स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

जम्मू में आज से सजेगा ऐतिहासिक दरबार, पुनर्गठन के बाद पहली बार हो रहा ऐसा

Prateek Saini

Publish: Nov 04, 2019 08:00 AM | Updated: Nov 03, 2019 17:36 PM

Jammu

दरबार मूव की परंपरा के तहत श्रीनगर में 25 अक्टूबर को दरबार मूव से जुड़े कार्यालय बंद हो गए थे...

(जम्मू): जम्मू-कश्मीर के पुनर्गठन के बाद जम्मू-कश्मीर और लद्दाख दो अलग-अलग केंद्र शासित प्रदेश बन गए है। हाल फिलहाल दरबार मूव की प्रक्रिया को लेकर कोई फैसला नहीं लिया गया है। इसलिए सोमवार से जम्मू में दरबार सजेगा। पुनर्गठन के बाद ऐसा पहली बार होगा। अब अगले 6 महीने केंद्र शासित प्रदेश जम्मू-कश्मीर के सभी सरकारी काम जम्मू के नागरिक सचिवालय से होंगे।

 

यह भी पढ़ें: दिल्ली में हवा की गुणवत्ता खतरनाक, पंजाब में अभी भी किसान लगा रहे पराली में आग

 

दरबार मूव की परंपरा के तहत श्रीनगर में 25 अक्टूबर को दरबार मूव से जुड़े कार्यालय बंद हो गए थे। श्रीनगर से 3 हजार से अधिकर कर्मचारी शनिवार तक जम्मू पहुंच गए। कई कर्मचारियों का रविवार देर शाम तक जम्मू पहुंचने का सिलसिला जारी रहा। जम्मू के कर्मचारी पहले से ही यहां हैं।

 

यह भी पढ़ें: मिशन मून: क्या चांद पर बस्ती बनाकर रहता है यह अजीबोगरीब जीव? जानें सच

 

जम्मू में दरबार सजने से पहले जम्मू-कश्मीर के पहले उपराज्यपाल गिरीश चंद्र मुर्मू शनिवार को यहां पहुंच गए। मुर्मू को जम्मू स्थित नागरिक सचिवालय में सोमवार सुबह साढ़े नौ बजे गार्ड ऑफ ऑनर दिया जाएगा। दरबार शुरू होने से पहले सचिवालय तथा आसपास के इलाकों में सुरक्षा और भी कड़ी कर दी गई।


यह भी पढ़ें: कांग्रेस नेता पंकज शंकर बोले- पुत्र मोह में फंसी हैं सोनिया गांधी, प्रियंका को बनाएं पार्टी का अध्‍यक्ष

दरबार मूव को लेकर जम्मू में सुरक्षा बढ़ा दी गई है। पुलिस के एक वरिष्ठ अधिकारी ने बताया कि नागरिक सचिवालय, राजभवन और अन्य प्रतिष्ठानों की सुरक्षा बढ़ाई गई है। सरकारी कर्मचारी के निवास स्थान के आसपास भी सुरक्षा तगड़ी है। सीसीटीवी कैमरे भी चालू किए गए है। बॉर्डर तथा जम्मू-श्रीनगर हाईवे पर भी सुरक्षा बढ़ाई गई है। इसके साथ ही दरबार खुलने के पहले दिन होने वाले विरोध प्रदर्शनों से निपटने की भी व्यवस्था की गई है।

जम्मू-कश्मीर की ताजा ख़बरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें...

यह भी पढ़ें: जम्मू-कश्मीर के युवा देंगे आतंक को जवाब, सेना भर्ती में उमड़ी भारी भीड़

[MORE_ADVERTISE1]