स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

पाकिस्तान और आतंकी हैंडलर्स ने लोगों को भड़काया ...

Devkumar Singodiya

Publish: Nov 18, 2019 19:21 PM | Updated: Nov 18, 2019 19:21 PM

Jammu

पाकिस्तान और उसके हैंडलर हताश हैं। वे हिंसा फैलाने और लोगों को भड़काने के लिए पूरा प्रयास कर रहे हैं।आतंकियों और उनके समर्थकों की ओर से की जाने वाली हिंसा के मामलों की विस्तृत जांच की जरूरत है, ताकि इन्हें अंजाम तक पहुंचाया जा सके।

जम्मू. जम्मू-कश्मीर के पुलिस महानिदेशक (डीजीपी) दिलबाग सिंह ने कहा कि पाकिस्तान और उसके आतंकी हैंडलर्स हताश हो गए हैं, वे लोगों को भड़काने और डराने के लिए कई तरह के हथकंडे अपना रहे हैं। उन्होंने अधिकारियों से कश्मीर में शांति भंग करने की साजिश रचने वालों की पहचान करने को कहा। पुलिस महानिदेशक (डीजीपी) दिलबाग सिंह ने श्रीनगर का दौरा कर जिला पुलिस कार्यालय में जोनल साइबर पुलिस स्टेशन का उद्घाटन किया। इस दौरान उन्होंने पुलिस अधिकारियों के साथ बैठक कर कश्मीर में कानून व्यवस्था की समीक्षा की। डीजीपी ने कहा कि आतंक को जड़ से उखाड़ फेंकने के लिए और प्रयास करने की जरूरत है।
डीजीपी ने वरिष्ठ अधिकारियों के साथ चर्चा करते हुए कानून व्यवस्था और संवेदनशील क्षेत्रों में सुरक्षा पर अधिकारियों की राय ली। इस दौरान एहतियात के तौर पर उठाए गए कदमों के बारे में डीजीपी को जानकारी दी गई।

जम्मू कश्मीर के पहाडों पर बर्फबारी, नेशनल हाइवे फिर एक बार बंद

साजिश रचने वालों की करें पहचान
संसद के शीतकालीन सत्र में नहीं जा सकेंगे फारूक अबदुल्ला

डीजीपी ने कश्मीर में शांति व्यवस्था कायम रखने के लिए अधिकारियों की हौसला अफजाई की। उन्होंने अधिकारियों को हर समय सतर्क रहने और किसी भी स्थिति से निपटने के लिए तैयार रहने को कहा। उन्होंने कहा कि पाकिस्तान और उसके हैंडलर हताश हैं। वे हिंसा फैलाने और लोगों को भड़काने के लिए पूरा प्रयास कर रहे हैं। उन्होंने अधिकारियों से कश्मीर में शांति भंग करने की साजिश रचने वालों की पहचान करने को कहा।

हॉर्स शो में नायाब करतब दिखाएंगे घोडे

नशे के सौदागरों पर भी कसे शिकंजा
20 दिनों से ठप है गुरुग्राम इंडस्ट्रियल एरिया, करोड़ों का हो चुका नुकसान

डीजीपी ने ट्रैफिक की समस्या से निपटने के लिए कदम उठाने के लिए कहा। उन्होंने कहा कि लोगों को एक जगह से दूसरी जगह जाने में कोई परेशानी नहीं होनी चाहिए। पूर्व में भी आतंकियों से मिलने वाली चुनौतियों से निपटा गया है, लेकिन अभी और प्रयास करने की जरूरत है। आतंकियों और उनके समर्थकों की ओर से की जाने वाली हिंसा के मामलों की विस्तृत जांच की जरूरत है, ताकि इन्हें अंजाम तक पहुंचाया जा सके। उन्होंने हिंसा फैलाने वालों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई करें। डीजीपी ने नशे के तस्करों और एनडीपीएस मामलों पर सख्ती बरतने के निर्देश दिए।

एक साथ तीन मर्डर करने वाली थी हरियाणा की यह खतरनाक टीम, जेल में प्लान बनाया और फिर
रात के अंधेरे में नाबालिग को देख झोलाछाप की बिगड़ी नियत

जम्मू कश्मीर की अधिक खबरों के लिए यहां क्लिक करें...
पंजाब की अधिक खबरों के लिए यहां क्लिक करें...
हरियाणा की अधिक खबरों के लिए यहां क्लिक करें...

[MORE_ADVERTISE1]