स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

जम्मू बंद विफल, पैंथर्स कार्यकर्ता हिरासत में, हर्षदेव सिंह नजरबंद

Devkumar Singodiya

Publish: Dec 07, 2019 18:37 PM | Updated: Dec 07, 2019 18:37 PM

Jammu

पैंथर्स पार्टी समेत कुछ अन्य संगठनों के नेताओं और कार्यकर्ताओं को हिरासत में लेकर जम्मू बंद को विफल कर दिया है। जम्मू-कश्मीर में मोबाइल इंटरनेट सेवा बंद रहने, सरोर टोल प्लाजा खुलने, बढ़ती महंगाई के खिलाफ 7 दिसंबर को जम्मू बंद का आह्वान किया था।

जम्मू. (योगेश) जम्मू कश्मीर प्रशासन ने पैंथर्स पार्टी समेत कुछ अन्य संगठनों के नेताओं और कार्यकर्ताओं को हिरासत में लेकर जम्मू बंद को विफल कर दिया है। जम्मू-कश्मीर में मोबाइल इंटरनेट सेवा बंद रहने, सरोर टोल प्लाजा खुलने, बढ़ती महंगाई के खिलाफ 7 दिसंबर को जम्मू बंद का आह्वान किया था। इसी सिलसिले में पार्टी के नेता गत दिनों जम्मू शहर में इश्तहार बांटकर प्रदर्शन कर रहे थे, तभी पुलिस ने उन्हें हिरासत में ले लिया। पार्टी के चेयरमैन हर्षदेव सिंह को घर में नजरबंद किया गया है। घर के बाहर बड़ी संख्या में पुलिस कर्मियों को तैनात किया गया है। आंदोलनकारियों ने कहा कि जम्मू-कश्मीर में मोबाइल इंटरनेट सेवा तीन महीने से अधिक समय से बंद है। लोग परेशान हैं। विद्यार्थी फार्म नहीं भर पा रहे।

क्लब पहुंचते ही बलवंत सिंह हिरासत में

पार्टी के नेताओं और कार्यकर्ताओं को हिरासत में लेकर प्रशासन ने जम्मू बंद सफल नहीं होने दिया। शहर में कहीं भी बंद का असर दिखाई नहीं दे रहा है। इस बीच पार्टी के प्रदेश प्रधान बलवंत सिंह मनकोटिया जब कुछ कार्यकर्ताओं के साथ सुबह प्रेस क्लब के बाहर पहुंचे और प्रदर्शन की तैयारी शुरू की, तभी पुलिस ने उन्हें हिरासत में ले लिया। पुलिस कार्रवाई के कारण कार्यकर्ता प्रदर्शन नहीं कर पाए। पैंथर्स पार्टी के नेताओं की तरह जम्मू बंद का समर्थन करने वाले अन्य संगठनों के नेताओं को भी नजरबंद किया गया है। जम्मू में जनजीवन पूरी तरह से सामान्य है। गाडिय़ां चल रही हैं, स्कूल और कालेज भी खुले हैं। शहर के बाजारों में अच्छी-खासी भीड़ देखने को मिल रही है।

पुलिस कार्रवाई को गैर लोकतांत्रिक बताया

पार्टी के चेयरमैन हर्षदेव सिंह ने कहा कि वे शांतिपूर्ण ढंग से जम्मू बंद करना चाहते थे और इस सिलसिले में वह जनसमर्थन जुटा रहे थे। लेकिन उन्हें गिरफ्तार कर लिया गया। उन्होंने कहा कि लोकतंत्र में अपनी बात को कहने का हक सभी को है, लेकिन विपक्ष की आवाज को दबाया जा रहा है। उनके घर के बाहर पुलिस को तैनात किया गया है और बाहर नहीं निकलने दिया जा रहा। पुलिस कार्रवाई को गैर लोकतांत्रिक करार देते हुए उन्होंने कहा कि पार्टी जनहित के मुद्दे उठाने से पीछे नहीं हटेगी।


जम्मू कश्मीर की अधिक खबरों के लिए क्लिक करें...
पंजाब की अधिक खबरों के लिए क्लिक करें...
हरियाणा की अधिक खबरों के लिए क्लिक करें...

[MORE_ADVERTISE1]