स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

पुलिस इंस्पेक्टर ने पत्नी समेत 3 को मारी गोली, स्कूल जाकर बेटे को भी मार दूंगा कहकर भागा और फिर...

Prateek Saini

Publish: Jul 26, 2019 16:26 PM | Updated: Jul 26, 2019 16:26 PM

Jamshedpur

Jamshedpur Murder Case: पत्नी और उसके तथाकथित प्रेमी और उसकी मां को गोली मारने के बाद आरोपी पुलिस इंस्पेक्टर ( Jharkhand Police ) घर से यह कहते हुए भाग निकला कि स्कूल जाकर बच्चे को भी मार दूंगा...

(जमशेदपुर,रवि सिन्हा): झारखंड के जमशेदपुर ( Jamshedpur ) शहर में सोनारी थाना अंतर्गत नौलखा अपार्टमेंट में रहने वाले एक ( jharkhand police ) पुलिस इंस्पेक्टर ने आज सुबह अपनी पत्नी, उसके तथाकथित प्रेमी चंदन कुमार और उसकी मां सीमा देवी को गोली मार दी। गोलीबारी में सीमा देवी की मौत हो गई, जबकि पत्नी पूनम देवी और चंदन कुमार को टाटा मेडिकल हाॅस्पिटल में भर्ती कराया गया हैं। पुलिस अब आरोपी इंस्पेक्टर को ढूंढने में जुटी है।


बेटे को भी मार दूंगा कहते हुए भागा आरोपी

बताया जाता है कि इंस्पेक्टर पहले से निलंबित चल रहा है। वह पहले पश्चिमी सिंहभूम जिले के गुदड़ी थाना में पदस्थापित था। सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार पुलिस इंस्पेक्टर मनोज गुप्ता की पत्नी पूनम गुप्ता बेटे संग आज सुबह ही पटना स्थित मायके से जमशेदपुर लौटी थी। उसके आने की जानकारी मिलने के बाद तथाकथित प्रेमी चंदन कुमार जो कि उसका दूर का रिश्तेदार है, अपनी मां के साथ मिलने पहुंच गया। यह देखकर इंस्पेक्टर आपा खो बैठा और तीनों को गोली मार दी। गोली मारने के बाद वह भाग निकला। बताया गया है कि इंस्पेक्टर घर से यह कहते हुए निकला थ, वह निजी स्कूल में जाकर अपने बेटे को भी मार देगा।

 

इंस्पेक्टर की पत्नी की हालत गंभीर

गोली चलने की आवाज सुनकर अपार्टमेंट और आसपास के इलाके में अफरा—तफरी मच गई। घटना स्थल पर पहुंचे लोगों ने तीन लोगों को लहूलुहान देखा तो सन्न रह गए। लोगों ने पुलिस को सूचना दी और तीनों को तत्काल टीएमएच पहुंचाया गया। इस दौरान सीमा देवी की मौत हो गई। इंस्पेक्टर की पत्नी को पेट में गोली लगी है और उसकी हालत गंभीर बताई गईहै। वहीं तथाकथित प्रेमी की हालत खतरे से बाहर है। चंदन कुमार भी पटना का ही रहने वाला है।


बच्चों को सुरक्षित थाने ले गई पुलिस

Jamshedpur Murder Case

आरोपी के अपने बेटे को मारने की धमकी पर पुलिस ने तुरंत एक्शन लिया और बच्चे को बचाने के लिए उसके स्कूल पहुंच गई। जमशेदपुर के सिटी एसपी खुद स्कूल पहुंचे और उसके बेटे को सुरक्षित अपने साथ थाने ले गए। वहीं आरोपी की एक बेटी को भी पुलिस ने अपनी सुरक्षा में ले लिया है।


इस वजह से निलंबित चल रहा था मनोज

जमशेदपुर के एसएसपी ने बताया कि पिछले दो सालों से पति और पत्नी के बीच विवाद चल रहा था, मारपीट भी होती थी,जिसे लेकर पत्नी ने उसके खिलाफ सोनारी थाना में मामला दर्ज कराया था। वहीं मामला दर्ज होने के बाद कोर्ट के आदेश से वारंट निकला,जिसके बाद पश्चिमी सिंहभूम के गुदड़ी थाना में पदस्थापित मनोज गुप्ता को निलंबित कर दिया गया। वहीं दो दिनों से वह अपने थाने से अचानक गायब हो गया और सरकारी पिस्तौल लेकर जमशेदपुर आ गया। बताया गया है कि चंदन और उसकी मां मनोज गुप्ता को समझाने के लिए उसके घर आई थी, तभी आवेश में आकर इंस्पेक्टर ने गोली चला दी। मनोज गुप्ता की बेटी दिल्ली में पढ़ती है और अभी जमशेदपुर आई थी।


झारखंड की ताजा ख़बरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें...

यह भी पढ़ें: चलते-चलते यूं नाले में जा गिरी 5 साल की बच्ची, 3 किमी दूर स्वर्णरेखा नदी से शव बरामद