी, रेलवे के वरीय पदाधिकारी गण तथा जिले के अन्य पदाधिकारीगण एवं हजारों की संख्या में आम लोग उपस्थित थे।